Monday, November 29, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपूजा स्थल पर कुरान छिपा कर ले जा रहा था मीज़ान, हिन्दुओं ने पकड़...

पूजा स्थल पर कुरान छिपा कर ले जा रहा था मीज़ान, हिन्दुओं ने पकड़ कर पुलिस को सौंपा: दुर्गा पूजा वाली साजिश दोहराने की कोशिश

वो काफी समय तक पूजा स्थल के आस पास घूमता रहा जिस से वहाँ मौजूद लोगों को शक हुआ। जब वह मुख्य द्वारा से अंदर जाने लगा तब उसको पकड़ लिया गया। तलाशी के दौरान उसके पास से कुरान मिली जिसे वो छिपा कर अंदर ले जा रहा था।

बांग्लादेश के सिलहट डिवीजन के हबीबगंज में चौधरी बाजार के सार्वजनिक पूजा स्थल पर एक स्थानीय मुस्लिम कुरान छिपा कर ले जा रहा था। मौके पर मौजूद लोगों ने उसको पकड़ लिया है। आरोपित को स्थानीय पुलिस के हवाले कर दिया गया है। पुलिस ऐसा करने के पीछे की मंशा का पता लगा रही है। यह घटना शुक्रवार (19 नवम्बर 2021) की है। पकड़े गए आरोपित का नाम मीज़ान बताया जा रहा है जिसकी उम्र लगभग 25 वर्ष है।

बांग्लादेशी हिन्दुओं के साथ अत्याचार का विरोध करने वाले मानवाधिकार कार्यकर्ता व बंगलादेश माइनॉरिटी वॉच के सदस्य जयंता कर्माकर ने इस घटना को अपने ट्विटर हैंडल पर साझा किया है। उनके अनुसार, एक मुस्लिम लड़के को दंगे फैलाने की साजिश रचते हुए गिरफ्तार किया गया है। इसी के साथ उन्होंने #SaveBangladeshiHindus नाम से हैशटैग भी लगाया है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पकड़ा गया आरोपित मूल रूप से गाँव लुइतापुर, बेगमगंज जिला नोवाखाली का रहने वाला है। वो काफी समय तक पूजा स्थल के आस पास घूमता रहा जिस से वहाँ मौजूद लोगों को शक हुआ। जब वह मुख्य द्वारा से अंदर जाने लगा तब उसको पकड़ लिया गया। तलाशी के दौरान उसके पास से कुरान मिली जिसे वो छिपा कर अंदर ले जा रहा था। आरोपित को स्थानीय हबीबगंज सदर मॉडल पुलिस स्टेशन के हवाले कर दिया गया है। पुलिस स्टेशन प्रभारी दौस मोहम्मद इस मामले की जाँच कर रहे हैं।

इस से पहले इसी साल 13 अक्टूबर को चरमपंथी इक़बाल हुसैन ने कुमिला जिले में एक दुर्गापूजा पंडाल में घुस पर कुरान को हनुमान जी की मूर्ति के पैरों में रख दिया था। इसके बाद बांग्लादेश के तमाम हिस्सों में हिन्दू विरोधी हिंसा हुई थी। हिन्दू समुदाय ने तब कहा था कि उनमे से किसी ने भी ऐसा नहीं किया था। इसी के साथ उन्होंने बताया था कि ये सब उन पर हमले की साजिश है। इसके बाद भी 5 दिनों तक हिन्दुओं के घरों, दुकानों और पूजा स्थलों पर चरमपंथी हमले होते रहे। सोशल मीडिया पर देवी देवताओं की मूर्तियाँ तोड़ते, पंडालों में तोड़फोड़ करते और हिन्दुओं के घरों पर हमले करने के कई वीडियो वायरल हुए थे।

बाद में पुलिस ने वीडियो फुटेज के आधार पर आरोपित इक़बाल की पहचान की थी। इस बात की पुष्टि कुमिला जिले के SP फ़ारूक़ अहमद ने की थी। इक़बाल हुसैन को 21 अक्टूबर 2021 को कॉक्स बाज़ार पुलिस ने रात 11 बजे गिरफ्तार कर लिया था। इस गिरफ्तारी की पुष्टि चट्टोग्राम रेंज के एडिशनल DIG अपराध एवं जाँच ज़ाकिर हुसैन ने की थी। बाद में आरोपित इक़बाल हुसैन कुमिला पुलिस को सौंप दिया गया था।

CCTV फुटेज में यह भी पाया गया था कि आरोपितों ने लोगों को हिन्दुओं के खिलाफ भड़काया था। इसी के साथ हिन्दुओं पर हमले के लिए चरमपंथियों की भीड़ को उकसाया भी गया था। कुमिला जिले के SP फारूक अहमद के अनुसार सबूत के तौर पर 12 CCTV फुटेज को जमा किया गया है। इसी से साबित हुआ है कि आरोपित इक़बाल ने ही दुर्गा पूजा पंडाल में घुस कर कुरान को रात 2.10 से 3.10 के बीच रखा था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘UPTET के अभ्यर्थियों को सड़क पर गुजारनी पड़ी जाड़े की रात, परीक्षा हो गई रद्द’: जानिए सोशल मीडिया पर चल रहे प्रोपेगंडा का सच

एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसके आधार पर दावा किया जा रहा है कि ये उत्तर प्रदेश में UPTET की परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों की तस्वीर है।

बेचारा लोकतंत्र! विपक्ष के मन का हुआ तो मजबूत वर्ना सीधे हत्या: नारे, निलंबन के बीच हंगामेदार रहा वार्म अप सेशन

संसद में परंपरा के अनुरूप आचरण न करने से लोकतंत्र मजबूत होता है और उस आचरण के लिए निलंबन पर लोकतंत्र की हत्या हो जाती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe