Wednesday, June 29, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयPUBG में 'मूर्ति पूजा' पर भड़के सऊदी-कुवैत के उलेमा, कहा- इस्लाम का अपमान है...

PUBG में ‘मूर्ति पूजा’ पर भड़के सऊदी-कुवैत के उलेमा, कहा- इस्लाम का अपमान है नया वर्जन

पबजी के इस नए वर्जन में फूड, हॉट एयर बैलून जैसी कई नए फीचर्स जारी किए गए हैं। लेकिन इस्लामिक देशों में विवाद टोटेम्स को लेकर ही हुआ। दरअसल, इस वर्जन में टोटेम्स ताकतवर मूर्तियाँ है, जिनकी पूजा करके खिलाड़ी फिर से सेहतमंद हो सकता है और इसी के साथ उसे एनर्जी ड्रिंक, हेल्थ किट जैसी कई चीजे मिल जाती है।

सऊदी अरब और कुवैत में PUBG के नए वर्जन में ‘मूर्ति पूजा’ को शामिल किए जाने के कारण विवाद खड़ा हो गया है। गल्फ न्यूज की खबर के अनुसार, इस नए वर्जन को देखकर मुस्लिम समुदाय में खासी नाराजगी है। जबकि धार्मिक उलेमाओं ने इसे लेकर चेतावनी जारी कर दी है।

जानकारी के लिए बता दें कि Pubg का नया वर्जन मिस्टीरियन जंगल मोड के नाम से रिलीज हुआ है। इसमें ख़िलाड़ी मूर्ति पूजन करते दिखते हैं। अब इसी वर्जन को देखकर उलेमाओं ने प्रशासन से माँग की है कि इस तरह के इस्लाम विरोधी विचारों से वे बच्चों को बचाएँ। इस्लाम में मूर्ति पूजा प्रतिबंधित है।

रिपोर्ट्स के अनुसार, कुवैत विश्वविद्यालय में शरिया कॉलेज के प्रोफेसर डॉ. बासम अल शट्टी ने मीडिया को बताया कि गेम के कई अच्छे और बुरे पहलू हो सकते हैं। लेकिन पबजी ने मूर्ति पूजा के जरिए इस्लामिक मान्यताओं का उल्लंघन किया है और ये इस्लाम में सबसे बड़ा गुनाह है। इस्लाम में सिर्फ़ अल्लाह के सामने ही सिर झुकाया जाता है।

डॉ. बासम कहते हैं, “लाखों बच्चों और युवाओं का पसंदीदा ये गेम सिर्फ़ मनोरंजन नहीं है, बल्कि ये खतरनाक है, क्योंकि ये बहुदेववाद का पाठ पढ़ाता है, अगर बच्चे इसे खेलेंगे तो वे इसके आदी हो जाएँगे।”

इसी प्रकार बेसिक एजुकेशन कॉलेज के प्रोफेसर डॉ. राशिद अल अलीमी पबजी के नए वर्जन को लेकर कहते हैं, “ये मुस्लिमों के लिए बेहद खतरनाक है, क्योंकि ये ऐसी पीढ़ियाँ पैदा करेगा जिन्हें तौहीन या इस्लाम का अपमान करने वाले सिद्धांतों के बारे में कुछ नहीं पता होगा। इस्लाम एक ईश्वर वाले सिद्धांत में यकीन रखता है। अल्लाह ही इस दुनिया को बनाने वाला है और इसकी रक्षा करने वाला है।”

सऊदी अरब की इस्लामिक यूनिवर्सिटी में फंडामेंटल रिलीजन के प्रोफेसर डॉ. आरेफ बिन सुहैमी ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि इस्लाम, सहिष्णुता, संतुलन, सुधार, बराबरी और सहमति जैसी चीजें सिखाता है। साथ ही लोगों के हित में मध्यम मार्ग वाली सभी चीजों को प्रोत्साहित करता है।

उनके अनुसार, शरिया में स्विमिंग, शूटिंग, घुड़सवारी जैसे खेल खेलने की अनुमति है। लेकिन कुछ ऐसे गेम हैं जो इस्लाम में प्रतिबंधित हैं, जैसे गैंबलिंग यानी जुआ। उनका कहना है कि वीडिया गेम्स में कानून या धर्म विरोधी चीजों को लेकर प्रतिबंध लगाया जाता है। इसलिए, पबजी गेम का नया वर्जन विवादस्पद है, क्योंकि इस्लाम में मूर्ति पूजन बैन है।

यहाँ बता दें कि पबजी के इस नए वर्जन में फूड, हॉट एयर बैलून जैसी कई नए फीचर्स जारी किए गए हैं। लेकिन इस्लामिक देशों में विवाद टोटेम्स को लेकर ही हुआ। दरअसल, इस वर्जन में टोटेम्स ताकतवर मूर्तियाँ है, जिनकी पूजा करके खिलाड़ी फिर से सेहतमंद हो सकता है और इसी के साथ उसे एनर्जी ड्रिंक, हेल्थ किट जैसी कई चीजे मिल जाती है। इसलिए, पबजी खेलने वाले तमाम मुस्लिम इस नए वर्जन का विरोध कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि कुछ लोग तो अपना गुस्सा गेम में टोटेम्स को जलाकर जाहिर कर रहे हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘इस्लाम ज़िंदाबाद! नबी की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं’: कन्हैया लाल का सिर कलम करने का जश्न मना रहे कट्टरवादी, कह रहे – गुड...

ट्विटर पर एमडी आलमगिर रज्वी मोहम्मद रफीक और अब्दुल जब्बार के समर्थन में लिखता है, "नबी की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं।"

कमलेश तिवारी होते हुए कन्हैया लाल तक पहुँचा हकीकत राय से शुरू हुआ सिलसिला, कातिल ‘मासूम भटके हुए जवान’: जुबैर समर्थकों के पंजों पर...

कन्हैयालाल की हत्या राजस्थान की ये घटना राज्य की कोई पहली घटना भी नहीं है। रामनवमी के शांतिपूर्ण जुलूसों पर इस राज्य में पथराव किए गए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
200,225FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe