Tuesday, October 19, 2021
Homeराजनीतिशारदा चिटफंड घोटाला: कुणाल घोष से सीबीआई ने की पूछताछ, कहा था- सबसे ज्यादा...

शारदा चिटफंड घोटाला: कुणाल घोष से सीबीआई ने की पूछताछ, कहा था- सबसे ज्यादा फायदा ममता को

करीब एक महीने पहले चिटफंड घोटाले के आरोपित कुणाल घोष आधिकारिक तौर पर टीएमसी में शामिल हुए थे। उन्हें पार्टी का प्रवक्ता भी नियुक्त किया गया था।

पश्चिम बंगाल की सत्ताधारी पार्टी टीएमसी के प्रवक्ता कुणाल घोष 26 अगस्त को सीबीआई के सामने पेश हुए। जॉंच एजेंसी ने उनसे करोड़ों रुपए के शारदा चिटफंड घोटाले को लेकर सवाल-जवाब किए।

करीब एक महीने पहले चिटफंड घोटाले के आरोपित कुणाल घोष आधिकारिक तौर पर टीएमसी में शामिल हुए थे। उन्हें पार्टी का प्रवक्ता भी नियुक्त किया गया था।

घोष को करीब सात साल पहले टीएमसी ने निलंबित कर दिया था। वे शारदा चिट फंड मामले में फिलहाल जमानत पर बाहर हैं। साल 2014 में कुणाल घोष ने आधिकारिक रूप से दावा किया था कि शारदा पंजी योजना में ममता बनर्जी को सबसे ज्यादा फ़ायदा मिला था। इसके अलावा कुणाल ने उन्हें सार्वजनिक तौर पर ‘कायर’ कहा था। साल 2019 में कोलकाता के पूर्व मंडलायुक्त राजीव कुमार ने शिलोंग में कुणाल से इस घोटाले को लेकर पूछताछ की थी। 

हाल ही में कुणाल घोष को सीबीआई ने पूछताछ के लिए समन भेजा था। केंद्रीय जाँच एजेंसी की आर्थिक शाखा लगभग सभी चिट फंड घोटाले के मामलों की जाँच कर रही है। इसमें शारदा, नरदा, रोज़वैली, आईकोर, प्रयाग समेत कई मामले शामिल हैं। हैरानी की बात यह भी है कि इन सभी मामलों लगाए गए आरोपों का सीधा संबंध बंगाल के सत्ताधारी दल से है।        

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सहिष्णुता और शांति का स्तर ऊँचा कीजिए’: हिंदी को राष्ट्रभाषा बताने पर जिस कर्मचारी को Zomato ने निकाला था, उसे CEO ने फिर बहाल...

रेस्टॉरेंट एग्रीगेटर और फ़ूड डिलीवरी कंपनी Zomato के CEO दीपिंदर गोयल ने उस कर्मचारी को फिर से बहाल कर दिया है, जिसे कंपनी ने हिंदी को राष्ट्रभाषा बताने पर निकाल दिया था।

बांग्लादेश के हमलावर मुस्लिम हुए ‘अराजक तत्व’, हिंदुओं का प्रदर्शन ‘मुस्लिम रक्षा कवच’: कट्टरपंथियों के बचाव में प्रशांत भूषण

बांग्लादेश में हिंदू समुदाय के नरसंहार पर चुप्पी साधे रखने के कुछ दिनों बाद, अब प्रशांत भूषण ने हमलों को अंजाम देने वाले मुस्लिमों की भूमिका को नजरअंदाज करते हुए पूरे मामले में ही लीपापोती करने उतर आए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,963FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe