ओवैसी ने भारत रत्न को कहा ब्राह्मणों का क्लब

जनता दल सेकुलर (JDS) के नेता दानिश अली ने कहा था कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी नागपुर में आरएसएस मुख्यालय में एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे, इसलिए उन्हें भारत रत्न सम्मान दिया गया है।

AIMIM के राष्ट्रीय अध्यक्ष व संसद असदुद्दीन ओवैसी ने भारत रत्न को लेकर विवादस्पद बयान दिया है। अपने बयान में ओवैसी ने कहा कि सच तो यह है कि भारत रत्न ब्राह्मणों का क्लब है।

ओवैसी ने कहा कि सच यह भी है कि इस पुरस्कार के लिए कभी पारदर्शिता रही ही नहीं है। देश के सर्वोच्च पुरस्कार के बारे में ओवैसी द्वारा दिया गया यह बयान न सिर्फ दुखद है बल्कि बेहद शर्मनाक भी है।

दरअसल कुछ दिनों पहले सरकार ने भारत रत्न सम्मान सेनानाजी देशमुख, प्रणब मुखर्जी और भूपेन हजारिका को सम्मानित किया था। जानकारी के लिए आपको बता दें कि इससे पहले भी कर्नाटक जेडीएस के नेता दानिश अली ने देश के इस सर्वोच्च सम्मान के लिए विवादित बयान दिया था।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

जनता दल सेकुलर (JDS) के नेता दानिश अली ने कहा था कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी नागपुर में आरएसएस मुख्यालय में एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे, इसलिए उन्हें भारत रत्न सम्मान दिया गया है।

आपको बता दें कि इस साल गणतंत्र दिवस के मौके पर सरकार ने भारत रत्न के अलावा 112 विभूतियों को पद्म पुरस्कारों से नवाजा , जिसमें चार पद्म विभूषण, 14 पद्म भूषण और 94 पद्म श्री शामिल हैं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

गोटाभाया राजपक्षे
श्रीलंका में मुस्लिम संगठनों के आरोपों के बीच बौद्ध राष्ट्र्वादी गोटाभाया की जीत अहम है। इससे पता चलता है कि द्वीपीय देश अभी ईस्टर बम ब्लास्ट को भूला नहीं है और राइट विंग की तरफ़ उनका झुकाव पहले से काफ़ी ज्यादा बढ़ा है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,382फैंसलाइक करें
22,948फॉलोवर्सफॉलो करें
120,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: