Saturday, September 25, 2021
Homeराजनीति'अब्बाजान' कहने पर तमतमाए अखिलेश, CM योगी को दी धमकी: मुख्यमंत्री ने राम मंदिर...

‘अब्बाजान’ कहने पर तमतमाए अखिलेश, CM योगी को दी धमकी: मुख्यमंत्री ने राम मंदिर पर ली थी जबरदस्त चुटकी

"उनके अब्बाजान (मुलायम सिंह यादव) कहते थे कि वहाँ (अयोध्या में) परिंदे को भी पर नहीं मारने देंगे, लेकिन अब वहाँ राम मंदिर का निर्माण शुरू हो गया है। अगले तीन साल में वहाँ एक बड़ा भव्य मंदिर होगा।"

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हालिया बयान से तमतमाए सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने शनिवार को एक कार्यक्रम में पूर्व सांसद राजपाल सैनी, काजल निषाद, तूफानी निषाद, महामंडलेश्वर सत्या नंद गिरी को पार्टी में ज्वाइनिंग कराते ही सीएम योगी पर भी सीधा निशाना साधा। भड़के अखिलेश यादव ने कहा, “मुख्यमंत्री किसी और भाषा को जानते हैं, उनके कानों तक किसानों की भाषा नहीं पहुँचती। वो तो चुनावों को दूसरी ओर ले जाना चाहते हैं। मैं बस इतना कहना चाहता हूँ कि भाजपा के मुख्यमंत्री को अपनी भाषा पर संतुलन रखना चाहिए।”

अखिलेश यादव यहीं नहीं रुके बल्कि आरोप पर आरोप जड़ते रहे। उन्होंने कहा कि केंद्र व राज्य में भाजपा सरकार होने के बाद भी सबसे ज़्यादा परेशान किसान हैं। ऐसे कानून लाए हैं कि भविष्य में किसानों की ज़मीन पर सरकार कब्ज़ा कर लेगी।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने मूल मुद्दे पर वापस आते हुए कहा, “मैं बस इतना कहना चाहता हूँ कि भाजपा के मुख्यमंत्री को अपनी भाषा पर संतुलन रखना चाहिए। कल मैंने उनका एक इंटरव्यू सुना। हमारा आपका मुद्दों पर झगड़ा हो सकता है। लेकिन मुख्यमंत्री अपनी भाषा पर संयम रखें अगर वो मेरे पिता जी को कुछ कहेंगे तो मैं भी उनके बारे में कुछ कह सकता हूँ। मुख्यमंत्री मेरे पिता जी के बारे में ऐसी भाषा का इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं? मुख्यमंत्री को अपनी भाषा पर संतुलन रखना चाहिए। मेरे पिता जी के बारे में कहेंगे तो अपने पिता के बारे में भी सुनने के लिए तैयार रहें।”

अखिलेश ने आरोप लगाया कि दलित पिछड़े मुसलमान सबसे ज़्यादा जेल में हैं। सरकार अब सोशल मीडिया से डर रही है। 2014 व 2017 में सोशल मीडिया पर सबसे ज़्यादा अफवाह फैला के जनता को गुमराह कर के भाजपा ने चुनाव जीता। पंचायत चुनाव डीएम, एसपी ने जितवाया? सबने देखा। अब उनका सम्मान कर रहे हैं। भाजपा सरकार को अपने ठेकेदारों को एडजस्ट करना था इसलिए पूर्वांचल एक्सप्रेस का प्लान बदला था।

दरअसल, शुक्रवार को CM योगी आदित्यनाथ और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के बीच जमकर शब्दबाण चले थे। अखिलेश यादव ने खुद को बीजेपी के नेताओं से बड़ा हिंदू बताया तो सीएम योगी ने राममंदिर के बहाने उन पर निशाना साधा था।

सीएम योगी ने तंज कसते हुए कहा था, “उनके अब्बाजान (मुलायम सिंह यादव) कहते थे कि वहाँ (अयोध्या में) परिंदे को भी पर नहीं मारने देंगे, लेकिन अब वहाँ राम मंदिर का निर्माण शुरू हो गया है। अगले तीन साल में वहाँ एक बड़ा भव्य मंदिर होगा।”

CM योगी ने कहा, “हमने कहा था कि मंदिर वहीं बनाएँगे। हमने 1990 में भी कहा था कि जहाँ रामलला विराजमान हैं, वहीं मंदिर बनेगा। तब इन लोगों ने गोली चलवा दी थी, लेकिन अब आप देख लीजिए, मंदिर का काम शुरू हो चुका है और जल्द इसे पूरा किया जाएगा।”

अखिलेश के 400 सीटें जीतने के दावे पर योगी ने चुटकी लेते हए कहा, “मैं तो हैरान हूँ। उन्होंने 500 सीट क्यों नहीं बोला। अब जब बोलना ही है तो कुछ भी बोल दो। सपना देखने का हक सबको है।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कहीं स्तनपान करते शिशु को छीन कर 2 टुकड़े किए, कहीं बार-बार रेप के बाद मरी माँ की लाश पर खेल रहा था बच्चा’:...

एक शिशु अपनी माता का स्तनपान कर रहा था। मोपला मुस्लिमों ने उस बच्चे को उसकी माता की छाती से छीन कर उसके दो टुकड़े कर दिए।

‘तुम चोटी-तिलक-जनेऊ रखते हो, मंदिर जाते हो, शरीयत में ये नहीं चलेगा’: कुएँ में उतर मोपला ने किया अधमरे हिन्दुओं का नरसंहार

केरल में जिन हिन्दुओं का नरसंहार हुआ, उनमें अधिकतर पिछड़े वर्ग के लोग थे। ये जमींदारों के खिलाफ था, तो कितने मुस्लिम जमींदारों की हत्या हुई?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,198FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe