Sunday, September 19, 2021
Homeराजनीतिसंसद में फाड़े पेपर, बेंच पर फेंकी फाइलें: पेगासस की आड़ ले विपक्ष ने...

संसद में फाड़े पेपर, बेंच पर फेंकी फाइलें: पेगासस की आड़ ले विपक्ष ने फिर किया हंगामा

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा, “कॉन्ग्रेस और टीएमसी सांसदों ने कोशिश की कि आज संसद न चलने दें। वे अपना विरोध दर्ज करवा सकते हैं लेकिन उसकी भी एक सीमा होती है। उन्होंने स्पीकर, मंत्रियों और यहाँ तक ​​कि मीडिया गैलरी पर भी कागज फेंके और तख्तियाँ दिखाईं। विपक्ष चर्चाओं से क्यों भाग रहा है?”

संसद में चल रहे मानसून सत्र के दूसरे हफ्ते (8वें दिन) विपक्ष ने आज (जुलाई 28, 2021) पेगासस जासूसी मामले और कृषि कानून के विरोध में जमकर हंगामा किया। सामने आई तस्वीरों में देख सकते हैं कि विपक्षी नेता कैसे संसद की कार्यवाही को बाधित करके वहाँ हल्ला कर रहे हैं और विरोध करने के नाम पर पर्चे उछाल रहे हैं। एक तस्वीर में देख सकते हैं कि संसदीय मामलों के मंत्री प्रल्हाद जोशी को निशाना बनाते हुए विपक्षी सांसद ने उनपर कागज और फाइलें फेंकीं।

सदन में विपक्षी नेताओं का आक्रमक रवैया देखते हुए सदन को 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। हल्ला करने वालों में कॉन्ग्रेस और टीएमसी के सांसद थे। उन्होंने ही कागजों को फाड़कर बेंच पर फेंका। इस माहौल को देख सत्ताधारी पार्टी के कई नेताओं ने आपत्ति भी जताई। नेता बोले कि इस तरह के ‘अनियंत्रित’ व्यवहार को बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए और लोगों के ज्ञान में लाया जाना चाहिए।

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा, “कॉन्ग्रेस और टीएमसी सांसदों ने कोशिश की कि आज संसद न चलने दें। वे अपना विरोध दर्ज करवा सकते हैं लेकिन उसकी भी एक सीमा होती है। उन्होंने स्पीकर, मंत्रियों और यहाँ तक ​​कि मीडिया गैलरी पर भी कागज फेंके और तख्तियाँ दिखाईं। विपक्ष चर्चाओं से क्यों भाग रहा है?”

उल्लेखनीय है कि सदन में दिखा विपक्ष का अमर्यादित रवैया पहली दफा नहीं है। इससे पहले तृणमूल कॉन्ग्रेस (टीएमसी) के सांसद शांतनु सेन को अनुशासनहीनता दिखाने के कारण राज्यसभा के मानसून सत्र से निलंबित कर दिया गया था। सेन ने गुरुवार (22 जुलाई 2021) को इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव के हाथ से स्टेटमेंट पेपर छीना था और फाड़ कर फेंक दिया था।

उस दिन आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव पेगासस मामले पर स्टेटमेंट देने के लिए खड़े हुए थे। उस दौरान राज्यसभा में तृणमूल कॉन्ग्रेस के सांसदों ने भारी हंगामा शुरू कर दिया। इसी बीच टीएमसी सांसद शांतनु सेन ने आईटी मंत्री के हाथ से स्टेटमेंट पेपर छीनकर फाड़ दिया। इतना ही नहीं, सेन ने पेपर फाड़ने के बाद उसके टुकड़े उपसभापति की कुर्सी की तरफ उछाल दिए। इसके बाद मार्शल को बीच-बचाव के लिए आना पड़ा। वहीं, कुछ अन्य विपक्षी सांसद सदन के वेल में पहुँचे और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सिख नरसंहार के बाद छोड़ दी थी कॉन्ग्रेस, ‘अकाली दल’ में भी रहे: भारत-पाक युद्ध की खबर सुन दोबारा सेना में गए थे ‘कैप्टेन’

11 मार्च, 2017 को जन्मदिन के दिन ही कैप्टेन अमरिंदर सिंह को पंजाब में बहुमत प्राप्त हुआ और राज्य में कॉन्ग्रेस के लिए सत्ता का सूखा ख़त्म हुआ।

अडानी समूह के हुए ‘The Quint’ के प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर, गौतम अडानी के भतीजे के अंतर्गत करेंगे काम

वामपंथी मीडिया पोर्टल 'The Quint' में बतौर प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर कार्यरत रहे संजय पुगलिया अब अडानी समूह का हिस्सा बन गए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,106FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe