Friday, July 1, 2022
Homeराजनीतिआपसी रंजिश के चलते BJP नेता की हत्या

आपसी रंजिश के चलते BJP नेता की हत्या

अचानक गोली चलने से वहाँ मौजूद सभी बारातियों में हड़कंप मच गया। हमलावर को पकड़ने के लिए कई बाराती उस ओर भागे, लेकिन अँधेरा होने की वजह से हमलावर रिवॉल्वर समेत फ़रार होने में क़ामयाब रहा।

बीजेपी नेताओं की हत्या का सिलसिला लगातार रफ़्तार पकड़ता दिख रहा है। एक और बीजेपी नेता की हत्या का मामला सामने आया है जो उत्तर प्रदेश का है। दरअसल उत्तर प्रदेश में भदोही के गोपीगंज क्षेत्र में जौनपुर इलाक़े में एक शादी के समारोह का आयोजन था और इसी शादी में बीजेपी नेता दिनेश चंद्र मिश्र (48 वर्ष) अपने छोटे भाई सुनील कुमार मिश्र के साथ शामिल होने गए थे। जहाँ उन्हीं के पट्टीदार वीरेंद्र मिश्र ने लाइसेंसी रिवॉल्वर से बीजेपी नेता को गोली मार दी।

गोली बीजेपी नेता की बाईं आँख पर जा लगी जिससे उनकी मौक़े पर ही मृत्यु हो गई। मौक़े पर पहुँची पुलिस ने जानकारी दी कि रविवार (27-01-2019) को जौनपुर में सुरेरी क्षेत्र के कोहरौड़ा गाँव के निवासी एक युवक की बारात भदोही में गोपीगंज क्षेत्र के धनीपुर गाँव में जानी थी। द्वारचार के बाद जनवासे में बाराती बैठे थे। इस बीच उन्हीं के पट्टीदार वीरेंद्र मिश्र ने अपनी लाइसेंसी रिवॉल्वर से बीजेपी नेता को गोली मार दी।

अचानक गोली चलने से वहाँ मौजूद सभी बारातियों में हड़कंप मच गया। हमलावर को पकड़ने के लिए कई बाराती उसकी ओर भागे, लेकिन अँधेरा होने की वजह से हमलावर रिवॉल्वर समेत फ़रार होने में क़ामयाब रहा। बता दें कि घटना के बाद बीजेपी नेता दिनेश चंद्र मिश्रा के परिजन शव को लेकर गोपीगंज थाने पहुँचे।

मृतक के छोटे भाई सुनील कुमार मिश्र ने सुरेरी क्षेत्र के कोहरौड़ निवासी वीरेंद्र उर्फ़ बद्री नारायण के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज़ कराया दिया है। बीजेपी नेता के छोटे भाई सुनील कुमार मिश्रा ने बताया कि लाइसेंसी रिवॉल्वर आरोपी के बड़े भाई नरेंद्र मिश्र की है और वो रोजी-रोटी के सिलसिले में अक्सर बाहर रहते हैं।

इसके अलावा उन्होंने यह भी बताया कि आरोपी शख़्स हमेशा रिवॉल्वर को लेकर घूमता रहता था और जान से मारने की धमकी भी देता था। फ़िलहाल बीजेपी नेता के शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया गया है और पुलिस मामले की खोजबीन में जुटी हुई है।

बता दें कि इससे पहले भी बीजेपी नेताओं के साथ इस तरह की जानलेवा घटना को अंजाम दिया जा चुका है जिसमें मध्य प्रदेश के बीजेपी नेता प्रह्लाद बंधवार और मनोज ठाकरे मुज़्जफ़्फरपुर के बीजेपी नेता बैजू प्रसाद गुप्ता शामिल हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसी को ईद तक तो किसी को 17 जुलाई तक मारने की धमकी, पटाखों का जश्न तो कहीं सिर तन से जुदा के स्टेटस:...

राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल के कत्ल के बाद कहीं पर फोड़े गए पटाखे तो कहीं पर हिन्दू संगठन के कार्यकर्ता को मिली कत्ल की धमकी।

कन्हैया, उमेश, किशन… हत्या का एक जैसा पैटर्न, लिंक की पड़ताल कर रही NIA: रिपोर्ट में बताया- PFI कनेक्शन की भी हो रही जाँच

उदयपुर में कन्हैया लाल को काटा गया। अमरावती में उमेश कोल्हे तो अहमदाबाद में किशन भरवाड की हत्या की गई। बताया जा रहा है कि एनआईए इनके बीच लिंक की पड़ताल कर रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
201,558FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe