Wednesday, June 19, 2024
Homeराजनीतितिरुपति में जिन दीवारों पर थी हिंदू देवी-देवताओं के चित्र, वहाँ अब सत्ताधारी YSR...

तिरुपति में जिन दीवारों पर थी हिंदू देवी-देवताओं के चित्र, वहाँ अब सत्ताधारी YSR कॉन्ग्रेस पार्टी के रंग: विरोध कर रहे हिंदू, कई गिरफ्तार

‘‘हैरान कर देने वाली ये तस्वीरें तिरुपति शहर की हैं। हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरों को सत्तारूढ़ वाईएसआर कॉन्ग्रेस पार्टी के झंडे से मिलते नीला, हरा और सफेद रंगों से बदल दिया गया है। हिंदू धर्म का अपमान करने वालों पर श्रद्धालु आग बबूला हो रहे हैं।"

तिरुपति में जिस सड़क से सटी दीवार पर भगवान शिव, हनुमान जी, शिवलिंग के अलावा अन्य देवी-देवताओं की तस्वीरें थीं, अब वहाँ सत्ताधारी पार्टी के रंग नीले, हरे और सफेद से पुताई कर दी गई है। स्थानीय हिंदू इसका विरोध कर रहे हैं। विपक्षी पार्टी भी इसका जमकर विरोध कर रही है।

सोशल मीडिया पर भी इस मुद्दे ने तुल पकड़ लिया है। इसे हिंदुओं और उनके देवी-देवताओं का अपमान बता कर विरोध किया जा रहा है। आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू (N. Chandrababu Naidu) ने अपने ट्विटर हैंडल पर एसवी यूनिवर्सिटी रोड, तिरुपति की फोटो शेयर की है। इसमें उन्होंने लिखा:

‘‘हैरान कर देने वाली ये तस्वीरें तिरुपति शहर की हैं। हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरों को सत्तारूढ़ वाईएसआर कॉन्ग्रेस पार्टी के झंडे से मिलते नीला, हरा और सफेद रंगों से बदल दिया गया है। हिंदू धर्म का अपमान करने वालों पर श्रद्धालु आग बबूला हो रहे हैं।”

तेलुगु देशम पार्टी (Telugu Desam Party) के नेताओं ने मंगलवार (27 सितंबर 2022) को तिरुपति में मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी के लगाए गए सैकड़ों बैनरों पर भी आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि ऐसा करके तिरुमाला ब्रह्मोत्सव से पहले आध्यात्मिक माहौल को खराब कर दिया गया है।

तेदेपा नेताओं (TDP) ने यह भी आरोप लगाया कि सत्ताधारी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पूरे शहर में जगन मोहन रेड्डी के स्वागत के लिए बैनर और होर्डिंग लगाए हैं। इस बात को लेकर जब पूर्व विधायक एम सुगुनम्मा और नगर पार्षद आरसी मुनिकृष्ण ने इस पर आपत्ति जताई और प्रदर्शन किया तो पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की, कई लोगों की गिरफ्तारी भी की गई।

बता दें कि तेदेपा नेताओं ने जिला अधिकारियों, प्रशासन के साथ-साथ टीटीडी अधिकारियों पर रात भर लगाए गए सैकड़ों होर्डिंग्स पर आँख मूँद लेने के लिए नाराजगी जताई है। सुगुनम्मा (MLA M. Sugunamma) को “ब्रह्मोत्सवम है या जगनोत्सवम?” चिल्लाते हुए भी सुना गया। तिरुपति में विरोध प्रदर्शन करने वाले तिरुपति के पूर्व विधायक और उनके समर्थकों को मंगलवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हमारे बारह’ पर जो बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा, वही हम भी कह रहे- मुस्लिम नहीं हैं अल्पसंख्यक… अब तो बंद हो देश के...

हाई कोर्ट ने कहा कि उन्हें फिल्म देखखर नहीं लगा कि कोई ऐसी चीज है इसमें जो हिंसा भड़काने वाली है। अगर लगता, तो पहले ही इस पर आपत्ति जता देते।

NEET पर जिस आयुषी पटेल के दावों को प्रियंका गाँधी ने दी हवा, उसके खुद के दस्तावेज फर्जी: कहा था- NTA ने रिजल्ट नहीं...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में झूठी साबित होने के बाद आयुषी पटेल ने अपनी याचिका भी वापस लेने का अनुरोध किया। कोर्ट ने NTA को छूट दी है कि वह आयुषी पटेल के खिलाफ नियमानुसार एक्शन ले।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -