Friday, August 6, 2021
Homeबड़ी ख़बरअब, राहुल गाँधी विकास के मॉडल हैं: रविशंकर प्रसाद ने कॉन्ग्रेस अध्यक्ष की आय...

अब, राहुल गाँधी विकास के मॉडल हैं: रविशंकर प्रसाद ने कॉन्ग्रेस अध्यक्ष की आय पर उठाए सवाल

रविशंकर प्रसाद ने सवाल किया, “राहुल जी, आपकी आय का स्रोत क्या है? हमने विकास का एक वाड्रा मॉडल देखा है। और अब, हम राहुल गाँधी को विकास के मॉडल के रूप में देख रहे हैं।”

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया और राहुल गाँधी की आय के चमत्कारिक स्रोत पर सवाल उठाए। हाल ही में एक रिपोर्ट में, OpIndia.com ने राहुल की अप्रत्याशित गति से बढ़ती आय से होने वाली संदिग्ध डील और उनकी तेजी से बढ़ती संपत्ति का भी खुलासा किया था।

रविशंकर प्रसाद ने सवाल किया, “राहुल जी, आपकी आय का स्रोत क्या है? हमने विकास का एक वाड्रा मॉडल देखा है। और अब, हम राहुल गाँधी को विकास के मॉडल के रूप में देख रहे हैं।” “2004 में, राहुल गाँधी ने अपनी संपत्ति 55,38,123 रुपए, 2009 में, यह 2 करोड़ रुपए हो गया और 2014 में, यह 9 करोड़ रुपए हो गया। राहुल गाँधी, कृपया हमें विकास के इस मॉडल के बारे में बताएँ। 2004 में मात्र 55,38,123 रुपए से बिना आय के किसी भी अन्य स्रोत के, आपकी संपत्ति 2014 में बढ़कर 9 करोड़ हो गई।”

प्रसाद ने एफटीआईएल (FTIL) के गाँधी परिवार के लिंक का भी उल्लेख किया, जो एनएसईएल (NSEL) घोटाले के केंद्र में था। “यह बहुत गंभीर मामला है,” उन्होंने यह कहते हुए टिप्पणी की कि एफटीआईएल ने राहुल गाँधी और उनकी बहन की संपत्ति किराए पर ली थी और उन्हें किराए में ब्याज-मुक्त भुगतान के रूप में लाखों रुपए मिले थे।

केंद्रीय मंत्री ने राहुल गाँधी के यूनिटेक के लिंक पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने कॉन्ग्रेस अध्यक्ष से पूछा, “क्या आपने यूनिटेक से दो संपत्ति खरीदी हैं? भाजपा आज पूछ रही है कि क्या आपने यूनिटेक से दो सम्पत्तियाँ खरीदी हैं।”

उन्होंने आगे पूछा, “2-जी घोटाले के लिंक के कारण यूनिटेक के बारे में बात करना महत्वपूर्ण है। जैसा कि मैंने पहले कहा है, 2-जी निर्णय कानूनी रूप से निराधार और नैतिक रूप से अनुचित था। लेकिन जज द्वारा एक टिप्पणी की गई जो बहुत दिलचस्प है। उन्होंने कहा कि वह सबूत के लिए 7-8 साल से इंतजार कर रहे थे लेकिन यह कभी नहीं आया। तो, क्या सबूत की प्रतीक्षा और संपत्ति की खरीद के बीच कोई कड़ी है?”

प्रसाद ने राहुल गाँधी पर उठाए गए अपने इन सवालों का जवाब देने की माँग के साथ अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस को समाप्त कर दिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान में गणेश मंदिर तोड़ने पर भारत सख्त, सालभर में 7 मंदिर बन चुके हैं इस्लामी कट्टरपंथियों का निशाना

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मंदिर तोड़े जाने के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,169FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe