पुलिस को झॉंसा देने के लिए सपा नेता फिरोज खान ने सेहरे से छिपा रखा था चेहरा

आजम खान के समर्थन में रामपुर पहुॅंचे अखिलेश यादव ने पार्टी कार्यकर्ताओं को रामपुर पहुॅंचने का आदेश दिया था। बाहरी कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए पुलिस भी पूरी तरह मुस्तैद थी।

समाजवादी पार्टी के सांसद भू-माफिया आजम खान के समर्थन में सपा नेता पुलिस को चकमा देकर फिल्मी अंदाज में रामपुर पहुँच गए। बता दें कि, समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव के रामपुर दौरे को लेकर दिन भर प्रशासन अलर्ट रहा। जिले के साथ ही पड़ोसी जनपदों में पुलिस पूरी तरह अलर्ट मोड में नजर आई। बाहरी नेताओं को रामपुर जाने से रोकने की पूरी व्यवस्था की गई थी। इसके बावजूद सम्भल के जिलाध्यक्ष फिरोज खान तमाम कार्यकर्ताओं सहित पुलिस की आंखों में धूल झोंकने में कामयाब हो गए। वह दूल्हा बने और कार्यकर्ता बराती। उसके बाद आराम से उनकी गाड़ियां पुलिस के सामने से गुजरती हुई रामपुर पहुँच गई।

फिरोज खान ने शेरवानी पहनी, चेहरा फूलों के सेहरे से ढका और दूल्हे का रूप बनाकर गाड़ी में बैठ गए। उनके साथ गाड़ियों में बराती बन कर अन्य कार्यकर्ता भी बैठ गए और पुलिस को धोखा देकर रामपुर पहुँच गए। आजम खान के समर्थन में अखिलेश यादव शुक्रवार (सितंबर 13, 2019) को दो दिवसीय दौरे पर रामपुर पहुँचे थे। उन्होंने पार्टी  के नेताओं और कार्यकर्ताओं को रामपुर पहुँचने का निर्देश दिया था। जिसके बाद सपा अध्यक्ष के दो दिवसीय दौरे को सफल बनाने के लिए बड़ी संख्या में सपा कार्यकर्ता और नेता रामपुर पहुँचने लगे। इसके मद्देनज़र कानून-व्यवस्था की स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने सभी जिलों में पुलिस को नेताओं को रोकने के आदेश दिए, लेकिन संभल में सपा नेताओं को रोकने में पुलिस कामयाब नहीं हो सकी।

इससे पहले, पुलिस ने चंदौसी चौराहे पर सपा विधायक इकबाल महमूद और सांसद शफीकुर्रहमान बर्क को रोका था। लेकिन फिर बाद में दोनों को रामपुर जाने की अनुमति दी गई। हालाँकि, उनके समर्थकों को वापस भेज दिया गया। कोई भी सपा कार्यकर्ता रामपुर न जा सके, इसके लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आलोक जायसवाल और सर्कल ऑफिसर केके सरोज ने खुद चंदौसी चौराहे की कमान संभाली थी।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कमलेश तिवारी
कमलेश तिवारी की हत्या के बाद एक आम हिन्दू की तरह, आपकी तरह- मैं भी गुस्से में हूँ और व्यथित हूँ। समाधान तलाश रहा हूँ। मेरे 2 सुझाव हैं। अगर आप चाहते हैं कि इस गुस्से का हिन्दुओं के लिए कोई सकारात्मक नतीजा निकले, मेरे इन सुझावों को समझें।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

105,871फैंसलाइक करें
19,298फॉलोवर्सफॉलो करें
109,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: