Friday, May 31, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयभारत के खिलाफ दुष्प्रचार कर रही वैश्विक मीडिया को ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर मैथ्यू हेडेन ने...

भारत के खिलाफ दुष्प्रचार कर रही वैश्विक मीडिया को ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर मैथ्यू हेडेन ने लताड़ा, अपने लेख से जीता दिल

“भारत महामारी की दूसरी लहर की मार के बीच में है। इससे पहले ऐसा कभी नहीं देखा गया। यह वायरस के खतरनाक संक्रमण से जूझ रहा है, बावजूद इसके विश्व मीडिया ने 1.4 बिलियन वाले एक देश को लताड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ा, जहाँ किसी भी सरकारी योजना को शुरू करके सफल बनाना अपने आपमें बड़ी चुनौती है।”

कोरोना वायरस की दूसरी लहर से जूझ रहे भारत की ग्लोबल साख को खराब करने के लिए वैश्विक मीडिया बड़े पैमाने पर दुष्प्रचार कर रही है। अब तक चीनी वायरस के खिलाफ बहादुरी से लड़ रहा भारत ग्लोबली लेफ्ट-लिबरल्स द्वारा शुरू किए गए इंफॉर्मेशन वार का भी सामना कर रहा है।

इन सब के बीच ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर मैथ्यू हेडेन ने भारत का समर्थन किया है। उन्होंने कोरोना के खिलाफ युद्ध लड़ रही भारत सरकार की आलोचना के लिए अंतरराष्ट्रीय मीडिया की जमकर खिंचाई की। भारत की आलोचना किए जाने से निराश हेडेन ने एक पोस्ट में लिखा, “यह हजारों मील दूर बैठे लोगों के लिए नहीं है।” बता दें कि जहाँ एक तरफ वैश्विक मीडिया भारत की छवि को धूमिल करने के लिए दुष्प्रचार कर रहा है तो वहीं दुनियाभर के कई देश भारत की मदद के लिए संसाधन भी भेज रहे हैं।

गौरतलब है कि हेडेन भारत में आईपीएल में हिस्सा लेने के लिए आए थे। एक लेटर लिखकर उन्होंने कहा, “भारत महामारी की दूसरी लहर की मार के बीच में है। इससे पहले ऐसा कभी नहीं देखा गया। यह वायरस के खतरनाक संक्रमण से जूझ रहा है, बावजूद इसके विश्व मीडिया ने 1.4 बिलियन वाले एक देश को लताड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ा, जहाँ किसी भी सरकारी योजना को शुरू करके सफल बनाना अपने आपमें बड़ी चुनौती है।”

तमिलनाडु को बताया आध्यात्मिक घर

तमिलनाडु को अपना “आध्यात्मिक घर” बताते हुए पूर्व ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज ने कहा, “मैं अब एक दशक से अधिक समय से भारत का दौरा कर रहा हूँ और पूरे देश की यात्रा कर चुका हूँ, खासकर तमिलनाडु, जिसे मैं अपना “आध्यात्मिक घर” मानता हूँ। मेरे मन में हमेशा उन नेताओं और सरकारी अधिकारियों के लिए सर्वोच्च सम्मान रहा है, जिन्हें इस तरह के विविध और विशाल देश को चलाने का काम सौंपा गया है।”

हेडेन ने ऑस्ट्रेलिया स्थित एक थिंक टैंक “इंस्टीट्यूट फॉर ऑस्ट्रेलिया-इंडिया एंगेजमेंट” के लिए लिखा, “मैं जहाँ भी गया, लोगों ने प्यार और स्नेह से मेरा स्वागत किया, जिसके लिए मैं उनके कर्ज में डूबा रहा। मैं गर्व के साथ दावा कर सकता हूँ कि मैंने भारत को वर्षों से करीब से देखा है और यही कारण है कि न केवल इस कठिन समय में भारत के लिए, बल्कि निंदा करने वाले मीडिया के लिए भी मेरा दिल धड़कता है, जिन्होंने भारत, उसके लोगों और उसकी असंख्य चुनौतियों को समझने के लिए जरा सा भी समय नहीं दिया। हेडेन ने ऐसे लोगों से भारत को समझने के लिए समय सुनिश्चित करने की अपील की है।”

इसके अलावा, भारत के खिलाफ पक्षपातपूर्ण मीडिया कवरेज पर अपनी राय साझा करते हुए मैथ्यू हेडन ने लिखा, “एक क्रिकेटर और खेल के प्रेमी के रूप में मैंने उस खेल के साथ अपना जुड़ाव बनाए रखा है, जिसने मुझे इंडियन प्रीमियर लीग को कवर करने के लिए भारत आने की अनुमति दी है। मेरे कई साथी भी सालों से आईपीएल में खेल रहे हैं। ऐसे समय में जब दुनिया भारत के लिए दरवाजे बंद कर रही है और सरकार को लताड़ रही है, मैंने भारत में रहते हुए अपने विचार साझा करने के बारे में सोचा, ताकि हजारों मील दूर बैठे लोगों के लिए एक दृष्टिकोण उपलब्ध न हो।”

भारत ने मैथ्यू हेडन के समर्थन को सराहा

महिंद्रा समूह के अध्यक्ष आनंद महिंद्रा ने भारत के लिए हेडन की भावनात्मक पोस्ट पर ध्यान दिया और पूर्व क्रिकेटर की सराहना की।

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “भारत पर एक हार्दिक ब्लॉग @HaydosTweets के अंश। एक ऐसा क्रिकेटर जिसका दिल अपने ऊँचे कद के कद से भी बड़ा है। सहानुभूति और आपके स्नेह के लिए धन्यवाद।”

देश के सूचना आयुक्त उदय माहूरकर ने भी मैथ्यू हेडेन की भारत पर उनके लेख के लिए प्रशंसा की।

एक अन्य सोशल यूजर ने कहा कि मैथ्यू हेडेन ज्यादातर भारतीयों से ज्यादा भारतीय हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

200+ रैली और रोडशो, 80 इंटरव्यू… 74 की उम्र में भी देश भर में अंत तक पिच पर टिके रहे PM नरेंद्र मोदी, आधे...

चुनाव प्रचार अभियान की अगुवाई की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने। पूरे चुनाव में वो देश भर की यात्रा करते रहे, जनसभाओं को संबोधित करते रहे।

जहाँ माता कन्याकुमारी के ‘श्रीपाद’, 3 सागरों का होता है मिलन… वहाँ भारत माता के 2 ‘नरेंद्र’ का राष्ट्रीय चिंतन, विकसित भारत की हुंकार

स्वामी विवेकानंद का संन्यासी जीवन से पूर्व का नाम भी नरेंद्र था और भारत के प्रधानमंत्री भी नरेंद्र हैं। जगह भी वही है, शिला भी वही है और चिंतन का विषय भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -