Tuesday, June 25, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयबांग्लादेशी MP की हत्या के बाद साजिशकर्ता भागा अमेरिका... खुफिया विभाग के अधिकारी जाँच...

बांग्लादेशी MP की हत्या के बाद साजिशकर्ता भागा अमेरिका… खुफिया विभाग के अधिकारी जाँच करने भारत पहुँचे, इंटरपोल से लगाएँगे पता

भारत में आने के बाद हारुनन राशिद मिंटो ने बताया, कि उनके मुल्क के कानून में एक धारा है जिससे व्यक्ति बांग्लादेश से बाहर कोई अपराध करता है तो वह उस पर जाँच कर सकते हैं। इसीलिए वह भारत में घटनास्थल का दौरा करने आए हैं और बांग्लादेशी शाहीन मियाँ की जानकारी जुटाने में लगे हैं।

बांग्लादेशी सांसद अनवारुल अजीम अनार की हत्या के मामले में जाँच के लिए बांग्लादेश से अधिकारी भारत आ गए हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार हत्या ममाले की जानकारी जुटाने के लिए पड़ोसी मुल्क के खुफिया विभाग के प्रमुख रविवार को भारत आए हैं। उनके साथ बांग्लादेश के दो अन्य अधिकारी भी कोलकाता पहुँचे हैं। इनके नाम सईदुर रहमान और अब्दुल अहर भी शामिल हैं।

भारत में आने के बाद हारुनन राशिद मिंटो ने बताया, “हम अभी यहाँ पहुँचे हैं। आप सभी जानते हैं कि हमारे आपराधिक अधिनियम में अतिरिक्त प्रादेशिक अपराध नामक एक धारा है जिसका अर्थ है कि यदि कोई व्यक्ति बांग्लादेश से बाहर कोई अपराध करता है तो हम इस अतिरिक्त प्रादेशिक अपराध धारा के अंतर्गत उन अपराधों की जाँच कर सकते हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “आप सभी जानते हैं कि लोकप्रिय सांसदों में से एक अनवारुल अजीम अनार की बुरी तरह हत्या की गई है। उनके शरीर के टुकड़े-टुकड़े कर दिए गए थे। इस हत्या के मास्टरमाइंड सभी बांग्लादेशी हैं। हत्या की साजिश बांग्लादेश में रची गई थी। अब हमारा मुख्य काम जांच को आगे बढ़ाना है। हम भारत में घटनास्थल का दौरा करने आए हैं। हम सीसीटीवी फुटेज की जांच करेंगे। कोलकाता पुलिस और बांग्लादेश पुलिस ने उनके बीच विभिन्न जानकारी साझा की है।”

बांग्लादेश के खुफिया विभाग के प्रमुख राशिद ने कहा, “शायद मुख्य साजिशकर्ता अख्तरुज्जमां काठमांडू से दुबई के रास्ते अमेरिका भाग गया होगा। हम इंटरपोल के जरिए उसका पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं। हम सीआईडी कार्यालय जाएँगे। हम सीआईडी के अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। हम गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ करने की कोशिश करेंगे ताकि हमें और जानकारी मिल सके।”

गौरतलब है कि इस केस में मुख्य साजिशकर्ता के तौर पर अजीम के दोस्त शाहीन मियाँ का नाम आया है। शाहीन मियाँ बांग्लादेश का निवासी था जिसे बाद में अमेरिका की नागरिकता मिल गई। कुछ दिन पहले उसने इस मामले में कहा था कि उसे इस संबंध में कुछ नहीं पता है। उसे दोस्त की हत्या के बारे में अखबारों से पता चला। वहीं बांग्लादेश की खुफिया पुलिस की जाँच में हर तरह से सिर्फ उसका नाम ही मुख्य साजिशकर्ता के तौर पर आया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -