Thursday, July 18, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयचीनियों ने ही खोली चीन की पोल, बताया- एक्टर को PLA फौजी बनाकर शूट...

चीनियों ने ही खोली चीन की पोल, बताया- एक्टर को PLA फौजी बनाकर शूट हुआ था गलवान फ्लैग ‘प्रोपेगेंडा’ Video

चीनी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म वीबो पर लोगों का दावा है कि 24 दिसंबर को वू जंग, जाई और कुछ पीएलए फौजी गलवान की ओर गए थे। उन्होंने वहाँ 4 घंटे शूटिंग की और फिर वहाँ से लौटे।

नए साल पर गलवान घाटी को लेकर फैलाए गए चीन के प्रोपेगेंडा का पर्दाफाश हुआ है। ये खुलासा चीन की माइक्रो ब्लॉगिंग साइट वीबो पर ही कुछ लोगों ने किया है। कहा जा रहा है कि जो वीडियो चीन ने 1 जनवरी को जारी की उसके लिए उन्होंने अपने फौजियों का नहीं बल्कि चीनी एक्टर्स का इस्तेमाल किया था। मीडिया रिपोर्ट्स दावा कर रही हैं कि वीबो पर लोगों ने वू जंग (Wu Jung) नामक एक्टर की फोटो शेयर करके बताया है कि सीसीपी ने वू जंग और उनकी बीवी जाई नन (Xie Nan) को वीडियो के लिए इस्तेमाल किया। ये दोनों टीवी होस्ट भी हैं।

इन रिपोर्टों में कहा गया है कि जिस जगह पर पूरा कार्यक्रम हुआ वह गलवान घाटी से लगभग 28 किलोमीटर पीछे थी। इसके अलावा यह भी ध्यान देने वाली बात है कि जिस एक्टर का नाम वीबो पर लोगों ने लिया है वह चीन की कई सारी फिल्मों में एक हीरो के तौर पर देखा जा चुका है। उसने कई बार पीएलए सैनिक के तौर पर भी फिल्मों में भूमिका निभाई है। वहीं उसकी पत्नी भी एक चीन की एक्ट्रेस है।

चीनी फौजियों पर बनी ‘द बैटल एट लेक चांगजीन (The Battle at Lake Changjin)’ में वू ने चीनी फौजी का ही रोल अदा किया था। ये फिल्म चीन की सबसे महंगी फिल्मों में से एक थी, जिसे चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के 100 साल पूरे होने पर सीसीपी द्वारा अप्रूव भी किया गया था।

चीनी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लोगों का दावा है कि 24 दिसंबर को वू, जाई और कुछ पीएलए फौजी गलवान की ओर गए थे। उन्होंने वहाँ 4 घंटे शूटिंग की और फिर वहाँ से लौटे।

बता दें कि एक ओर जहाँ ये खबरें मीडिया में आना शुरू हुई हैं। वहीं ये भी कहा जा रहा है कि जैसे ही वीबो पर यूजर्स ने चीन के प्रोपेगेंडे की पोल खोली और एक्टर्स की तस्वीर सहित सच्चाई बतानी शुरू की, प्लेटफॉर्म पर इन लोगों का अकॉउंट ही सस्पेंड कर दिया गया।

उल्लेखनीय है कि 1 जनवरी 2022 को जब चीन की ओर से प्रोपेगेंडा फैलाने के लिए वीडियो जारी की गई तो भारत में कई मीडिया संस्थानों ने इस निराधार खबर को आगे बढ़ाया। लेकिन कुछ ही समय बाद में रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने स्पष्ट कहा कि ये वीडियो चीन के प्रोपेगेंडा का हिस्सा है और उनके ही इलाके में शूट किया गया है। इसके अलावा प्रोपगेंडे के तूल पकड़ने पर गलवान घाटी से एक तस्वीर सामने आई थी जिसमें भारतीय सैनिक वहाँ तिरंगा लेकर खड़े थे। उनके बंकर पर भी तिरंगा साफ देखा गया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -