Wednesday, May 22, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयबांग्लादेश में फिर हिंदू पर लगा ईशनिंदा का आरोप: गाने की पंक्ति लिखने पर...

बांग्लादेश में फिर हिंदू पर लगा ईशनिंदा का आरोप: गाने की पंक्ति लिखने पर मुस्लिम भीड़ भड़की, पुलिस ने गिरफ्तार किया

40 वर्षीय हिंदू व्यापारी को 28 अप्रैल को शरियतपुर से गिरफ्तार किया गया। उनकी गिरफ्तारी बांग्लादेश की सीसीपी की धारा 54 के तहत हुई। इस धारा में व्यक्ति की गिरफ्तारी बिन वारंट की जाती है।

इस्लामी देशों में अल्पसंख्यक हिंदुओं पर होते अत्याचार कोई नई बात नहीं हैं। हाल में बांग्लादेश में एक हिंदू व्यापारी को एक गाने की चंद पंक्ति लिखकर साझा करने पर गिरफ्तार कर लिया गया और उस पर आरोप लगाया गया कि उसने मुस्लिम समुदाय के लोगों की मजहबी भावनाएँ आहत की हैं।

जानकारी के मुताबिक, संजय ने लिखा था, “सुन्नत ए खतना दिले जोड़ी होए मुसलमान, ताहोले नारी जातिर की होय बिधान ( यानी यदि खतना किसी पुरुष के लिए मुस्लिम बनने का तरीका है, तो, महिलाओं के लिए कौन सा नियम लागू होता है)”

ये गाना 18वीं सदी के बंगाली गायक ललन फकीर पर था। उन पर बंगाली लोक गायक कार्तिक दास ने 2016 में गीत लिखा था जिसका शीर्षक- सब लोके कोय लान की जात संसारे(जो ललन का विश्वास था वही सब लोग कहते हैं) था।

इसी पोस्ट को शेयर करने पर संजय के खिलाफ कार्रवाई हो गई। 40 वर्षीय हिंदू व्यापारी को 28 अप्रैल को शरियतपुर से गिरफ्तार किया गया। उनकी गिरफ्तारी बांग्लादेश की सीसीपी की धारा 54 के तहत हुई। इस धारा में व्यक्ति की गिरफ्तारी बिन वारंट की जाती है।

बताया जा रहा है कि संजय के अरेस्ट होने से पहले मुस्लिमों ने उनके घर के बाहर जमकर हंगामा किया था और यही सब देखते हुए किसी भी अनहोनी को रोकने के लिए पुलिस ने जल्दीबाजी में संजय को गिरफ्तार किया।

इस संबंध में एसपी महबूबउल आलाम बोले कि किसी भी प्रकार की हिंसा को रोकने के लिए उन्होंने जल्द से जल्द आरोपित पकड़ा और कोर्ट में पेशी के बाद उसे जेल भेजा। एसपी ने बताया कि स्थानीयों में इस पोस्ट के खिलाफ अभी भी गुस्सा है। इसलिए पुलिस लगातार स्थिति पर नियंत्रण बनाए हुए है।

वहीं 29 अप्रैल को दोबारा संजय की पेशी हुई जहाँ उनकी बेल मामले में सुनवाई हुई। इस बीच कई बांग्लादेशियों ने उनके पक्ष में समर्थन दिखाया और वही गाना गुनगुनाते हुए पुलिस को चुनौती दी थी कि वो आकर सबको गिरफ्तार करें।

बता दें कि इस्लामी मुल्कों में इस्लामी कट्टरपंथी अक्सर हिंदुओं पर अपना रौब बनाने के लिए उनपर अत्याचार करके दिखते हैं। इस बार इन लोगों ने संजय को शिकार बनाया है। संजय ने जिन ललन फकीर का गाना शेयर किया था वो एक समय के मशहूर गायब थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -