Wednesday, December 1, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय‘सबसे अच्छी बात मोहम्मद रिजवान ने की, ग्राउंड पर हिन्दुओं के बीच नमाज पढ़ी’:...

‘सबसे अच्छी बात मोहम्मद रिजवान ने की, ग्राउंड पर हिन्दुओं के बीच नमाज पढ़ी’: वकार यूनुस की बात पर मुस्कराए शोएब अख्तर

बता दें कि फिल्म 'पीके' को पाकिस्तान में रिलीज करने के लिए आमिर खान ने ARY के साथ ही करार किया था और इस फिल्म को वहाँ हिन्दू देवी-देवताओं के मजाक के रूप में प्रचारित किया गया था।

T20 विश्व कप में भारत का पहला ही मैच पाकिस्तान से हुआ, जिसमें उसे 10 विकेट से हार झेलनी पड़ी। पाकिस्तान के मंत्रियों ने इसे इस्लाम की जीत तक बता दिया। भारत के विभिन्न मुस्लिम बहुल इलाकों में पटाखे छोड़े गए। पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम ने ‘कुफ्र टूटने’ की बात कही। लेकिन, क्या आपको पता है कि पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान मैच के दौरान ही नमाज पढ़ने लगे थे?

मैच में जब ब्रेक हुआ था तो जब बाकी खिलाड़ी ड्रिंक्स में व्यस्त थे, तब मोहम्मद रिजवान जमीन पर बैठ कर नमाज पढ़ रहे थे। इसका वीडियो भी सामने आया है, जब वो बैट और हेलमेट को किनारे रख कर नमाज पढ़ते दिख रहे हैं। पाकिस्तान में इस वीडियो को खूब शेयर किया जा रहा है और कहा जा रहा है कि नमाज पढ़ने से ही सफलता मिलती है। वहाँ के नागरिक मोहम्मद रिजवान की तारीफ़ करते हुए कह रहे हैं कि वो नमाज किसी भी स्थिति में नहीं छोड़ते।

बता दें कि मोहम्मद रिजवान ने इस मैच में 55 गेंदों पर 79 रनों की पारी खेली थी, जिसमें उन्होंने 6 चौके और 3 छक्के जड़े। उनका स्ट्राइक रेट 143 से भी अधिक रहा। अब पाकिस्तान के पूर्व तेज़ गेंदबाज वकार यूनुस ने भी मोहम्मद रिजवान द्वारा नमाज पढ़े जाने पर टिप्पणी की है। उन्होंने कहा, “सबसे अच्छी बात मोहम्मद रिजवान ने की। माशाल्लाह! उन्होंने ग्राउंड में हिन्दुओं के बीच खड़े होकर नमाज पढ़ी।”

वकार यूनुस ने कहा कि ये उनके लिए ‘बहुत ही ज्यादा स्पेशल’ था। एक टीवी चैनल ‘ARY News’ पर भारत-पाकिस्तान मैच के परिणाम के बाद हो रही चर्चा में उन्होंने ये बात कही। जब वकार यूनुस ये कह रहे थे, तब एक अन्य पाकिस्तानी पूर्व तेज़ गेंदबाज शोएब अख्तर भी उस डिबेट में मौजूद थे और वो इस बात पर मुस्करा रहे थे। नीचे जो यूट्यूब वीडियो है, उसमें 18 मिनट के बाद आप ये बातचीत सुन सकते हैं।

बता दें कि फिल्म ‘पीके’ को पाकिस्तान में रिलीज करने के लिए आमिर खान ने ARY के साथ ही करार किया था और इस फिल्म को वहाँ हिन्दू देवी-देवताओं के मजाक के रूप में प्रचारित किया गया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कभी ज़िंदा जलाया, कभी काट कर टाँगा: ₹60000 करोड़ का नुकसान, हत्या-बलात्कार और हिंसा – ये सब देश को देकर जाएँगे ‘किसान’

'किसान आंदोलन' के कारण देश को 60,000 करोड़ रुपए का घाटा सहना पड़ा। हत्या और बलात्कार की घटनाएँ हुईं। आम लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी।

बारबाडोस 400 साल बाद ब्रिटेन से अलग होकर बना 55वाँ गणतंत्र देश: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का शासन पूरी तरह से खत्म

बारबाडोस को कैरिबियाई देशों का सबसे अमीर देश माना जाता है। यह 1966 में आजाद हो गया था, लेकिन तब से यहाँ क्वीन एलीजाबेथ का शासन चलता आ रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,742FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe