Thursday, August 5, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'चू#यों को चू#या बना रहे हैं, ऊपर से इंडिया के जहाज तो जा रहे...

‘चू#यों को चू#या बना रहे हैं, ऊपर से इंडिया के जहाज तो जा रहे हैं यार’ – फुस्स हुआ #KashmirHour

"मैंने अभी-अभी अपनी छत पर चढ़ कर देखना चाहा कि कितने बेवकूफ सड़क पर बाहर खड़े हैं। एक भी नहीं। साले चू#यों को चू#या बना रहे हैं।"

जम्मू-कश्मीर मामले में दुनिया तो दूर की बात, खुद पाकिस्तानियों ने अपने प्रधानमंत्री इमरान खान की गप्पों को सीरियसली लेना बंद कर दिया है। इसका सबूत पाकिस्तान को इमरान खान और उनकी पार्टी पीटीआई द्वारा आहूत #KashmirHour की असफलता है। न केवल ज़मीन पर पाकिस्तानी जनता में इसके प्रति ठंडी प्रतिक्रिया रही, बल्कि ट्विटर पर भी लोगों ने इसकी खिल्ली उड़ाई, जिसमें पाकिस्तानी भी शामिल रहे।

“साले, चू*** को चू*** बना रहे हैं”

पाकिस्तान के जाने-माने लेखक और स्तम्भकार सलमान रशीद ने ट्विटर पर लिखा, “मैंने अभी-अभी अपनी छत पर चढ़ कर देखना चाहा कि कितने बेवकूफ सड़क पर बाहर खड़े हैं। एक भी नहीं। साले चू#यों को चू#या बना रहे हैं।”

“मोदी तो ऊपर से गुज़र जाएगा”

पाकिस्तान में अपने ही देश में दूसरे देश के खिलाफ सरकार-प्रायोजित चक्काजाम से बहुत लोग खीझे नज़र आए। पाकिस्तान के किसी हाईवे पर पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेड पर जमा परेशान लोगों में से एक ने खीझ कर पूछा, “मोदी तो ऊपर से गुज़र जाएगा कुछ देर में!” इसके पहले एक दूसरे व्यक्ति को ट्विटर पर पोस्ट किए गए वीडियो में इस पूरी कवायद की व्यर्थता निम्न शब्दों में बयाँ करते हुए सुना जा सकता है:

“… बंद तो किए हैं, ऊपर से लेकिन इंडिया के जहाज तो जा रहे हैं यार!”

लाहौर में कारों के नीचे आने से बचते फिरे चक्काजाम करने वाले

एक दूसरे ट्विटर वीडियो में लाहौर के लिबर्टी चौक का नज़ारा देखा जा सकता है, जहाँ दो-चार कठमुल्ले पाकिस्तान का झंडा लेकर सड़क बंद करने खड़े तो हो गए, लेकिन उनकी कोई सुन ही नहीं रहा था। यहाँ तक कि सामने से आ रहीं गाड़ियों के न रुकने पर वे खुद कुचले जाने से बचने के लिए इधर-उधर सरकते नज़र आए।

अंडे खाने वाले रशीद अब करंट खाए

इसके अलावा लंदन में अंडे खाने वाले पाकिस्तानी रेल मंत्री शेख रशीद ने भी अपनी भद्द पिटवाने के साथ-साथ दुनिया को पाकिस्तान पर हँसने का एक और मौका दे दिया। उन्हें माइक पर भाषण देते हुए करंट का झटका लगा, जिसे उन्होंने झेंप मिटाने के लिए हिंदुस्तानी प्रधानमंत्री मोदी की ओर मोड़कर अपना मज़ाकिया स्वभाव दिखाने की कोशिश की।

लेकिन न केवल इसमें वह नाकाम रहे, बल्कि ऐसे नेता के रूप में नज़र आए जो अपनी या अपने आयोजकों की गलतियों पर पर्दा डालने के लिए भी मोदी के परे कोई और मज़ाकिया पर्दा नहीं ढूँढ़ पाए। ट्विटर पर इसे भी 5 अगस्त से पाकिस्तानियों को चढ़े “मोदी-बुखार” के ही एक और केस के रूप में देखा जा रहा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

योनि, मूत्रमार्ग, गुदा, मुँह में लिंग प्रवेश से ही रेप नहीं… जाँघों के बीच रगड़ भी बलात्कार ही: केरल हाई कोर्ट

केरल हाई कोर्ट ने कहा कि महिला के शरीर का कोई भी हिस्सा, चाहे वह जाँघों के बीच की गई यौन क्रिया हो, बलात्कार की तरह है।

इस्लामी आक्रांताओं की पोल खुली, सेक्युलर भी बोले ‘जय श्री राम’: राम मंदिर से ऐसे बदली भारत की राजनीतिक-सामाजिक संरचना

राम मंदिर के निर्माण से भारत के राजनीतिक व सामाजिक परिदृश्य में आए बदलावों को समझिए। ये एक इमारत नहीं बन रही है, ये देश की संस्कृति का प्रतीक है। वो प्रतीक, जो बताता है कि मुग़ल एक क्रूर आक्रांता था। वो प्रतीक, जो हमें काशी-मथुरा की तरफ बढ़ने की प्रेरणा देता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,048FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe