झारखंड कॉन्ग्रेस में सिर-फुटौव्वल, प्रदेश अध्यक्ष को पूर्व केंद्रीय मंत्री ने लताड़ा

बोले सुबोधकांत सहाय- अजय कुमार की नहीं है कोई विचारधारा। बीजेपी की प्रशंसा करने के आरोप भी लगाए।

लोकसभा चुनाव में करारी शिकस्त के बाद से कॉन्ग्रेस में जारी सिर-फुटौव्वल अब झारखंड पहुॅंच गई है। पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने प्रदेश कॉन्ग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार पर हमला बोला है। सहाय ने कहा, “अजय कुमार को पद तो मिल गया, लेकिन उनकी कोई विचारधारा नहीं है। पहले वो झारखंड मुक्ति मोर्चा (JVM) में थे, उसके बाद कॉन्ग्रेस में शामिल हो गए हैं।

ANI से सुबोध कांत सहाय ने शनिवार (जुलाई 20, 2019) को यह बात कही। 1986 बैच के पूर्व आईपीएस अधिकारी अजय कुमार जुलाई 2011 में जेवीएम के टिकट पर मध्यावधि चुनाव में 15 वीं लोकसभा के सदस्य चुने गए थे। अगस्त 2014 में वे कॉन्ग्रेस में शामिल हुए और नवंबर 2017 में उन्हें प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था।

हाल ही में हुए लोकसभा चुनावों में कॉन्ग्रेस को करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा था। पार्टी झारखंड की 14 सीटों में से केवल 1 सीट जीतने में सफल रही थी। इस हार के बाद अजय कुमार ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। हालाँकि उनके इस्तीफे पर अभी केंद्रीय नेतृत्व ने कोई फैसला नहीं किया है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

झारखंड में इस साल नवंबर-दिसंबर में विधानसभा चुनाव होंगे। ऐसे वक़्त में सहाय ने अजय कुमार पर भाजपा की प्रशंंसा करने का भी आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि देश में गाँधी और गोडसे की विचारधारा के बीच टकराव चल रहा है और वे (अजय) भाजपा की प्रशंसा कर रहे हैं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

सबरीमाला मंदिर
सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई के अवाला जस्टिस खानविलकर और जस्टिस इंदू मल्होत्रा ने इस मामले को बड़ी बेंच के पास भेजने के पक्ष में अपना मत सुनाया। जबकि पीठ में मौजूद जस्टिस चंद्रचूड़ और जस्टिस नरीमन ने सबरीमाला समीक्षा याचिका पर असंतोष व्यक्त किया।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

112,578फैंसलाइक करें
22,402फॉलोवर्सफॉलो करें
117,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: