Friday, June 21, 2024
Homeराजनीति23 दलों को बुलाया, पहुँचे सिर्फ 8: विपक्ष को एकजुट करने में नाकाम हुई...

23 दलों को बुलाया, पहुँचे सिर्फ 8: विपक्ष को एकजुट करने में नाकाम हुई राहुल गाँधी की ‘भारत जोड़ो यात्रा’, AAP को तो न्योता ही नहीं दिया

कुछ ऐसी पार्टियाँ भी हैं जिन्हें कॉन्ग्रेस ने आमंत्रित नहीं किया था। उनमें आम आदमी पार्टी (AAP), भारत राष्ट्र समिति (BRS), युवाजना श्रामिका रैतु (YSR) कॉन्ग्रेस, एआईयूडीएफ (AIUDF) और शिरोमणि अकाली दल (SAD) जैसी पार्टियाँ शामिल हैं।

कन्याकुमारी से शुरू हुई राहुल गाँधी की भारत जोड़ो यात्रा कश्मीर पहुँचकर समाप्त हो चुकी है। यात्रा का समापन समारोह 30 जनवरी, 2023 को श्रीनगर में आयोजित हुआ। इस समारोह में शामिल होने के लिए 23 सियासी पार्टियों को न्योता भेजा गया था लेकिन सिर्फ 8 दलों के नेता ही कार्यक्रम में शामिल हुए।

2024 के आम चुनाव से पहले भाजपा को घेरने के लिए विपक्षी दलों को एक करने की कोशिश में जुटी कॉन्ग्रेस को निराशा हाथ लगी है। रिपोर्टों के मुताबिक, श्रीनगर में आयोजित ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के समापन समारोह में शामिल होने के लिए कॉन्ग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने 23 राजनीतिक दलों के प्रमुखों को आमंत्रित किया था। समारोह में सिर्फ 8 दलों के प्रमुख ही हिस्सा लेने पहुँचे जबकि कॉन्ग्रेस को उम्मीद थी कि भारत जोड़ो यात्रा के समापन समारोह में आमंत्रित राजनीतिक दल कम से कम अपना प्रतिनिधि तो जरूर भेजेंगे।

कॉन्ग्रेस नेता जयराम रमेश ने यात्रा के जम्मू-कश्मीर में दाखिल होने से पहले आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के समापन समारोह के बाद विपक्षी पार्टियाँ 2024 के आम चुनावों को लेकर रणनीति पर चर्चा करेंगी। समापन समारोह के बाद श्रीनगर में ऐसा कुछ होता नजर नहीं आया क्योंकि उम्मीद के अनुसार विपक्ष की दूसरी पार्टियों ने इस समारोह से दूरी बना ली। इतना ही नहीं, बिहार की दो प्रमुख भाजपा विरोधी पार्टियाँ जनता दल यूनाइटेड (JDU) और राष्ट्रीय जनता दल (RJD) भी राहुल गाँधी की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ से दूर रहीं और समापन समारोह में भी शामिल होने नहीं पहुँची। जबकि कॉन्ग्रेस बिहार सरकार में JDU और RJD की सहयोगी है।

महाराष्ट्र में राष्ट्रवादी कॉन्ग्रेस पार्टी (NCP) की सुप्रिया सुले, शिवसेना (उद्धव ठाकरे) आदित्य ठाकरे और संजय राउत जैसे नेता जो राहुल गाँधी के साथ यात्रा में चले थे वो भी भारत जोड़ो यात्रा के समापन समारोह में श्रीनगर नहीं पहुँचे थे।

कुछ ऐसी पार्टियाँ भी हैं जिन्हें कॉन्ग्रेस ने आमंत्रित नहीं किया था। उनमें आम आदमी पार्टी (AAP), भारत राष्ट्र समिति (BRS), युवाजना श्रामिका रैतु (YSR) कॉन्ग्रेस, एआईयूडीएफ (AIUDF) और शिरोमणि अकाली दल (SAD) जैसी पार्टियाँ शामिल हैं। इनमें से कोई भी दल विपक्ष में कॉन्ग्रेस के नेतृत्व को स्वीकार नहीं करता।

भारत जोड़ो यात्रा के समापन समारोह में डीएमके (DMK) के तिरुचि शिवा, सीपीआई (CPI) के महासचिव डी राजा, नेशनल कॉन्फ्रेंस (NC) के उमर अब्दुल्ला, पीडीपी (PDP) की महबूबा मुफ्ती, आरएसपी (RSP) के एनके प्रेमचंद्रन और आईयूएमएल (IUML) के के नवस कानी शामिल हुए। यात्रा के समापन समारोह में झामुमो (JMM) और वाीसीके (VCK) ने अपने प्रतिनिधि भेजे थे।

इन सब के अलावा बसपा सांसद श्याम सिंह यादव भी श्रीनगर में आयोजित भारत जोड़ो यात्रा कार्यक्रम में शामिल होने पहुँचे हुए थे। लेकिन, ‘इंडियन एक्सप्रेस’ ने पार्टी सूत्रों के हवाले से जानकारी दी कि श्याम सिंह यादव पार्टी की तरफ से नहीं बल्कि व्यक्तिगत रूप से समारोह का हिस्सा बने थे। जौनपुर से बसपा सांसद श्याम सिंह यादव दिल्ली में यात्रा के दौरान राहुल गाँधी के साथ भी चले थे। बता दें कि राहुल गाँधी की भारत जोड़ो यात्रा सितंबर 2022 में शुरू हुई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -