Sunday, June 23, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'कश्मीर पर ISI ने घृणा फैलाने को कहा, मना करने पर बोला रॉ एजेंट':...

‘कश्मीर पर ISI ने घृणा फैलाने को कहा, मना करने पर बोला रॉ एजेंट’: हत्या के डर से Pak इन्फ्लुएंसर ने छोड़ा मुल्क; PM मोदी का है फैन, हनुमान चालीसा भी जुबानी याद

"एक फैशन मॉडल और इन्फ्लुएंसर के रूप में आईएसआई आमतौर पर मुझसे पाकिस्तानी सेना के पक्ष में प्रचार और कई फेक वीडियो बनाने के लिए कहती थी।"

सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर मोहम्मद शायन अली (Shayan Ali) ने भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ का जासूस और यहूदी एजेंट होने का आरोप लगाए जाने के बाद अपने मुल्क पाकिस्तान को हमेशा के लिए छोड़ दिया है। उन्होंने मंगलवार (16 मई, 2023) को अपना देश छोड़ने से पहले एक तस्वीर शेयर करते हुए अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर ‘पाकिस्तान छोड़ने की मेरी कहानी’ शीर्षक से एक पोस्ट साझा कर अपनी आपबीती बताई।

शायन ने लिखा, “मैंने पाक आर्मी के पीआर विंग के कश्मीर से संबंधित एक म्यूजिक वीडियो (भारत के खिलाफ नफरत वाला) में जब काम करने से मना कर दिया तो उन्होंने मुझ पर मेरे सुनहरे बालों के कारण भारत की खुफिया एजेंसी रॉ का जासूस और यहूदी एजेंट होने का आरोप लगाया। मैं भाग्यशाली था कि मैंने पाकिस्तान को सुरक्षित छोड़ दिया, लेकिन फिर भी आतंकवादी इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (ISI) के खिलाफ मेरा संघर्ष कभी समाप्त नहीं हुआ।”

अली ने अपने लंबे पोस्ट में लिखा, “जब मैंने सार्वजनिक रूप से ISI का पर्दाफाश किया, तो मेरे पास पाकिस्तान से माफी माँगने के अलावा और कोई विकल्प नहीं था। ऐसा मैंने इसलिए किया, ताकि मैं पाकिस्तान को सुरक्षित छोड़ सकूँ, क्योंकि उन्होंने मुझे जान से मारने की योजना पहले ही बना ली थी। जो लोग मुझे जानते हैं, वे जानते हैं कि जब मैंने डीजी-आईएसपीआर के एक म्यूजिक वीडियो में काम करने से इनकार कर दिया, जिसका नाम ‘कश्मीर हूँ मैं’ था, तो उन्होंने मेरे सुनहरे बालों की वजह से मुझ पर रॉ और यहूदी एजेंट होने का आरोप लगाना शुरू कर दिया।”

इन्फ्लुएंसर मोहम्मद शायन अली ने बताया कि वह म्यूजिक वीडियो भी फिलहाल यूट्यूब पर है। जब आप ‘कश्मीर हूँ मैं’ लिखेंगे तो आप इसे आसानी से देख सकते हैं। यह वीडियो तथाकथित ‘कश्मीरियों पर भारतीय सेना के अत्याचार’ के बारे में था, जिसमें उन्होंने काम करने से मना कर दिया था।

उन्होंने लिखा, “एक फैशन मॉडल और इन्फ्लुएंसर के रूप में आईएसआई आमतौर पर मुझसे पाकिस्तानी सेना के पक्ष में प्रचार और कई फेक वीडियो बनाने के लिए कहती थी। इस म्यूजिक वीडियो के लिए मुझे छोड़कर मेरे लगभग सभी इन्फ्लुएंसर साथी आईएसआई से सहमत हो गए थे। जब मैंने उन्हें बताया कि आप लोग जो दिखा रहे हैं, वह गलत है और वास्तविकता के बिल्कुल विपरीत है, तो मेरी यह बात उन्हें बहुत बुरी लगी। यही वह चीज थी, जिसने उन्हें मेरे खिलाफ सबसे ज्यादा उत्तेजित किया।”

ISI ने रची थी मेरी हत्या की साजिश: शायन अली

उन्होंने कहा, “मैंने हमेशा ISI और पाकिस्तानी सरकार के नकली अभियानों का हिस्सा बनने से इनकार किया है और जब भी वे मुझसे संपर्क करते थे तो मैं हर बार उन्हें मना कर देता था। चूँकि यह कश्मीर के बारे में था और यह एक बहुत बड़ा मुद्दा था, इसलिए मेरे मना करने पर उन्हें मुझ पर शक होने लगा। इसके बाद वे मेरे साथ रॉ एजेंट की तरह व्यवहार करने लगे।”

अली ने कहा कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI ने उन्हें मारने की भी साजिश रची थी। उन्होंने बताया, “मैंने सितंबर 2019 में पाकिस्तान छोड़ दिया, लेकिन पाकिस्तान की स्थिति उस वक्त अभी जैसी नहीं थी। दिसंबर 2019 में, जब पीटीए (पाकिस्तान दूरसंचार प्राधिकरण) को पाकिस्तान के खिलाफ मेरे सोशल मीडिया पोस्ट के बारे में पता चला, तो उन्होंने सिंध पुलिस को मुझे गिरफ्तार करने के लिए भेजा और यही वह समय था जब उन्हें पता चला कि मैं अब पाकिस्तान में नहीं रह रहा हूँ।”

शायन अली के अनुसार, पाकिस्तानी सेना को यह जानकर झटका लगा कि वह उनकी पहुँच से बहुत दूर हैं। इसके बाद उन्हें लगातार जान से मारने की धमकी और सेंसरशिप का सामना करना पड़ता है। शायन अली भारत और हिंदुओं से बहुत प्यार करते हैं। उनके ट्विटर अकाउंट पर कई ऐसे वीडियो हैं, जो इस बात को साबित करते हैं। उन्होंने हनुमान चालीसा पढ़ते हुए भी अपनी एक वीडियो साझा की है। इसके अलावा वह भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी बहुत पसंद करते हैं।

इन्फ्लुएंसर को आईएसआई, पाकिस्तानी सेना को बेनकाब करने पर मिली धमकी

इन्फ्लुएंसर ने जोर देकर यह भी कहा, “आईएसआई और पाकिस्तानी सेना का मानना है कि वे भगवान से ऊपर हैं लेकिन वे भूल गए हैं कि भगवान हमेशा सच के साथ होता है। भगवान सच बोलने वाले और बुराई का पर्दाफाश करने वाले की हमेशा रक्षा करता है।

उन्होंने आगे कहा, “आईएसआई ने मेरी आवाज को चुप कराने की पूरी कोशिश की, लेकिन भगवान भी चाहता था कि मैं पाकिस्तान के आतंकवादी मंसूबों का पूरी दुनिया के सामने पर्दाफाश करूँ। इसलिए उन्होंने मुझे धमकी भरे संदेश भेजकर और मेरी वेबसाइट पर प्रतिबंध लगाना जारी रखा। लेकिन भगवान ने मुझे आईएसआई और पाकिस्तानी सेना के हर जुल्म से बचाया। मैं अकेले यह लड़ाई लड़ रहा था और दूसरी तरफ पूरा पाकिस्तान था। सत्यमेव जयते।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मोदी के दिए घरों में रहते हैं, 100% वोट कॉन्ग्रेस को देते हैं’: बोले असम CM सरमा – राज्य पर कब्ज़ा करना चाहते हैं...

सीएम हिमंता ने कहा कि बांग्लादेशी मूल के अल्पसंख्यकों ने कॉन्ग्रेस को इसलिए वोट दिया, क्योंकि अगले 10 सालों में वे राज्य को कब्जा चाहते हैं।

NEET पीपर लीक की जाँच अब CBI के हवाले, केंद्रीय जाँच एजेंसी ने दर्ज की FIR: PG की परीक्षा के लिए नई तारीखों का...

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की ओर से बताया गया कि विवाद की समीक्षा के बाद मंत्रालय ने मामले की व्यापक जाँच के लिए इसे सीबीआई को सौंपने का फैसला किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -