Saturday, July 24, 2021
Homeविविध विषयअन्यगैंगरेप पीड़िता FIR लिखवाने पहुँची थाने, पुलिस अधिकारी ने किया बलात्कार और बना ली...

गैंगरेप पीड़िता FIR लिखवाने पहुँची थाने, पुलिस अधिकारी ने किया बलात्कार और बना ली वीडियो – Pak की शर्मनाक घटना

अहमदपुर की ईस्ट पुलिस ने क्षेत्रीय पुलिस अधिकारी के आदेश पर सहायक सब-इंस्पेक्टर पर एक महिला के साथ बलात्कार करने के आरोप में मामला दर्ज कर लिया है।

पाकिस्तान में अहमदपुर की ईस्ट पुलिस ने क्षेत्रीय पुलिस अधिकारी (आरपीओ) के आदेश के तहत एक सहायक सब-इंस्पेक्टर (एएसआई) पर एक महिला के साथ बलात्कार करने के आरोप में मामला दर्ज किया है।

पाकिस्तानी अखबार डॉन में प्रकाशित खबर के मुताबिक पीड़िता पहले से ही सामूहिक बलात्कार की शिकार हो चुकी थी। जिसके कारण वह न्याय की गुहार लिए पुलिस के पास शिकायत करने पहुँची थी।

पाकिस्तान की ऊछ शरीफ शहर की रहने वाली पीड़िता का दावा है कि पुलिस अधिकारी मामले की जाँच का बहाना बनाकर उसे अपने घर ले गया। जहाँ पर पुलिस अधिकारी ने उसके साथ बलात्कार किया और साथ ही उसकी वीडियो भी बना ली। इसके बाद पुलिस अधिकारी ने उसे धमकी दी कि वह इस बारे में किसी को भी बताने की गलती न करे।

पीड़िता की मानें तो पुलिस अधिकारी ने उसे 12 फरवरी को बुलाया था और कहा था कि वह उसका बयान दर्ज करना चाहता है। लेकिन वहाँ जो कुछ भी हुआ, उसने वहाँ के प्रशासन पर भी सवाल खड़े कर दिए।

गौरतलब है कि पाकिस्तान में लगातार यौन हिंसा की घटनाएँ सामने आती रहती हैं। अभी पिछले साल नवंबर महीने में एक अस्पताल में बेहोश महिला के साथ स्टाफ के द्वारा रेप करने की खबर सामने आई थी।

लाहौर के सर्विस अस्पताल में हुई इस घटना में पीड़ित 35 वर्षीय महिला को इस बात का तब पता चला जब उसे दर्द हुआ और खून बहने लगा। इसके अलावा साल 2016 में काहना इलाके में एक डीएसपी पर अल्पसंख्यक लड़की के रेप का आरोप भी लगा था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NH के बीच आने वाले धार्मिक स्थलों को बचाने से केरल HC का इनकार, निजी मस्जिद बचाने के लिए राज्य सरकार ने दी सलाह

कोल्लम में NH-66 के निर्माण कार्य के बीच में धार्मिक स्थलों के आ जाने के कारण इस याचिका में उन्हें बचाने की माँग की गई थी, लेकिन केरल हाईकोर्ट ने इससे इनकार कर दिया।

कीचड़ मलती ‘गोरी’ पत्रकार या श्मशानों से लाइव रिपोर्टिंग… समाज/मदद के नाम पर शुद्ध धंधा है पत्रकारिता

श्मशानों से लाइव रिपोर्टिंग और जलती चिताओं की तस्वीरें छापकर यह बताने की कोशिश की जाती है कि स्थिति काफी खराब है और सरकार नाकाम है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,987FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe