Saturday, June 22, 2024
Homeराजनीतिटिकट कटने पर फूट-फूट कर रोए सपा नेता जावेद राइन, वीडियो वायरल: 'सांप्रदायिक ताकतों...

टिकट कटने पर फूट-फूट कर रोए सपा नेता जावेद राइन, वीडियो वायरल: ‘सांप्रदायिक ताकतों को बाहर करने’ निकले थे

जावेद राइन ने नवम्बर 2021 में ही खुद को समाजवादी पार्टी का बढ़ापुर से संभावित प्रत्याशी घोषित कर रखा गया। उन्होंने इसकी घोषणा का ट्वीट अपने हैंडल पर डाला है। इस वीडियो में वो 2022 के चुनावों में साम्प्रदायिक ताकतों को बाहर कर देने का एलान करते दिखाई दे रहे हैं।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में टिकट काटे जाने के बाद समाजवादी पार्टी के एक और नेता जावेद राइन की रोते हुए वीडियो वायरल हो रही है। इस वीडियो में वो फफक-फफक कर रोते हुए बिजनौर की जनता को सम्बोधित कर रहे हैं। जावेद बढ़ापुर विधानसभा से चुनाव लड़ने की तैयारी में थे। यह वीडियो बुधवार (19 जनवरी) से वायरल हो रहा है।

वायरल वीडियो में जावेद राइन कहते दिखाई दिए, “साथियों अस्सलाम वालेकुम। मन तो दुखता है। सारा शहर और जिला जानता है। जब भी रात 2 बजे गरीब, मजदूर की लड़ाई लड़ने के लिए, मैं हमेशा आगे रहा। मैंने कभी किसी के साथ गलत नहीं किया। आपको पता है कि मैंने कितनी मेहनत की है। राष्ट्रीय अध्यक्ष जी का जो भी फैसला है वो हमें मान्य है। मैं क्षेत्र के सभी लोगों से माफ़ी चाहूँगा कि मैं आपकी खिदमत नहीं कर सका। तभी शायद मेरा टिकट नहीं हुआ। आप लोगों का बहुत प्यार मिला। आप सभी ने बहुत इज्जत दी। शायद आपकी खिदमत करना मेरी किस्मत में नहीं था।”

वीडियो वायरल होने के बाद जावेद राइन ने अपनी सफाई में एक और वीडियो शेयर किया। उस वीडियो में उन्होंने कहा, “मुझे बहुत ज्यादा दुःख हुआ। इसलिए मुझे लाइव आना पड़ा। मैं आप लोगों का आभारी हूँ। मैं आप लोगों का एहसान नहीं उतार पाऊँगा। इस वीडियो को वायरल कर के जिन्होंने दुःख में मेरा साथ दिया मैं उनका हमेशा आभारी रहूँगा। मेरे राष्ट्रीय अध्यक्ष का जैसे आदेश होगा मैं वैसे ही काम करूँगा। अगर वो कहेंगे कि निर्दलीय लड़ कर दिखाओ तो मैं निर्दलीय भी चुनाव लड़ कर दिखा दूँगा। जनता मेरे साथ है। उसका जो आदेश होगा मैं वही करूँगा।” इस वीडियो को बनाते समय जावेद राइन ने लाल रंग की समाजवादी टोपी पहन रखी थी। यह वीडियो 20 जनवरी, 2022 (गुरुवार) को जारी किया गया है।

जावेद राइन ने नवम्बर 2021 में ही खुद को समाजवादी पार्टी का बढ़ापुर से संभावित प्रत्याशी घोषित कर रखा गया। उन्होंने इसकी घोषणा का ट्वीट अपने हैंडल पर डाला है। इस वीडियो में वो 2022 के चुनावों में साम्प्रदायिक ताकतों को बाहर कर देने का एलान करते दिखाई दे रहे हैं।

जावेद राइन ने अपने ट्विटर हैंडल पर ‘यह जवानी है कुर्बान अखिलेश भइया तेरे नाम’ लिख रखा है। फिलहाल वो निर्दलीय लड़ने जैसे स्क्रीन शॉट अपने हैंडल पर शेयर कर रहे हैं। साथ ही अपने ट्वीट में अखिलेश यादव को टैग भी करते जा रहे हैं। वो समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष से सच्चाई को चेक करने की भी अपील कर रहे हैं।

गौरतलब है कि टिकट न मिलने पर इस से पहले भी कई संभावितों के रोते हुए वीडियो वायरल हुए हैं। 16 जनवरी को समाजवादी पार्टी के अलीगढ़ से नेता आदित्य ठाकुर ने टिकट न मिलने के चलते शरीर पर पेट्रोल छिड़क कर आत्मदाह की कोशिश की थी। तब उन्हें UP पुलिस ने ऐसा करने से जबरन रोका था। इसी माह मुजफ्फरनगर में बसपा नेता अरशद राणा का भी टिकट कटने पर रोते हुए वीडियो वायरल हुआ था। उन्होंने पश्चिम उत्तर प्रदेश प्रभारी शमशुद्दीन राइन पर पैसा ले कर भी टिकट न देने का आरोप लगाया था। साथ ही न्याय न मिलने पर मायावती के आवास के सामने आत्मदाह की धमकी भी दी थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -