Sunday, October 17, 2021
Homeराजनीतिश्रीराम मंदिर निर्माण के लिए योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर की ओर से दान...

श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर की ओर से दान किए ₹1 करोड़, 1 लाख

गोरखपुर दौरे पर गए सीएम योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर की ओर से राम मंदिर निर्माण के लिए 1 करोड़ 1 लाख रूपए श्रीराम जन्मभूमि निर्माण निधि समर्पण के रूप में दिए।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने अपने गोरखपुर दौरे के दौरान गोरखनाथ मंदिर (Gorakhnath Temple) की ओर से श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए 1 करोड़, 1 लाख रुपए अयोध्या श्रीराम जन्मभूमि निर्माण निधि समर्पण के रूप में दान किए।

बुधवार (जनवरी 27, 2021) सुबह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरु गोरखनाथ के दर्शन किए और गोरखनाथ मंदिर में श्रीराम जन्मभूमि निधि समर्पण अभियान के सम्बन्ध में उद्योगपतियों के साथ बैठक भी की। इसका उद्देश्य अयोध्या में राम मंदिर के चल रहे निर्माण के लिए धन जुटाना था।

विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय उपाध्यक्ष व श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के महामंत्री चंपत राय ने अपने ट्विटर अकाउंट से इसकी जानकारी देते हुए लिखा, “आज गोरखपुर में गोरखनाथ मंदिर का दर्शन किया। इस क्रम में गोरखनाथ मन्दिर के सभागार में माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के साथ गोरखपुर महानगर के प्रमुख नागरिकों ने निधि समर्पित की। माननीय मुख्यमंत्री जी ने गोरक्षपीठ की ओर से 1 करोड़ रुपए का समर्पण किया।”

उल्लेखनीय है कि अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण कार्य जारी है और इसके लिए श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट द्वारा देश भर से चंदा इकट्ठा किया जा रहा है। गोरखनाथ मंदिर ट्रस्ट के प्रवक्ता ने कहा कि गोरखपुर मंदिर ट्रस्ट ने 50 लाख रूपए और गोरखनाथ मंदिर द्वारा 51 लाख का दान देवीपाटन में दिया गया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि राज्य सरकार ने देश में एक प्रमुख पर्यटन केंद्र के रूप में अयोध्या शहर के विस्तार और विकास के लिए एक योजना तैयार की है। उन्होंने मंदिर के चल रहे निर्माण के लिए दान देने का भी आह्वान किया।

इस अवसर पर सीएम आदित्यनाथ ने कहा कि गोरखनाथ मंदिर का राम मंदिर आंदोलन से बहुत पुराना नाता है। मंदिर के पूर्व प्रमुख, महंत दिग्विजय नाथ और महंत अवैद्यनाथ ने आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाई थी। महंत अवैद्यनाथ राम जन्मभूमि संघर्ष समिति के अध्यक्ष थे और उनके नेतृत्व में मंदिर आंदोलन एक जन आंदोलन में बदल गया।

इस मौके पर शहर के 40 से अधिक व्यापारियों ने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र के महासचिव और विश्व हिंदू परिषद के उपाध्यक्ष चंपत राय को दान चेक सौंपे। चंपत राय ने भी श्रीराम मंदिर के निर्माण के लिए लोगों से दान करने का निवेदन किया। विहिप ने अयोध्या में मंदिर के लिए धन जुटाने के लिए एक राष्ट्रव्यापी अभियान शुरू किया है। राय ने कहा कि मंदिर का निर्माण 36 महीने में पूरा हो जाएगा।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,107FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe