Thursday, February 2, 2023
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअफगानिस्तान: रमजान में 15 आत्मघाती हमलों और 200 बम ब्लास्ट में गई 255 नागरिकों...

अफगानिस्तान: रमजान में 15 आत्मघाती हमलों और 200 बम ब्लास्ट में गई 255 नागरिकों की जान, 500 घायल

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने मंगलवार को कहा, "मैं सभी सुरक्षा बलों को धन्यवाद देता हूँ। उन्होंने 800 से अधिक घटनाओं को रोका और 800 से अधिक आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया। उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।"

अफगानिस्तान में रमजान के महीने की शुरुआत के बाद से अब तक तालिबान द्वारा 15 आत्मघाती और दर्जनों अन्य हमले किए गए हैं। यह जानकारी मंगलवार (मई 11, 2021) को अफगानिस्तान के आंतरिक मामलों के मंत्रालय ने दी। मंत्रालय के अनुसार 13 अप्रैल को शुरू हुए रमजान की इस अवधि में 200 विस्फोटों और 15 आत्मघाती बम विस्फोटों में कुल 255 नागरिक मारे गए। इस दौरान 500 से अधिक लोग घायल हुए हैं।

टोलोन्यूज के मुताबिक, अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने मंगलवार को कहा, “मैं सभी सुरक्षा बलों को धन्यवाद देता हूँ। उन्होंने 800 से अधिक घटनाओं को रोका और 800 से अधिक आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया। उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।” टोलोन्यूज द्वारा प्राप्त आँकड़ों के अनुसार, पिछले महीने (13 अप्रैल से 12 मई) के दौरान नागरिक मृत्यु की संख्या में 20 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

रविवार रात तालिबान ने घोषणा की कि वे ईद के त्योहार के लिए तीन दिवसीय युद्ध विराम का पालन करेंगे। बाद में सोमवार को, अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी ने भी सभी अफगान बलों को ईद के दौरान संघर्ष विराम का पालन करने का निर्देश दिया। अमेरिका के विशेष प्रतिनिधि ज़ल्माय ख़लीज़ाद ने मंगलवार को तालिबान और अफगान सरकार द्वारा ईद के त्योहार के दौरान देश में युद्ध विराम को बनाए रखने की घोषणाओं का स्वागत किया था।

खलीलजाद ने ट्वीट किया, “मैं तालिबान और अफगान सरकार द्वारा ईद संघर्ष विराम का पालन करने की घोषणाओं का स्वागत करता हूँ। हाल के हफ्तों में हिंसा भयावह रही है और अफगान लोगों ने इसकी कीमत चुकाई है।”

वहीं तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने ट्वीट कर कहा कि नेरख जिले के पुलिस मुख्यालय, इंटेलिजेंस डिपार्टमेंट और बड़ी संख्या में आर्मी बेस पर कब्जा जमा लिया गया है। तालिबान के प्रवक्ता ने कहा कि हमने दुश्मनों के कई सैनिकों को मार दिया है। इसके अलावा कई लोग जख्मी हुए हैं और कई लोगों को हमने जिंदा अगवा कर लिया है।

सैनिकों के तमाम हथियारों, गोला बारुदों और सैन्य वाहनों को भी कब्जे में ले लिया है। अफगानिस्तान में रमजान महीने के दौरान ही तालिबान की ओर से की गई हिंसा में 255 नागरिकों की मौत हुई है। इसके अलावा 500 लोग जख्मी हुए हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिमों कैदियों की जमानत के लिए बजट में मोदी सरकार ने नहीं किया है कोई विशेष प्रावधान, मीडिया की भ्रामक रिपोर्टों का जानिए सच

मोदी सरकार ने बजट में मुस्लिम कैदियों की रिहाई और जमानत राशि में मदद का कोई विशेष प्रावधान नहीं किया।

फतेहपुर में हिंदुओं को ईसाई बनाने का पैसा कहाँ से आया, किसको मिला, सब कुछ गवाह आईजेक फ्रेंक ने बताया: धर्मांतरण की साजिश के...

फतेहपुर में चल रहे अंतरराष्ट्रीय ईसाई धर्मांतरण रैकेट को लेकर गवाह डॉ.आईजेक फ्रेंक ने चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। 38 नाम उजागर करते हुए उनकी भूमिका भी बताई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
243,653FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe