Sunday, August 1, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'पिता को मुझे दर्द देना पसंद है... ऐसा सिर्फ सेक्स ट्रैफिकिंग में होता है':...

‘पिता को मुझे दर्द देना पसंद है… ऐसा सिर्फ सेक्स ट्रैफिकिंग में होता है’: अमेरिकी सिंगर ब्रिटनी स्पीयर्स ने लगाई आजादी की गुहार

“ऐसा सिर्फ सेक्स ट्रैफिकिंग में होता है। किसी से उसकी मर्जी के बिना काम करवाना। उसेसे हर चीज ले लेना- क्रेडिट कार्ड, कैश, फोन, पासपोर्ट...”

अमेरिकी पॉप सिंगर ब्रिटनी स्पीयर्स और उनके पिता जेमी स्‍पीयर्स के बीच विवाद बढ़ने लगा है। बुधवार (जून 23, 2021) को सिंगर ब्रिटनी ने इस संबंंध में कोर्ट में अपना बयान दर्ज करवाया। उन्होंने फोन पर हुई कार्रवाई में कोर्टरूम में रोते हुए कहा कि उन्हें 13 साल हो गए सब कुछ सहते हुए अब उन्हें बस उनकी आजादी वापस चाहिए।

कोर्ट के समक्ष उन्होंने उस ‘कंजरवेटरशिप’ (संरक्षण व्यवस्था) को समाप्त करने का अनुरोध किया, जिसके जरिए 2008 से उनका जीवन एवं धन नियंत्रित किया जा रहा है। 39 वर्षीय स्पीयर्स ने कोर्ट में अपनी बात रखते हुए बताया कि उन्हें हमेशा से नकारा गया जिसके चलते वह शॉक में हैं और आहत हैं।

बता दें कि मानसिक तौर पर ठीक नहीं होने की वजह से कानूनी तौर पर 2008 से ब्रिटनी की देखभाल उनके पिता कर रहे हैं। जेमी स्पीयर्स के पास कानूनी अधिकार है, जिससे वो अपनी बेटी के जीवन से जुड़ा हर फैसला ले सकते हैं। इसमें उनकी पर्सनल लाइफ और पैसों से जुड़े मामले भी शामिल हैं।

ब्रिटनी इस कंजरवेटरशिप से निकलने के लिए बहुत पहले से लगी हुई हैं। लेकिन इससे पहले कभी उनका बयान सार्वजनिक नहीं किया गया। आखिरी दफा उन्होंने 2019 में कोर्ट के सामने बात रखी थी। इस बार कोर्ट की सुनवाई के दौरान ब्रिटनी का समर्थन करने वाली अदाकारा जेनिफर प्रेस्टन ने कहा,

“मैं एक माँ और उनकी एक प्रशंसक हूँ। हम यहाँ सुनने आए हैं कि वह क्या कहना चाहती हैं। उनके साथ पिछले 13 साल से एक बच्चे की तरह व्यवहार किया जा रहा है, उनका उनके या उनके मंगेतर के जीवन पर कोई नियंत्रण नहीं है, जबकि वह यह सब संभालने में सक्षम हैं।”

उल्लेखनीय है कि स्पीयर्स ने कोर्ट में दिए अपने भावुक बयान में कहा, “मैं चाहती हूँ कि बिना किसी मूल्यांकन के इस ‘कंजरवेटरशिप’ को समाप्त किया जाए।” वह कहती है, “अगर मैं काम कर सकती हूँ तो मुझे कंजरवेटरशिप में नहीं रहना चाहिए। कानून को बदलने की जरूरत है। मुझे लगता है कि ये कंजरवेटरशिप एक अभिशाप है जिसमें मैं अपनी पूरी जिंदगी नहीं जी पा रही।”

बयान में उन्होंने ऐसे कानून-व्यवस्था और अपने पिता की निंदा की जिन्होंने उनके अधिकतर अस्तित्व को नियंत्रित किया है। उन्होंने कहा, ‘‘ कंजरवेटरशिप’ से मेरा भला होने से अधिक नुकसान हो रहा है। मैं एक जिंदगी पाने की हकदार हूँ।”

उन्होंने कहा कि वह अपने प्रेमी से शादी करना चाहती हैं और एक और बच्चा चाहती हैं, लेकिन ‘कंजरवेटरशिप’ व्यवस्था उन्हें इसकी अनुमति नहीं दे रही है। सुनवाई के दौरान स्पीयर्स के करीब 100 प्रशंसक अदालत के बाहर एकत्रित हुए और हाथ में ‘ब्रिटनी को अब आजाद करें’ और ‘ब्रिटनी की जिंदगी से बाहर निकलो’ की तख्ती लिए नजर आए।

रिपोर्ट्स बताती है कि स्पीयर्स लंबे समय से कंजरवेटरशिप को खत्म करने का प्रयास कर रही थीं। उन्होंने कोर्ट के सामने बयान देते हुए बताया भी कि वह पिछली बार जब कोर्ट में आई तो उनकी सुनवाई हुई। इस बीच उनके साथ कई चीजें हुई। उन्होंने बताया कि उन्हें 2018 में एक टूर पर भेजा गया, जहाँ वह जाना भी नहीं चाहती थी। जब उन्होंने इनकार किया तो उन्हें कहा गया कि ऐसा करने पर उनपर कार्रवाई हो सकती हैं।

कोर्ट में जज के सामने आपबीती सुनाते हुए स्पीयर्स ने ये भी कहा कि वो चाहती है कि जज के सामने हमेशा फोन के सामने बैठी रहें क्योंकि जैसे ही वह यहाँ से हटेंगी उन्हें बस और बस ना सुनने को मिलेगा। वह अपने अकेलेपन की बात भी जज को बताती हैं और कहती हैं कि उन्हें बच्चा पैदा करने का और जिंदगी जीने का अधिकार है जैसे कि सबको होता है।

हालाँकि जब भी उन्होंने अपने परिवार विस्तार की बात सोची उन्हें हमेशा कंजरवेटरशिप की उलाहना दे दी गई। साथ ही उन्हें डॉक्टर के पास भी नहीं जाने दिया गया। उनके मुताबिक उन्हें ऐसा लगता है कि वह एक रीहैब प्रोग्राम में हैं। जबकि जहाँ वह रहती हैं वह उनका घर हैं। वह चाहती हैं कि वह अपने प्रेमी के साथ उसकी कार में घूमें और थेरेपिस्ट से हफ्ते में एक बार मिलें वो भी अपने घर पर, न कि दो-दो बार, क्योंकि वह जानती हैं कि उन्हें कम इलाज की जरूरत है।

वह बताती हैं, “मेरे पिता को मेरे ऊपर कंट्रोल रखकर मुझे दर्द देने में मजा आता है। उन्हें ये सब बहुत पसंद है।” अपने पिता की मनमानियों और उनकी इच्छा के विरुद्ध उनसे काम कराए जाने की तुलना ब्रिटनी सेक्स ट्रैफिकिंग से भी करती हैं। वह कहती हैं, “इन सबके जैसा सिर्फ सेक्स ट्रैफिकिंग होता है। किसी को उसकी मर्जी के बिना काम करवाना उनसे हर चीज ले लेना- क्रेडिट कार्ड, कैश, फोन, पासपोर्ट… और फिर उसे ऐसे घर पर रखना जहाँ अन्य काम करने वाले लोग भी हों…।”

ब्रिटनी बताती हैं कि उनके घर में सब उनके साथ रहते हैं। एक नर्स है जो 24 घंटे सातों दिन सुरक्षा में रहती हैं। एक शेफ है जो आता है और खाना बनाता है। ब्रिटनी के अनुसार, ये सब उन्हें देखते हैं हर दिन-हर सुबह, हर दोपहर और हर रात- वो भी नंगा। उनके मुताबिक उनकी कोई प्राइवेसी नहीं रह गई।

अपने बयान में ब्रिटनी यह भी कहती हैं कि उन्हें जो कहने को कहा जाता है उन्हें करना पड़ता है अगर वह नहीं करती तो वह अपने बच्चों और बॉयफ्रेंड को नहीं देख पाती। वह बताती हैं कि उन्होंने दुनिया से झूठ बोला कि वो ठीक हैं खुश हैं। उन्हें लगा ऐसा बोल देने से वो खुश रहेंगी, लेकिन उन्हें हमेशा नकारा गया। अब वह सच बता रही हैं कि वो इन सबसे खुश नहीं हैं। इनके कारण सो नहीं पाती हैं। बहुत सहने के बाद उन्हें गुस्सा निकालना पड़ रहा है। वह हर रोज रोती हैं। कोर्ट के सामने ब्रिटनी ने अपने पिता और प्रबंधन के ख़िलाफ़ कार्रवाई की माँग की है। उन्होंने कहा कि वो अपने पिता के लिए पिछले 13 साल से काम कर रही हैं। वह चाहती हैं कि वह अपने परिवार के ख़िलाफ़ केस करें और दुनिया के साथ अपनी कहानी साझा करें।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी चीन को भूले, Covid के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार, कहा- विश्व ‘इंडियन कोरोना’ से परेशान

पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि दुनिया कोरोना महामारी पर जीत हासिल करने की कगार पर थी, लेकिन भारत ने दुनिया को संकट में डाल दिया।

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,277FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe