Sunday, June 16, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'...क्या तुम्हारे ऊपर बलात्कारी को छोड़ दें' : ईरान में हिजाब पहनवाने के लिए...

‘…क्या तुम्हारे ऊपर बलात्कारी को छोड़ दें’ : ईरान में हिजाब पहनवाने के लिए फिर से एक्टिव हुई ‘मोरैलिटी पुलिस’, महिलाओं को निर्देश- सिर ढको, ढीले कपड़े पहनो

महिला से बोला जाता है- "तुम अगर आजादी पर विश्वास रखती हो तो हम तुम पर सारे चोर और बलात्कारियों को छोड़ देते हैं फिर तुम समझोगी की चीजें कैसे काम करती हैं।"

ईरान में हुए हिजाब विरोधी प्रदर्शन के महीनों बाद अब फिर से वहाँ ‘मोरैलिटी पुलिस (Morality Police)’ पैट्रोलिंग करने लगी है। ईरान के लॉ इन्फोर्समेंट फोर्स के प्रवक्ता सईद मोंटाजेरालमहदी ने रविवार (17 मार्च 2023) को जानकारी दी कि मोरैलिटी पुलिस अब फिर से काम करने लगी है। वो पैदल और गाड़ियों से उन लोगों को पकड़ेंगे जो इस्लामी देश में उस हिसाब से खुद को ढककर नहीं रखते।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, प्रवक्ता ने बताया कि मोरैलटी पुलिस पहले चेतावनी देगी और उसके बाद कानूनी कार्रवाई करेगी। इनसे बचने के लिए ड्रेस कोड का पालन करना जरूरी होगा। जैसे महिलाओं को हेडस्कार्फ के साथ ढीले कपड़े पहनने होंगे। अगर महिलाएँ ऐसे नियमों का उल्लंघन करती पाई जाती हैं तो उन्हें गिरफ्तार करके री-एड्यूकेशन फैसिलिटी में डाल दिया जाएगा।

बता दें कि 10 माह पहले ईरान में मोरैलटी पुलिस द्वारा पिटाई किए जाने के बाद महसा अमीनी की मौत हो गई थी। घटना के चलते पूरे देश भर में प्रदर्शन हुए थे। जिसके कुछ महीनों तक कहीं कोई मौरैलटी पुलिस नहीं दिखाई दी। वहीं हिजाब नियमों का उल्लंघन करने वालों को पकड़ने के लिए कैमरे लगाए गए थे। उनके जरिए निगरानी करके लोगों को चेतावनी दी जा रही थी या फिर जुर्माना लगाया जा रहा था। इसके अलावा कुछ लोगों को कोर्ट में पेश होने के लिए भी कहा गया था।

ईरान में ड्रेस कोड फॉलो करने के लिए नियम इतने सख्त हैं कि अगर कोई कार में बैठे हुए भी इनका उल्लंघन किए दिखता है तो उसकी कार जब्त कर ली जाती है। इसके अलावा कैफे, रेस्टोरेंट, शॉपिंग सेंटर्स आदि पर भी सख्त नजर बनाकर रखी जाती है।

बताया जा रहा है कि इस हफ्ते हिजाब संबंधी कई हाई प्रोफाइल मामले सामने थे। ऐसे में प्रशासन ने एक वीडियो जारी की थी। इसमें पुलिस अधिकारियों के साथ उनकी कैमरा क्रू भी थी। वो महिलाओं के पास जा जाकर हिजाब ठीक करने को कह रहे थे। वीडियो में महिलाओं का चेहरा तक ब्लर नहीं किया गया था। बस एनिमेशन के जरिए बताया जा रहा था कि उनकी पहचान हो गई है और अब बात कानून तक जाएगी।

वीडियो में कहा जा रहा था- या तो अपना हिजाब ठीक करो, वरना वैन में घुसो। महिला से ये भी बोला जा रहा था- “तुम अगर आजादी पर विश्वास रखती हो तो हम तुम पर सारे चोर और बलात्कारियों को छोड़ देते हैं फिर तुम समझोगी की चीजें कैसे काम करती हैं।”

इसी तरह ईरान में हिजाब के खिलाफ बोलने पर एक्टर मोहम्मद सादेगेही को गिरफ्तार किया गया था। उन्होंने एक महिला के साथ बदसलूकी की तस्वीर पर प्रतिक्रिया दी थी, “अगर मैं ऐसे दृश्य देखूँ तो मैं तो मर्डर कर लूँ। देखते जाओ लोग तुम्हें मार देंगे…।” उनके इसी बयान पर ईरानी पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया। इससे पहले ईरान में एक एक्ट्रेस अजादेह समादी पर 6 महीने तक सोशल मीडिया न यूज करने के लिए बैन लगाया गया था। ऐसा सिर्फ इसलिए हुआ क्योंकि वो एक थिएटर डायरेक्टर के अंतिम शव यात्रा में बिन हेडस्कार्फ चली

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

कर्नाटक में बढ़ाए गए पेट्रोल-डीजल के दाम: लोकसभा चुनाव खत्म होते ही कॉन्ग्रेस ने शुरू की ‘वसूली’, जनता पर टैक्स का भार बढ़ा कर...

अभी तक बेंगलुरु में पेट्रोल 99.84 रुपये प्रति लीटर और डीजल 85.93 रुपये प्रति लीटर बिक रहा था, लेकिन नए आदेश के बाद बढ़ी हुई कीमतें तत्काल प्रभाव से लागू हो गई हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -