Friday, September 17, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयलेबनान: एक महीने बाद बेरूत में फिर लगी भयंकर आग, बंदरगाह में हुआ हादसा

लेबनान: एक महीने बाद बेरूत में फिर लगी भयंकर आग, बंदरगाह में हुआ हादसा

यह आग बंदरगाह के उस हिस्से में लगी थी, जो 'फ्री जोन' कहे जाने वाले एक प्रमुख राजमार्ग के करीब है। यह वह क्षेत्र है जहाँ कंपनियाँ कस्टम के समान खत्म होने के बाद इम्पोर्ट सामानों को स्टोर करती हैं।

लेबनान की राजधानी बेरूत में करीब एक महीने पहले भयंकर ब्लास्ट हुआ था। वहीं आज बंदरगाह पर फिर भीषण आग लग गई है। चारों तरफ काला धुँआ और आग की भयंकर ऊँची-ऊँची लपटे उठती देखी गई।

खबरों के मुताबिक, यह आग बंदरगाह के उस हिस्से में लगी थी, जो ‘फ्री जोन’ कहे जाने वाले एक प्रमुख राजमार्ग के करीब है। यह वह क्षेत्र है जहाँ कंपनियाँ कस्टम के समान खत्म होने के बाद इम्पोर्ट सामानों को स्टोर करती हैं।

बंदरगाह के अंतरिम महाप्रबंधक बासिम अल-क़ैसी ने बताया कि आग एक निजी कंपनी के गोदाम में लगी थी जो तेल का इम्पोर्ट करती थी। आग गोदाम में रखे तेल से लगनी शुरू हुई थी। इसके बाद आग उस इलाक़े तक पहुँची जहाँ रबड़ के टायर रखे थे। रबड़ की टायरों और तेल में आग लगने की वजह से इस हादसे ने भयानक रूप ले लिया। हालाँकि, उन्होंने कहा कि अभी तक यह पता नहीं चला है कि किस वजह से आग लगी।

सेना के हेलीकॉप्टरों की सहायता से आग बुझाने का काम शुरू हो चुका है। इस आग ने शहर भर के लोगों को दहला दिया है। हालाँकि, यह हादसा पहले की तरह नहीं था, जिसमें 163 लोगों की मौतें और अरबों डॉलर का नुकसान हुआ था।

प्रधानमंत्री सहित विभिन्न कैबिनेट मंत्रियों ने विस्फोट के बाद अपना इस्तीफा सौंप दिया था। वहीं देश में भारी विरोध प्रदर्शन ने तनाव को और बढ़ा दिया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘फर्जी प्रेम विवाह, 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का यौन शोषण व उत्पीड़न’: केरल के चर्च ने कहा – ‘योजना बना कर हो रहा...

केरल के थमारसेरी सूबा के कैटेसिस विभाग ने आरोप लगाया है कि 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का फर्जी प्रेम विवाह के नाम पर यौन शोषण किया गया।

डॉ जुमाना ने किया 9 बच्चियों का खतना, सभी 7 साल की: चीखती-रोती बच्चियों का हाथ पकड़ लेते थे डॉ फखरुद्दीन व बीवी फरीदा

अमेरिका में मुस्लिम डॉक्टर ने 9 नाबालिग बच्चियों का खतना किया। सभी की उम्र 7 साल थी। 30 से अधिक देशों में है गैरकानूनी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,891FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe