Wednesday, September 28, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयइमरान खान सरकार वोट नहीं बूट के लायक, ये चुनावों में कर सकते हैं...

इमरान खान सरकार वोट नहीं बूट के लायक, ये चुनावों में कर सकते हैं गड़बड़ी: मरयम नवाज

पाकिस्तान ने हाल ही में घोषणा की थी कि 15 नवंबर को गिलगित-बाल्टिस्तान विधानसभा के लिए चुनाव होंगे। इमरान खान सरकार ने पहले इस क्षेत्र को अंतरिम प्रांत का दर्जा देने की घोषणा की थी, जिसका लोगों ने जमकर विरोध किया था।

पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) की उपाध्यक्ष और नवाज शरीफ की बेटी मरयम नवाज (Maryam Nawaz) ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और उनकी पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ पर निशाना साधा है। गुलाम कश्मीर में चुनाव से पहले होने वाली सभाओं में सरकार पर हमलावर होते हुए मरयम नवाज ने कहा, “इमरान सरकार को वोट की जरूरत नहीं, वह बूट के लायक है।”

रिपोर्ट्स के अनुसार, गिलगिट-बाल्टिस्तान के नगर में उन्होंने कहा कि इमरान सरकार उनकी पार्टी के प्रमुख नवाज शरीफ के कार्यकाल में हुए कामों का श्रेय लेना चाहती है और इमरान खान सरकार उन्हें अपना बताकर जनता में भ्रम पैदा कर रही है।

मरयम नवाज ने पार्टी कार्यकर्ताओं को चुनाव की गड़बड़ियों के प्रति सचेत करते हुए कहा कि पीटीआई सरकार के मंत्री यहाँ पर चुनावों में गड़बड़ी करना चाहते हैं। उनके इरादों को सफल नहीं होने देना है। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से आगामी चुनाव में मतों की पहरेदारी करने का आग्रह भी किया।

पीएमएल-एन नेता मरयम नवाज ने आगे कहा की इस चुनाव में जनता को उनके कारनामों का जवाब देना है। वहीं, इस मामले में उन्होंने चुनाव आयोग को भी संदेश देते हुए कहा कि वे पीएमएल-एन पार्टी और जनता के वोट के बीच में न आएँ। और यदि वोटों की चोरी होती है तो जनता उन्हें कभी माफ़ नहीं करेगी।

पार्टी उपाध्यक्ष ने कठिन समय में पार्टी छोड़ने वाले कार्यकर्ताओं को लताड़ते हुए यह भी कहा कि अब पार्टी में उनके लिए कोई जगह नहीं है। गौरतलब है कि पाकिस्तान ने हाल ही में घोषणा की थी कि 15 नवंबर को गिलगित-बाल्टिस्तान विधानसभा के लिए चुनाव होंगे। इमरान खान सरकार ने पहले इस क्षेत्र को अंतरिम प्रांत का दर्जा देने की घोषणा की थी, जिसका लोगों ने जमकर विरोध किया था।

इससे पहले एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मरयम ने कहा किइमरान खान को अब घर का रास्ता दिखाया जाना चाहिए, फर्जी शासकों के दिन पूरे हो चुके हैं और इन्हें सबसे बड़ा झटका 15 नवंबर को लगेगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लोगों में डर पैदा करने के लिए RSS कार्यकर्ता से लेकर हिंदू नेता तक हत्या: मर्डर से पहले PFI-SDPI के लोग रचते थे साजिश,...

देश के लोगों द्वारा लंबे समय से जिस चीज की माँग की जा रही थी, अंतत: केंद्र की मोदी सरकार ने PFI पर प्रतिबंध लगाकर उसे पूरा कर दिया।

‘मन की अयोध्या तब तक सूनी, जब तक राम न आए’: PM मोदी ने याद किया लता दीदी का भजन, अयोध्या के भव्य ‘लता...

पीएम मोदी ने बताया कि जब अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन संपन्न हुआ था, तो उनके पास लता दीदी का फोन आया था, वो काफी खुश थीं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,793FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe