Saturday, October 23, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयहिरोइन है, फलस्तीन के समर्थन में नारे लगा रही थीं... इजरायली पुलिस ने टाँग...

हिरोइन है, फलस्तीन के समर्थन में नारे लगा रही थीं… इजरायली पुलिस ने टाँग में मारी गोली

"कभी नहीं सोचा था कि जिंदगी में ऐसी पोस्ट भी लिखनी पड़ेगी। इसे लिखते हुए शर्मिंदगी महसूस हो रही है, क्योंकि इससे ज्यादा दर्द और तकलीफें मेरे अपने लोग महसूस कर रहे हैं।"

इजरायल और फलस्तीन के बीच चल रहे संघर्ष में एक हिरोइन जख्मी हो गईं। उनका नाम है मैसा अब्द इलाहदी। वह इजरायल के खिलाफ हाइफा शहर में हुए प्रदर्शन में शामिल थीं। कथित तौर पर इसी दौरान फलस्तीनी हिरोइन के पैरों में इजरायली पुलिस ने गोली मार दी। इस बात की जानकारी खुद इलाहदी ने सोशल मीडिया के जरिए दी है।

इंस्टाग्राम पोस्ट में अभिनेत्री ने अपनी मदद करने वालों का आभार जताया है। उन्होंने दावा किया है कि इजरायली पुलिस ने उनके पैर में गोली मारी थी, जिससे वो तेजी से ठीक हो रही हैं।

अपना दर्द इंस्टाग्राम पर बयाँ करते हुए मैसा ने कहा कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि जिंदगी में ऐसी पोस्ट भी लिखनी पड़ेगी। इसे लिखते हुए शर्मिंदगी महसूस हो रही है, क्योंकि इससे ज्यादा दर्द और तकलीफें मेरे अपने लोग महसूस कर रहे हैं।

एक्ट्रेस ईस्ट येरुशलम से फलस्तीनी परिवारों को निकाले जाने के खिलाफ प्रदर्शन कर रही थीं। इंस्टाग्राम पोस्ट में मैसा ने लिखा कि मुझे ये नही पता था कि मैरे पैर में जो लगा वो ग्रेनेड था या कुछ और, लेकिन इतना जरूर याद है कि मैं पीड़ा के कारण चीख रही थी। पैर की हालत देखकर मैं काफी परेशान थी। इस बीच वहाँ प्रदर्शन कर रहे लोग आए और मुझे ले गए। अभिनेत्री ने बताया कि पास के पार्क में ले जाकर उनका इलाज किया गया। उनके पास पैरामेडिक था, जिससे मेरे पैर के बहते खून को रोका गया।

मैसा ने आरोप लगाया है, “इजराइली पुलिस और फोर्सेज किसी भी फलस्तीनी पर हमला करने या उन्हें गोली मारने से बिल्कुल भी नहीं हिचक रही थीं, फिर चाहे वो उनके लिए कोई खतरा पैदा करे या न करे। यह कोई पहली बार नहीं है जब पुलिस और सेना ने शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे लोगों पर हमला किया है। इसमें कोई दो राय नहीं कि फलस्तीनी होने के कारण मुझे धमकियाँ मिल रही थीं। अब ये स्पष्ट हो गया है कि हम युद्ध का सामना कर रहे हैं और अगर कोई चीज है जो हमें बचा सकती है तो वो है किस्मत।” अभिनेत्री ने बीते एक सप्ताह के दौरान विवादित क्षेत्र में जाने का वीडियो भी इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आर्यन को गिरफ्तार करने वाले NCB अधिकारी की छवि खराब करने को बॉलीवुड वेबसाइट चला रहे भ्रामक खबर, पत्नी ने Koimoi को लताड़ा

एनसीबी के अधिकारी समीर वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडकर वानखेड़े के खिलाफ बॉलीवुड वेबसाइट कोईमोई ने भ्रामक खबर छापी।

‘खालिस्तान’ के नक़्शे में UP और राजस्थान भी, भारत से अलग देश बनाने का ‘खेल’ सोशल मीडिया पर… लोगों ने वहीं दिखाई औकात

'सिख्स फॉर जस्टिस' नाम की कट्टरवादी सिख संस्था ने तथाकथित खालिस्तान का नक्शा जारी किया है, जिसके बाद से लोग सोशल मीडिया पर उसकी आलोचना कर रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,988FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe