Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाजSpiceJet का विमान 18 घंटे लेट: भूखे प्यासे यात्री हलकान, क्रू ने छुड़ाई जिम्मेदारियों...

SpiceJet का विमान 18 घंटे लेट: भूखे प्यासे यात्री हलकान, क्रू ने छुड़ाई जिम्मेदारियों से अपनी जान

स्पाइस जेट एयरलाइन कर्मियों के रूखे व्यवहार के कारण यात्रियों ने मामले की शिकायत DGCA उच्च अधिकारियों से करने का मन बना लिया है जिसके लिए 72 में से 50 यात्रियों ने एक आवेदन भी तैयार किया गया है।

स्पाइसजेट की कोलकाता से पटना आने वाली फ्लाइट SG377 शनिवार की रात मौसम खराब होने के कारण वाराणसी की ओर डायवर्ट कर दी गई। हालाँकि मौसम 2 घंटे बाद ठीक हो गया लेकिन पायलट की ड्यूटी पूरी हो जाने के कारण शाम 7:25 पर फ्लाइट पर सवार पैसेंजर्स को सुबह तक वाराणसी एयरपोर्ट पर विमान के भीतर ही बैठे रहना पड़ा जिसके कारण उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ा।

रविवार (अप्रैल 7, 2019) की सुबह दूसरे पायलट की व्यवस्था करके फ्लाइट में सवार पैसेंजर्स को पटना एयरपोर्ट पर पहुँचाया गया। इस दौरान फ्लाइट में 72 लोग सवार थे। प्रभात खबर में छपी रिपोर्ट के अनुसार पटना पहुँचने के बाद उनमें से कई यात्रियों ने एयरलाइन के कर्मियों के व्यवहार को काफ़ी निराश करने वाला बताया।

दरअसल, वाराणसी एयरपोर्ट पर फ्लाइट खड़े रहने के दौरान पैसेंजर्स को न तो कोई फूड पैकेट दिया गया और न ही चाय कॉफी के लिए पूछा गया। यात्रियों की माने तो इस दौरान फ्लाइट का एसी भी खराब हो गया था। जब घुटन से वहाँ यात्रियों की हालत बिगड़ने लगी, तो काफ़ी हंगामे के बाद सुबह 8 बजे उन्हें चाय-कॉफी और स्नैक्स दिया गया।

रिपोर्ट की माने तो स्पाइस जेट एयरलाइन कर्मियों के रूखे व्यवहार के कारण यात्रियों ने मामले की शिकायत DGCA उच्च अधिकारियों से करने का मन बना लिया है। जिसके लिए 72 में से 50 यात्रियों ने एक आवेदन भी तैयार किया गया है जिसमें उन्होंने अपना नाम, फोन नंबर, और हस्ताक्षर भी किया।

यहाँ बता दें स्पाइसजेट की इस फ्लाइट ने कोलकाता से पहले की 6 घंटे की देरी पर उड़ान भरी थी। फ्लाइट का डिपार्चर टाइम पहले 6:15 PM था, जिसे बढ़ाकर पहले 7:25 PM कर दिया गया, फिर इसका समय रात के 10 और फिर 11 बजे किया गया। आखिर में रात 12 बजे यह फ्लाइट कोलकाता से रवाना हुई। लेकिन 1 बजे जब यह फ्लाइट पटना पहुँची तो लैंडिंग के लिए मौसम सही नहीं था।

एयरपोर्ट पर लैंडिंग के पहले प्रयास में असफलता के बाद बहुत देर तक विमान आसमान के ही चक्कर लगाता रहा। इसके बाद रनवे न दिखने के कारण दूसरे प्रयास में भी फ्लाइट की लैंडिंग मुमकिन नहीं हो पाई। विमान में ईंधन खत्म हो जाने के डर से उसे वाराणसी एयरपोर्ट डायवर्ट किया गया था। यहाँ पर विमान की लैंडिंग रात के 2 बजे हुई। वाराणसी एयरपोर्ट पर यात्रियों को भूखे प्यासे परेशानियों का सामना करना पड़ा। अगले दिन आखिरकार यात्रियों के दबाव पर सुबह 10:45 में उसी विमान को फ्लाइट संख्या SG9377 बना कर पटना लाया गया और दोपहर 12 बजे पटना एयरपोर्ट पर पहुंचकर यात्रियों ने राहत की सांस ली।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -