Friday, July 1, 2022
Homeराजनीतिसरकारी कर्मचारी को गाली व धक्का देती BSP विधायक रामबाई का वीडियो वायरल

सरकारी कर्मचारी को गाली व धक्का देती BSP विधायक रामबाई का वीडियो वायरल

बसपा विधायक रामबाई यहीं नहीं रूकीं। उन्होंने मंडी कर्मचारी को धमकी देते हुए कहा, "यदि किसानों को परेशान किया आगे से तो पीटूंगी भी।"

मध्य प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी की दबंग विधायक रामबाई का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में रामबाई एक सरकारी कर्मचारी को गाली व धक्का देते हुए दिख रही हैं। इस वीडियो में यह देखा जा सकता है कि रामबाई मंडी के एक कर्मचारी को धक्का देते हुए गाड़ी तक ले जाती हैं। बसपा विधायक रामबाई यहीं नहीं रूकीं। उन्होंने मंडी कर्मचारी को धमकी देते हुए कहा, “यदि किसानों को परेशान किया आगे से तो पीटूंगी भी।”

इसके बाद विधायक मंडी कर्मचारी को लेकर पुलिस थाने पहुँच गईं। दरअसल पिछले कुछ दिनों से विधायक के पास मंडी कर्मचारी के ख़िलाफ़ शिकायत आ रही थी। इसके बाद विधायक ने मंडी पहुँचकर कर्मचारी के साथ दुर्व्यवहार किया।

कमलनाथ को अल्टीमेटम देने के बाद लाइम-लाइट में आई थीं रामबाई

मध्य प्रदेश में सरकार बनाने के बाद कमलनाथ को पहली बार गठबंधन दल की तरफ़ से विधायक रामबाई ने अल्टीमेटम दिया था। मध्य प्रदेश में इन दिनों सपा-बसपा की मदद से कॉन्ग्रेस की सरकार चल रही है। ऐसे में बसपा विधायक का अल्टीमेटम कमलनाथ सरकार के लिए किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है।

पिछले दिनों मध्य प्रदेश के पथरिया की विधायक रामबाई ने कहा, “कॉन्ग्रेस की तरफ से मुझे मंत्री बनाने का वादा किया गया है, मैं 20 जनवरी तक इंतज़ार करूँगी।” जब पत्रकारों ने उनसे पूछा कि क्या उनके बयान को सरकार के लिए ख़तरे के संकेत के रूप में देखा जाए तो इस सवाल के जवाब में रामबाई ने कहा कि सरकार को पता है कि उनकी सरकार अगले पाँच साल तक ऐसे ही चलेगी।

मध्य प्रदेश के 230 सीटों वाली विधानसभा में कॉन्ग्रेस के 114 सदस्य हैं जबकि भाजपा के 109 सदस्य।

भाजपा के लखन सिंह को हराकर रामबाई बनीं विधायक

पथरिया विधानसभा से बसपा प्रत्याशी रामबाई गोविंद सिंह ने भाजपा के लखन पटेल को 2205 वोटों से हरा दिया था। रामबाई इससे पहले जिला पंचायत की सदस्य थीं। विधायक बनने के बाद उन्हें अपने पद से इस्तीफ़ा देना पड़ा था। जानकारी के लिए आपको बता दें कि जिला पंयाचत अध्यक्ष पद के लिए चुनाव में रामबाई ने भाजपा उम्मीदवार शिवचरण पटेल को समर्थन दिया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसी को ईद तक तो किसी को 17 जुलाई तक मारने की धमकी, पटाखों का जश्न तो कहीं सिर तन से जुदा के स्टेटस:...

राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल के कत्ल के बाद कहीं पर फोड़े गए पटाखे तो कहीं पर हिन्दू संगठन के कार्यकर्ता को मिली कत्ल की धमकी।

कन्हैया, उमेश, किशन… हत्या का एक जैसा पैटर्न, लिंक की पड़ताल कर रही NIA: रिपोर्ट में बताया- PFI कनेक्शन की भी हो रही जाँच

उदयपुर में कन्हैया लाल को काटा गया। अमरावती में उमेश कोल्हे तो अहमदाबाद में किशन भरवाड की हत्या की गई। बताया जा रहा है कि एनआईए इनके बीच लिंक की पड़ताल कर रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
201,558FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe