कॉन्ग्रेस नेता पर ‘ममता’: बंगाल पुलिस ने 14 घंटे तक नहीं दिया पानी, अंधेरे कमरे में स्टूल पर 9 घंटे बिठाए रखा

पत्रकार से नेता बने सनमॉय बंधोपाध्याय ने दावा किया कि 'बुआ-भतीजे' के निर्देश पर उन्हें पुलिस ने हिरासत में प्रताड़ित किया। उन्होंने कहा कि सत्ताधारी टीएमसी की कारगुजारियों के खिलाफ वे लगातार सोशल मीडिया में पोस्ट कर रहे थे। यही कारण है कि उनके साथ ऐसा बर्ताव किया गया।

हाल ही में साइबर एक्ट के तहत गिरफ्तार किए गए कॉन्ग्रेस नेता सनमॉय बंदोपाध्याय को जमानत मिल गई है। उन्होंने राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनके सांसद भतीजे अभिषेक बनर्जी के निर्देश पर पुलिस हिरासत में अमानवीय यातनाएँ दिए जाने का दावा किया है। उन्होंने कहा कि ‘बुआ-भतीजे’ के निर्देश पर उन्हें प्रताड़ित किया गया, क्योंकि सत्ताधारी टीएमसी की कारगुजारियों के खिलाफ वे लगातार सोशल मीडिया में पोस्ट कर रहे थे।

सनमॉय के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि बार-बार मॉंगने के बावजूद उन्हें 14 घंटे तक एक बूँद पानी नहीं दिया गया। अंधेरे कमरे में उन्हें 9 घंटे तक एक स्टूल पर बिठाकर रखा गया है। इस दौरान 40-50 डंडे भी उन्हें मारे गए।

कॉन्ग्रेस नेता ने आपबीती सुनाते हुए कहा, “मैंने उनसे बहुत बार पानी माँगा। मुझे दिख रहा था कि वो सब पानी पी रहे हैं, लेकिन मुझे 14 घंटे तक पानी नहीं दिया। मुझे एक स्टूल पर बैठाए रखा गया। सुबह 4:50 पर वे मुझे बाहर लेकर आए और गाड़ी में डाल दिया, लेकिन बार-बार पूछने पर भी ये नहीं बताया कि वे मुझे कहाँ लेकर जा रहे हैं।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

उन्होंने कहा, “अगर मैंने कुछ गलत लिखा, वे मुझपर मानहानि का केस कर सकते थे। लेकिन ये सब क्या है? मैं कॉन्ग्रेस नेता नेपाल महतो का ऋणी हूँ। अगर वे या पार्टी का कोई नेता यहाँ नहीं होता, तो मैं नहीं जी पाता। हिरासत के दौरान कई बार मुझे लगा कि मैं मर जाऊँगा।” उन्होंने जेल से निकलने के बाद कहा, “उन्होंने मुझे परेशान करने के लिए पुलिस का इस्तेमाल क्यों किया? मुझे नहीं पता कि ऐसी चीजें हिटलर और मुसोलिनी के शासन में भी होती थीं क्या?

उल्लेखनीय है कि पत्रकार से राजनेता बने कॉन्ग्रेस के सनमॉय बंधोपाध्याय जून से लगातार ही यूट्यूब पर ममता सरकार की आलोचना करते हुए वीडियो डाल रहे थे। उन्हें 17 अक्टूबर को उनके निवास स्थान उत्तरी 24 परगना जिले के सोडेपुर से गिरफ्तार किया गया था। लेकिन अदालत के आदेश के बाद उन्हें पुलिस हिरासत से रिहा कर दिया गया। लोकसभा में कॉन्ग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि ममता सरकार ने टीएमसी सरकार की आलोचना में पोस्ट करने के कारण सनमॉय को गिरफ्तार किया। उन्होंने इसे असहिष्णुता का नायाब उदाहरण बताया।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

सोनिया गाँधी
शिवसेना हिन्दुत्व के एजेंडे से पीछे हटने को तैयार है फिर भी सोनिया दुविधा में हैं। शिवसेना को समर्थन पर कॉन्ग्रेस के भीतर भी मतभेद है। ऐसे में एनसीपी सुप्रीमो के साथ उनकी आज की बैठक निर्णायक साबित हो सकती है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,489फैंसलाइक करें
23,092फॉलोवर्सफॉलो करें
121,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: