Sunday, August 1, 2021
Homeराजनीतिहाथरस: कथित नक्सली महिला से CPIM नेता सीताराम येचुरी ने की थी मुलाकात, तस्वीरों...

हाथरस: कथित नक्सली महिला से CPIM नेता सीताराम येचुरी ने की थी मुलाकात, तस्वीरों से खुलासा

मीडिया में कथित नक्सली महिला के खुलासे से बाद अब ऐसी तस्वीरें सामने आ रही हैं जहाँ से पता चला है कि सीताराम येचुरी (Sitaram Yechury) जैसे कम्युनिस्ट नेता जब पीड़ित परिवार से मिलने हाथरस पहुँचे थे, तो उनकी मुलाकात इस कथित नक्सल महिला से भी हुई थी।

हाथरस मामले (Hathras Case) में नक्सल कनेक्शन के बाद अब कम्युनिस्ट कनेक्शन भी सामने आया है। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीएम) नेता सीताराम येचुरी की कुछ तस्वीरें कथित नक्सली महिला, जिसे कि ‘फेक भाभी’ भी कहा जा रहा है, से उनकी मुलाकात का संकेत देती नजर आ रही हैं।

दरअसल पिछले दो हफ्तों से पीड़िता के परिवार वालों के साथ एक महिला को देखा जा रहा था जिसके कथित तौर पर नक्सलियों से सम्बन्ध चर्चा का विषय बन चुके हैं। ख़बरों के मुताबिक हाथरस (Hathras) पीड़ित परिवार के साथ एक नक्सली महिला उसकी भाभी के रूप में 16 से 22 सितंबर के बीच रह रही थी।

हालाँकि कुछ अन्य स्रोतों से हमें पता चला कि कथित नक्सली महिला और भी पहले से परिजनों के साथ उनके घर में थी। फ़िलहाल उसके रहने की सही अवधि के बारे में कोई पुष्टि नहीं हुई है।

वहीं, मीडिया में कथित नक्सली महिला के खुलासे से बाद अब ऐसी तस्वीरें सामने आ रही हैं जहाँ से पता चला है कि सीताराम येचुरी (Sitaram Yechury) जैसे कम्युनिस्ट नेता जब पीड़ित परिवार से मिलने हाथरस पहुँचे थे, तो उनकी मुलाकात इस कथित नक्सल महिला से भी हुई थी। बता दें कि CPI और CPI-M नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने 6 अक्टूबर को परिवार से मुलाकात की थी। और मामले की न्यायिक जाँच की माँग की थी।

सीताराम येचुरी ने की नक्सली महिला से मुलाकात

तस्वीरों से ऐसा प्रतीत होता है मानो नक्सल महिला ने सीताराम येचुरी के साथ बातचीत की थी। तस्वीरें इस ओर भी इशारा कर रहीं है कि महिला बताए जा रहे समय से भी पहले से पीड़िता के परिवारवालों के साथ उनके घर पर रह रही थी।

पीड़िता की भाभी के साथ नक्सली महिला

योगी सरकार द्वारा गठित विशेष जाँच दल (एसआईटी) के अनुसार, नक्सली महिला मध्य प्रदेश के जबलपुर की रहने वाली है और लगातार पीड़िता की असली भाभी के संपर्क में रही है। उसकी पहचान उस समय सामने आई जब मामले तफ्तीश की दौरान जाँचकर्ताओं ने असली भाभी के कॉल रिकॉर्ड की जाँच की। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पीड़िता की असली भाभी नक्सली महिला के लगातार संपर्क में थी। वहीं एसआईटी ने अब कथित नक्सली महिला की असलियत को लेकर अभियान शुरू किया है।

हाथरस पीड़ितों से बात करते कम्युनिस्ट नेता

गौरतलब है कि स्थानीय खुफिया इकाई ( (लोकल इंटेलिजेंस यूनिट/LIU) ने हाथरस मामले की आड़ में इलाके में दंगे भड़काने और सरकार के खिलाफ एक बड़े आंदोलन का आयोजन करने की साजिश की चेतावनी दी थी। जिसके बाद पीड़ितों के परिवार के साथ एक नक्सली के रहने का खुलासा हुआ।

एसआईटी अब मामले के दो अलग-अलग पहलुओं पर जाँच कर रही है – हत्या का एंगल और असामाजिक तत्वों द्वारा मामले में बड़ी साजिश के माध्यम से सांप्रदायिक तनाव पैदा करने की कोशिश।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी चीन को भूले, Covid के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार, कहा- विश्व ‘इंडियन कोरोना’ से परेशान

पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि दुनिया कोरोना महामारी पर जीत हासिल करने की कगार पर थी, लेकिन भारत ने दुनिया को संकट में डाल दिया।

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,325FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe