Monday, January 17, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयखालिस्तानी समूह द्वारा TikTok पर भारत विरोधी कंटेंट के कारण सिडनी में हरियाणवी समूह...

खालिस्तानी समूह द्वारा TikTok पर भारत विरोधी कंटेंट के कारण सिडनी में हरियाणवी समूह के साथ हुई झड़प, आरोपित जस्सी घायल

एक हरियाणवी व्यक्ति ने वीडियो के देखने के बाद उस पर आपत्ति जताई। जिसके बाद देखते ही देखते यह मामला गंभीर हो गया। मामला इतना आगे बढ़ गया कि दोनों पक्षों ने अपने सहयोगियों को हैरिस पार्क में इकट्ठा किया और हाथापाई पर उतर आए। झड़प से पहले पार्क में इकठ्ठा खालिस्तानियों ने खालिस्तान समर्थक नारे भी लगाए।

ऑस्ट्रेलिया के सिडनी के हैरिस पार्क में शुक्रवार (28 अगस्त, 2020) की रात को टिकटॉक पर हुए एक विवाद को लेकर खालिस्तानियों के एक समूह के साथ हरियाणा के लोगों का झड़प हो गया। यह विवाद सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कंटेंट डालने को लेकर हुआ था।

पंजाबी गायक कमल चौधरी के अनुसार, यह झड़प खालिस्तानी जस्सी द्वारा टिकटॉक पर खालिस्तान के समर्थन और भारत के विरोध में कंटेंट पोस्ट करने के बाद शुरू हुआ।

पंजाबी सिंगर का फेसबुक पोस्ट

एक हरियाणवी व्यक्ति ने वीडियो के देखने के बाद उस पर आपत्ति जताई। जिसके बाद देखते ही देखते यह मामला गंभीर हो गया। मामला इतना आगे बढ़ गया कि दोनों पक्षों ने अपने सहयोगियों को हैरिस पार्क में इकट्ठा किया और हाथापाई पर उतर आए। झड़प से पहले पार्क में इकठ्ठा खालिस्तानियों ने खालिस्तान समर्थक नारे भी लगाए।

बता दें कि इस झड़प में दोनों पक्षों के लोग घायल हो गए। वहीं मुख्य अपराधी जस्सी बुरी तरह घायल हो गया। ऑस्ट्रेलिया में हुए इस झड़प की वीडियो यूट्यूब पर इस वक्त वायरल हो रहा है।

जाहिर तौर पर मामला अभी तक ख़त्म नहीं हुआ है। जस्सी अभी भी धमकी दे रहा है कि वह बाद में हरियाणा के लोगों पर दोबारा से हमला करेगा। यह बात उसने तब कहीं जब वह झगड़े के दौरान बुरी तरह घायल हो गया था।

पंजाबी गायक ने कहा, “हम सभी यहाँ भारतीय पासपोर्ट के जरिए आए हैं। एक भारतीय के तौर पर हमनें सभी तरह के फॉर्म भरे है, ताकि हम यहाँ कड़ी मेहनत करके सबसे अच्छे कॉलेजों में दाखिला ले सके, साथ ही दुनिया के सर्वश्रेष्ठ देश मे रह सके लेकिन फिर भी हम इन अलगाववादी विचारों से छुटकारा नहीं पा सकते हैं, यह शर्मनाक है।”

एक व्यवसाय के मालिक नितिन सेतिया ने 9News को बताया, “यह जो कुछ हुआ अच्छा नहीं था।” “इस तरह की हरकत यहाँ के समुदाय के लिए बहुत बुरा है।” यह आशंका है कि इस तरह की गुंडागर्दी ऑस्ट्रेलिया में समुदाय की छवि को खराब करेगी। यह बताया गया है कि हरियाणवी और पंजाबी नेताओं ने स्थिति को नियंत्रित करने के लिए कदम बढ़ाया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

समाजवादी पार्टी की मान्यता खत्म करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में PIL, कैराना के मास्टरमाइंड नाहिद हसन की उम्मीदवारी पर घिरे अखिलेश यादव

सुप्रीम कोर्ट में अधिवक्ता अश्विनी उपाध्याय की ओर से समाजवादी पार्टी की मान्यता खत्म करने की माँग करते हुए PIL दाखिल की गई है।

‘ये हिन्दू संस्कृति में ही संभव’: जिस बाघिन के कारण ‘टाइगर स्टेट’ बन गया मध्य प्रदेश, उसका सनातन रीति-रिवाज से हुआ अंतिम संस्कार

मध्य प्रदेश के पेंच नेशनल पार्क की ‘कॉलरवाली बाघिन’ के नाम से मशहूर बाघिन का हिंदू रीति-रिवाज से अंतिम संस्कार किया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
151,731FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe