Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाज'भारत माँ कराह रही है': सुनीता केजरीवाल ने स्वतंत्रता संग्राम के बलिदानियों से की...

‘भारत माँ कराह रही है’: सुनीता केजरीवाल ने स्वतंत्रता संग्राम के बलिदानियों से की अपने CM पति की तुलना, दिल्ली में I.N.D.I. गठबंधन के मंच से मनुस्मृति के खिलाफ लड़ाई का ऐलान

उन्होंने कहा कि भारत एक महान देश है जिसकी संस्कृति हजारों वर्ष पुरानी है, भगवान का दिया सब कुछ है फिर भी हमारे लोग अनपढ़ और पिछड़े हैं।

राजधानी नई दिल्ली में रविवार (31 मार्च, 2024) को विपक्षी नेताओं का जमघट लगा और I.N.D.I. गठबंधन के बैनर तले रैली हुई हुई। रैली में कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी, महासचिव प्रियंका गाँधी, पंजाब के CM भगवंत मान, जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फ़ारूक़ अब्दुल्लाह व महबूबा मुफ़्ती, हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना, राजद से तेजस्वी यादव और सपा से अखिलेश यादव के अलावा महाराष्ट्र में NCP के शरद पवार और शिवसेना (UBT) के उद्धव ठाकरे शामिल हुए। वामपंथी नेता दीपांकर भट्टाचार्य ने कहा कि ये संविधान की जगह मनुस्मृति थोपने के खिलाफ लड़ाई है।

इस दौरान सुनीता केजरीवाल ने कहा कि जेल से अरविंद केजरीवाल ने जनता के नाम संदेश जेल भेजा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके पति को जेल में डाल दिया। उन्होंने रैली में उपस्थित लोगों से पूछा कि क्या आप मानते हैं कि अरविंद केजरीवाल सच्चे और देशभक्त इंसान हैं? उन्होंने पूछा कि क्या उन्हें इस्तीफा देना चाहिए? उन्होंने दावा किया कि अरविंद केजरीवाल करोड़ों लोगों के दिल में बसते हैं, जिस बहादुरी और साहस से वो लड़ रहे हैं ऐसा लगता है वो स्वतंत्रता सेनानी की तरह हैं जो शहीद हो गए।

उन्होंने दावा किया कि ये लोग अरविंद केजरीवाल को ज़्यादा दिन जेल में नहीं रख पाएँगे। उन्होंने केजरीवाल का संदेश पढ़ते हुए कहा कि आज वो वोट नहीं माँग रहे, 140 करोड़ देशवासियों से एक बड़ा भारत बनाने के लिए आमंत्रित करते हैं। उन्होंने कहा कि भारत एक महान देश है जिसकी संस्कृति हजारों वर्ष पुरानी है, भगवान का दिया सब कुछ है फिर भी हमारे लोग अनपढ़ और पिछड़े। बकौल सुनीता, जेल में उनके पति काफी सोचते हैं, उन्हें पता चला है कि भारत माँ दुःखी हैं, दर्द में हैं, कराह रही है।

उन्होंने संदेश पढ़ते हुए कहा, “जब महँगाई की वजह से लोगों को रोटी नहीं मिलती तो भारत माता को दुःख होता है। आज़ादी के 75 वर्ष बाद भी लोगों को इलाज नहीं मिलता। बिजली जाती है, सड़कें खराब हैं। भारत माँ को बहुत पीड़ा होती है। इस पर कुछ नेता लच्छेदार भाषण देते हैं, शौनो-शौकत की ज़िंदगी जीते हैं। भारत माता को ऐसे लोगों से नफरत है। एक ऐसा भारत जहाँ सबको खाना मिले, हर बच्चे को अच्छी शिक्षा मिले, सबको अच्छा इलाज मिले चाहे वो अमीर हो या गरीब।”

सुनीता केजरीवाल ने देश के हर गाँव में शानदार सड़कें होने की बात करते हुए कहा कि एक ऐसा भारत बनेगा जो शिक्षा का केंद्र होगा, बहार से युवक पढ़ने आएँगे, ये विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी का केंद्र होगा। उन्होंने कहा कि अगर आप सब I.N.D.I. गठबंधन को मौका देते हैं तो हम सब इसे एक महान राष्ट्र बनाएँगे। इस दौरान उन्होंने 6 गारंटी देने की बात की – पूरे देश में 24 घंटे बिजली, गरीबों को मुफ्त बिजली, हर गाँव-मोहल्ले में शानदार सरकारी स्कूल, हर गाँव-मोहल्ले में मोहल्ला क्लिनिक और हर जिले में मुफ्त इलाज के लिए मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल, किसानों को सभी फसलों पर MSP और दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाएँगे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

क्या है भारत और बांग्लादेश के बीच का तीस्ता समझौता, क्यों अनदेखी का आरोप लगा रहीं ममता बनर्जी: जानिए केंद्र ने पश्चिम बंगाल की...

इससे पहले यूपीए सरकार के दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता के पानी को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसके अंतर्गत बांग्लादेश को तीस्ता का 37.5% पानी और भारत को 42.5% पानी दिसम्बर से मार्च के बीच मिलना था।

लोकसभा में ‘परंपरा’ की बातें, खुद की सत्ता वाले राज्यों में दोनों हाथों में लड्डू: डिप्टी स्पीकर पद पर हल्ला कर रहा I.N.D.I. गठबंधन,...

कर्नाटक, तेलंगाना और हिमाचल प्रदेश में कॉन्ग्रेस ने अपने ही नेता को डिप्टी स्पीकर बना रखा है विधानसभा में। तमिलनाडु में DMK, झारखंड में JMM, केरल में लेफ्ट और पश्चिम बंगाल में TMC ने भी यही किया है। दिल्ली और पंजाब में AAP भी यही कर रही है। लोकसभा में यही I.N.D.I. गठबंधन वाले 'परंपरा' और 'परिपाटी' की बातें करते नहीं थक रहे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -