Wednesday, September 29, 2021
Homeराजनीतिअब फाँसी घर की जमीन कब्जाने में फॅंसे आजम खान, 32 रिश्तेदार-करीबियों पर होगा...

अब फाँसी घर की जमीन कब्जाने में फॅंसे आजम खान, 32 रिश्तेदार-करीबियों पर होगा मामला दर्ज

रामपुर जिला कारागार की जमीन के कागजों में हेरफेर कर इसे 30 लोगों के हाथों बेचा गया। आजम खान की पत्नी तंजीन फातिमा और बहन पर भी इस मामले में आरोप लगा है।

उत्तर प्रदेश के रामपुर जिला कारागार की फाँसी घर की जमीन की खरीद-बिक्री करने के आरोप में लगभग 32 लोगों के खिलाफ नायब तहसीलदार कृष्ण गोपाल की तरफ से गंज थाने में तहरीर दी गई है। इनके ख़िलाफ़ जल्द केस दर्ज होने की उम्मीद है।

यहाँ उल्लेखनीय है कि अभी कुछ दिन पहले भाजपा नेता आकाश सक्सेना ने इस फाँसी घर की जमीन पर कब्जे को लेकर जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह से शिकायत की थी और बताया था कि ये जमीन अब सांसद आजम खान के रिश्तेदारों और करीबियों के कब्जे में है। जिसके बाद डीएम ने जमीन की जाँच करवाई थी और मालूम चला था कि ये जमीन वाकई सरकारी है।

इस जाँच में खुलासा हुआ था कि ये जमीन किसी व्यक्ति के नाम कर चढ़ा दी गई थी, लेकिन कागजों में श्रेणी में सात (सरकारी) ही लिखा हुआ था। इस जमीन को 2 लोगों ने लगभग 30 लोगों को बेचा था। जिनमें आज़म खान की पत्नी तंजीन फातिमा और बहन पर भी आरोप लगा है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के मुताबिक जिलाधिकारी ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि जिन लोगों को जमीनें बेची गई हैं उसमें रामपुर के सांसद आजम खान के रिश्तेदारों और करीबियों के नाम भी शामिल हैं।

साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि मामले में जमीन खरीदने और बेचने वालों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए नायब तहसीलदार की ओर से गंज थाने में तहरीर दे दी गई है। इसके अलावा अब इस मामले में शामिल अन्य लोगों की पहचान की जा रही है। ताकि पता चल सके कि जमीन किसके दबाव में खरीदी-बेची गई थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘उमर खालिद को मिली मुस्लिम होने की सजा’: कन्हैया के कॉन्ग्रेस ज्वाइन करने पर छलका जेल में बंद ‘दंगाई’ के लिए कट्टरपंथियों का दर्द

उमर खालिद को पिछले साल 14 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था, वो भी उत्तर पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा के मामले में। उसपे ट्रंप दौरे के दौरान साजिश रचने का आरोप है

कॉन्ग्रेस आलाकमान ने नहीं स्वीकारा सिद्धू का इस्तीफा- सुल्ताना, परगट और ढींगरा के मंत्री पदों से दिए इस्तीफे से बैकफुट पर पार्टी: रिपोर्ट्स

सुल्ताना ने कहा, ''सिद्धू साहब सिद्धांतों के आदमी हैं। वह पंजाब और पंजाबियत के लिए लड़ रहे हैं। नवजोत सिंह सिद्धू के साथ एकजुटता दिखाते हुए’ इस्तीफा दे रही हूँ।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
125,032FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe