Sunday, February 28, 2021
Home रिपोर्ट अंतरराष्ट्रीय '1 साल में Pak ने लिया 70 सालों से ज्यादा कर्ज़': मौलाना के मार्च...

‘1 साल में Pak ने लिया 70 सालों से ज्यादा कर्ज़’: मौलाना के मार्च से अटकी इमरान की साँस

मौलाना को मिल रहे जनसमर्थन ने पाकिस्तान के विशेषज्ञों और सरकार की चिंता बढ़ा दी है। मौलाना को मनाने की भी कोशिशें की गई हैं लेकिन वो अपनी माँगों पर अड़े हुए है। मौलाना ने ख़ुद या अपने आजादी मार्च में शामिल अन्य नेताओं की गिरफ़्तारी होने की स्थिति के लिए भी रणनीति बना रखी है।

उलेमा-ए-इस्लाम-फजल के मुखिया मौलाना फजलुर रहमान ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान की धड़कनें बढ़ा दी है। मौलाना प्रदर्शनकारियों के साथ प्रधानमंत्री के दफ़्तर की ओर बढ़ रहे हैं। सहमे इमरान ने गृह मंत्रालय को आदेश दिया है कि मौलाना को हर हल में रोका जाए। पाकिस्तान की मीडिया का कहना है कि मौलाना ने भारी भीड़ इकट्ठी कर ली है, जो किसी भी गंभीर स्थिति को जन्म दे सकती है। पाक मीडिया के अनुसार, भीड़ इतनी है कि बलप्रयोग कर के भी उन्हें हटाना मुश्किल है। मौलाना ने इमरान को इस्तीफे के लिए दो दिनों का अल्टीमेटम दिया था जो आज पूरा होने वाला है।

मौलाना को मिल रहे जनसमर्थन ने पाकिस्तान के विशेषज्ञों और सरकार की चिंता बढ़ा दी है। मौलाना को मनाने की भी कोशिशें की गई हैं लेकिन वो अपनी माँगों पर अड़े हुए है। मौलाना ने ख़ुद या अपने आजादी मार्च में शामिल अन्य नेताओं की गिरफ़्तारी होने की स्थिति के लिए भी रणनीति बना रखी है। हालॉंकि वे कुछ भी सार्वजनिक करने से बच रहे हैं। पाकिस्तान के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी ने कहा है कि प्रदर्शनकारी नेताओं के पूर्वज जिन्ना के विरोधी थे और आज वे इमरान ख़ान के विरोध में उतरे हैं।

ख़ैबर पख़्तूनख़्वा प्रशासन से 5,000 अतिरिक्त पुलिस बल की माँग की गई है। इस्लामाबाद में तैनाती के लिए 3,000 अतिरक्त पुलिस बल भेज दिए गए हैं। सरकार की पूरी कोशिश ये है कि प्रदर्शन स्थल से मौलाना और उसके अनुयायियों को आगे न बढ़ने दिया जाए, लेकिन मौलाना ने इमरान ख़ान द्वारा इस्तीफा न देने की सूरत में मार्च को आगे बढ़ाने का फ़ैसला लिया है। पाकिस्तान के इंटीरियर सेक्रेटरी ने सेना और पुलिस के आला अधिकारियों के साथ बैठक की है, जिसमें ‘आज़ादी मार्च’ के प्रदर्शनकारियों से निपटने के बारे में चर्चा की गई। पहले मौलाना ने कहा था कि वो इस्लामाबाद के रेड जोन में नहीं घुसेंगे।

मौलाना ने साफ़ कर दिया है कि वो अगले दो दिनों में कोई कड़ा फ़ैसला लेंगे ताकि सरकार विरोधी आंदोलन को नई ऊर्जा दी जा सके। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान का इतिहास आन्दोलनों से भरा हुआ है और वह जल्द ही कोई बड़ा निर्णय लेंगे। मौलाना ने बताया कि वो नई रणनीति पर काम कर रहे हैं, जो मौजूदा प्रदर्शन से भी ज्यादा प्रभावी होगा। मौलाना ने क़ानून-व्यवस्था की बात करते हुए कहा कि पिछले 15 महीनों से चल रहे प्रदर्शन के दौरान भी संयम बरता गया, यह दिखाता है कि प्रदर्शनकारी क़ानून-व्यवस्था को लेकर कितने सजग हैं।

मौलाना ने इमरान ख़ान की आर्थिक नीतियों पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में देश असुरक्षित है। मौलाना ने आरोप लगाया कि इमरान ख़ान की सरकार ने 1 साल में जितना क़र्ज़ लिया, उतना पिछले 70 साल की सभी सरकारों ने मिल कर भी नहीं लिया। उन्होंने आरोप लगाया कि पाकिस्तानी रुपए की क़ीमत डॉलर के मुक़ाबले 105 से गिर कर 160 पर आ गई है। लोग अपने बच्चों तक के लिए भोजन ख़रीदने में असमर्थ हैं। उन्होंने कहा कि यह सब इमरान के शासनकाल में हुआ।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सोनिया को राहुल बाबा को PM बनाने की चिंता, स्टालिन को उधयनिधि को CM- 2जी, 3जी, 4जी सब तमिलनाडु में: अमित शाह

गृह मंत्री ने कहा कि सोनिया गाँधी को राहुल बाबा को प्रधानमंत्री बनाने की चिंता है और स्टालिन जी को उधयनिधि को मुख्यमंत्री बनाने की चिंता है। इन्हें ना देश की चिंता है और ना तमिलनाडु की, उनको बस अपने परिवार की चिंता है।

कॉन्ग्रेस ने वामपंथी रैली की पुरानी तस्वीरें शेयर कर नींद हराम करने का किया दावा, फर्जीवाड़े की पोल खुलते ही पार्टी सन्नाटे में

कॉन्ग्रेस आईटी सेल और कई अन्य पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा झूठे दावे के साथ साझा की गई दोनों तस्वीरें फर्जी निकलीं। जिसे रविवार (फरवरी 28, 2021) को कोलकाता में कॉन्ग्रेस पार्टी और वाम दलों की तथाकथित संयुक्त रैली में लेने का फर्जी दावा किया गया था।

‘किसानों के लिए डेथ वारंट है ये तीनों कृषि कानून, दिल्ली हिंसा में बीजेपी के लोग शामिल’: महापंचायत में केजरीवाल

केजरीवाल ने कहा कि किसानों के उपर लाठियाँ बरसाई गई। यह केंद्र सरकार का ही प्‍लान था। भाजपा समर्थक ही दिल्‍ली की घटना में शामिल थे। केंद्र सरकार का प्‍लान था कि किसानों का रुट डायवर्ट कराकर दिल्‍ली में भेजा जाए। ताकि...

‘भैया राहुल आप छुट्टी पर थे, इसलिए जानकारी नहीं कि कब बना मछुआरों के लिए अलग मंत्रालय’: पुडुचेरी में अमित शाह

“कॉन्ग्रेस आरोप लगा रही है कि बीजेपी ने उनकी सरकार को यहाँ गिराया। आपने (कॉन्ग्रेस) मुख्यमंत्री ऐसा व्यक्ति बनाया था, जो अपने सर्वोच्च नेता के सामने ट्रांसलेशन में भी झूठ बोले। ऐसे व्यक्ति को मुख्यमंत्री बनाया गया।"

‘लद्दाख छोड़ो, सिंघू बॉर्डर आओ’: खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत पन्नू ने सिख सैनिकों को उकसाया, ऑडियो वायरल

“लद्दाख बॉर्डर को छोड़ दें और सिंघू सीमा से जुड़ें। यह भारत के लिए खुली चुनौती है, हम पंजाब को आजाद कराएँगे और खालिस्तान बनाएँगे।"

25.54 km सड़क सिर्फ 18 घंटे में: लिम्का बुक में दर्ज होगा नितिन गडकरी के मंत्रालय का रिकॉर्ड

नितिन गडकरी ने बताया कि वर्तमान में सोलापुर-विजापुर राजमार्ग के 110 किमी का कार्य प्रगति पर है, जो अक्टूबर 2021 तक पूरा हो जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

कोर्ट के कुरान बाँटने के आदेश को ठुकराने वाली ऋचा भारती के पिता की गोली मार कर हत्या, शव को कुएँ में फेंका

शिकायत के अनुसार, वो अपने खेत के पास ही थे कि तभी आठ बदमाशों ने कन्धों पर रायफल रखकर उन्हें घेर लिया और फायरिंग करने लगे।

आमिर खान की बेटी इरा अपने संघी हिन्दू नौकर के साथ फरार.. अब होगा न्याय: Fact Check से जानिए क्या है हकीकत

सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि आमिर खान की बेटी इरा अपने हिन्दू नौकर के साथ भाग गई हैं। तस्वीर में इरा एक तिलक लगाए हुए युवक के साथ देखी जा सकती हैं।

‘अल्लाह से मिलूँगी’: आयशा ने हँसते हुए की आत्महत्या, वीडियो में कहा- ‘प्यार करती हूँ आरिफ से, परेशान थोड़े न करूँगी’

पिता का आरोप है कि पैसे देने के बावजूद लालची आरिफ बीवी को मायके छोड़ गया था। उन्होंने बताया कि आयशा ने ख़ुदकुशी की धमकी दी तो आरिफ ने 'मरना है तो जाकर मर जा' भी कहा था।

शैतान की आजादी के लिए पड़ोसी के दिल को आलू के साथ पकाया, खिलाने के बाद अंकल-ऑन्टी को भी बेरहमी से मारा

मृत पड़ोसी के दिल को लेकर एंडरसन अपने अंकल के घर गया जहाँ उसने इस दिल को पकाया। फिर अपने अंकल और उनकी पत्नी को इसे सर्व किया।

जलाकर मार डाले गए 27 महिला, 22 पुरुष, 10 बच्चे भी रामभक्त ही थे, अयोध्या से ही लौट रहे थे

27 फरवरी 2002 की सुबह अयोध्या से लौट रहे 59 रामभक्तों को साबरमती एक्सप्रेस में करीब 2000 लोगों की भीड़ ने जलाकर मार डाला था।

पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा फिर पड़ा उल्टा: बालाकोट स्ट्राइक की बरसी पर अभिनंदन के 2 मिनट के वीडियो में 16 कट

इस वीडियो में अभिनंदन कश्मीर में शांति लाने और भारत-पाकिस्तान में कोई अंतर ना होने की बात करते दिख रहे हैं। इसके साथ ही वह वीडियो में पाकिस्तानी सेना की खातिरदारी की तारीफ कर रहे हैं।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,201FansLike
81,839FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe