Sunday, June 26, 2022
Homeराजनीति'हम आंध्र प्रदेश में हैं या पाकिस्तान में': जिन्ना टावर का नाम बदलकर एपीजे...

‘हम आंध्र प्रदेश में हैं या पाकिस्तान में’: जिन्ना टावर का नाम बदलकर एपीजे अब्दुल कलाम रखने की माँग पर हिरासत में लिए गए बीजेपी नेता और कार्यकर्ता

"जिन्ना टावर का नाम बदलकर डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम रखने की माँग करने वाले देशभक्तों पर क्रूरता देखिए। निरंकुश वाईएस जगन के नेतृत्व वाली सरकार 'मुस्लिम तुष्टीकरण' में शामिल है।"

आंध्र प्रदेश के अमरावती में मंगलवार (24 मई, 2022) को गुंटूर में स्थित जिन्ना टावर का नाम बदलने के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव सुनील देवधर ने पार्टी के अन्य नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ मार्च निकाला। लेकिन, इस दौरान पुलिस ने बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव सुनील देवधर समेत कई नेताओं और पार्टी के कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया। ये सभी जिन्ना टावर का नाम बदलकर एपीजी अब्दुल कलाम रखने की माँग कर रहे थे।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पार्टी की युवा शाखा भाजयुमो की एक बैठक के बाद, भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने जिन्ना टॉवर तक एक विरोध मार्च निकालने की कोशिश की। सुनील देवधर और बीजेपी के अन्य कार्यकर्ता जब जिन्ना टावर का नाम बदलकर एपीजे अब्दुल कलाम टॉवर रखने की माँग को लेकर आगे बढ़े तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया और उन्हें हिरासत में ले लिया।

वहीं सुनील देवधर ने पुलिस पर बर्बरता का आरोप लगाया और कहा, “जिन्ना टावर का नाम बदलकर डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम रखने की माँग करने वाले देशभक्तों पर क्रूरता देखिए। निरंकुश वाईएस जगन के नेतृत्व वाली सरकार ‘मुस्लिम तुष्टीकरण’ में शामिल है। सरकार ने हमारी आवाज दबाने के लिए अपना असली रंग दिखाया है।”

वहीं बीजेपी के राज्यसभा सांसद जीवीएल नरसिम्हा राव ने ट्वीट कर बीजेपी नेताओं पर पुलिस कार्रवाई की निंदा की है। उन्होंने कहा है कि आश्चर्य है, “हम आंध्र प्रदेश में हैं या पाकिस्तान में हैं।”

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सोमू वीरराजू ने कहा, “न केवल उनकी पार्टी बल्कि लोगों ने भी जिन्ना टावर का नाम बदलने की माँग की है, जिन्ना का नाम हटाने और टावर का नाम अब्दुल कलाम के नाम पर रखने की माँग को व्यापक समर्थन मिल रहा है।” वीरराजू ने कहा, “राज्य सरकार हमारी माँग पर दमनकारी रुख नहीं अपना सकती है।”

गौरतलब है कि पिछले कई महीनों से, भाजपा और अन्य हिंदू संगठन पाकिस्तान के कायदे आजम रहे जिन्ना के नाम पर बने जिन्ना टॉवर का नाम बदलने की माँग कर रहे हैं, लेकिन वाईएस जगन मोहन रेड्डी सरकार इस माँग पर कोई ध्यान नहीं दे रही है। अपने उसी माँग के समर्थन में बजप्प नेता विरोध मार्च निकाल रहे थे।

जानकारी के लिए बता दें कि जिन्ना टॉवर आंध्र प्रदेश के गुंटूर शहर के महात्मा गांधी रोड पर स्थित एक ऐतिहासिक स्मारक है। इसे 1940 में पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की यात्रा की याद में बनवाया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गे बार के पास कट्टर इस्लामी आतंकी हमला, गोलीबारी में 2 की मौत: नॉर्वे में LGBTQ की परेड रद्द, पूरे देश में अलर्ट

नॉर्वे की राजधानी ओस्लो में गे बार के नजदीक हुई गोलीबारी को प्रशासन ने इस्लामी आतंकवाद करार दिया है। 'प्राइड फेस्टिवल' को रद्द कर दिया गया।

BJP के ईसाई नेता ने हवन-पाठ करके अपनाया सनातन धर्म: घरवापसी पर बोले- ‘मुझे हिंदू धर्म पसंद है, मेरे पूर्वज हिंदू थे’

विवीन टोप्पो ने हिंदू धर्म स्वीकारते हुए कहा कि उन्हें ये धर्म अच्छा लगता है इसलिए उन्होंने इसका अनुसरण करने का फैसला किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,395FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe