Wednesday, August 4, 2021
Homeराजनीति'पानी की तरह है भाजपा-शिवसेना का रिश्ता, कोई कितनी भी कोशिश करे अलग नहीं...

‘पानी की तरह है भाजपा-शिवसेना का रिश्ता, कोई कितनी भी कोशिश करे अलग नहीं कर सकता’

महाराष्ट्र भाजपा के अध्यक्ष रह चुके मुनगंटीवार ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की अध्यक्षता में हुई बैठक के बाद बताया कि किसानों के मुद्दे पर बुलाई गई ये बैठक सफल रही। साथ ही उन्होंने कहा कि इन्तजार कीजिए क्योंकि कभी भी शुभ समाचार मिल सकता है।

महाराष्ट्र के वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने कहा है कि भाजपा और शिवसेना का रिश्ता पानी की तरह है। उन्होंने पानी का उदाहरण देते हुए पूछा कि कितनी भी कोशिश कर ले, कोई इसे अलग कर सकता है क्या? महाराष्ट्र भाजपा के अध्यक्ष रह चुके मुनगंटीवार ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की अध्यक्षता में हुई बैठक के बाद बताया कि किसानों के मुद्दे पर बुलाई गई ये बैठक सफल रही। साथ ही उन्होंने कहा कि इन्तजार कीजिए क्योंकि कभी भी शुभ समाचार मिल सकता है। इससे कयास लगाए जा रहे हैं कि भाजपा और शिवसेना मिल कर सरकार बनाने की ओर बढ़ रही है।

कैबिनेट की बैठक में शिवसेना के 6 मंत्री भी शामिल हुए। मंत्री रामदास कदम ने कहा कि चूँकि मुद्दा किसानों को लेकर था, इसीलिए वो लोग शामिल हुए। शिवसेना नेता ने कहा कि कल को कोई ये नहीं कह सकता कि कृषि से जुड़े मसलों पर बुलाई गई बैठक में शिवसेना ने भाग नहीं लिया। 1 दिन पहले भी मुनगंटीवार ने कहा था कि सरकार भाजपा की ही होगी और इसमें कोई ‘अगर-मगर’ की संभावना नहीं है। उन्होंने कहा था कि उनकी पार्टी शिवसेना का इन्तजार करेगी।

इससे पहले शरद पवार के बयान से शिवसेना को झटका लगा था। पवार ने साफ़ कर दिया था कि भाजपा और शिवसेना को ही जनादेश मिला है और उन्हें ही सरकार बनाना है। साथ ही एनसीपी सुप्रीमो ने विपक्ष में बैठने की घोषणा कर दी। पवार ने जब ये बयान दिया, उससे कुछ देर पहले ही शिवसेना नेता संजय राउत ने उनसे मुलाक़ात की थी। राउत ने कहा था कि बैठक के दौरान राज्य के राजनीतिक परिदृश्य को लेकर चर्चा हुई और वरिष्ठ नेता पवार इसे लेकर चिंतित हैं।

भाजपा के मंत्री चंद्रकांत पाटिल ने भी कहा कि भाजपा और शिवसेना को ही सरकार बनाने का जनादेश मिला है और दोनों पार्टियाँ मिल कर सरकार बनाएँगी। उन्होंने कहा कि भाजपा के दरवाजे शिवसेना के लिए हमेशा के लिए खुले हैं। इसी बीच मंगलवार (नवंबर 5, 2019) की रात मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सरसंघचालक मोहन भागवत से भी मुलाक़ात की। उधर कॉन्ग्रेस नेता अहमद पटेल ने भी केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मुलाक़ात की। हालाँकि, उन्होंने कहा कि ये राजनीतिक मुलाक़ात नहीं थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

5 करोड़ कोविड टीके लगाने वाला पहला राज्य बना उत्तर प्रदेश, 1 दिन में लगे 25 लाख डोज: CM योगी ने लोगों को दी...

उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है, जिसने पाँच करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन का आँकड़ा पार कर लिया है। सीएम योगी ने बधाई दी।

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द सीएम हैप्पी एंड गे: केजरीवाल सरकार का घोषणा प्रधान राजनीतिक दर्शन

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द CM हैप्पी एंड गे, एक अंग्रेजी कहावत की इस पैरोडी में केजरीवाल के राजनीतिक दर्शन को एक वाक्य में समेट देने की क्षमता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,869FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe