Friday, July 19, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'ये इसका सबूत है कि लोग क्या कर सकते हैं': न्यूजीलैंड के मंत्रियों ने...

‘ये इसका सबूत है कि लोग क्या कर सकते हैं’: न्यूजीलैंड के मंत्रियों ने राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा को लेकर PM मोदी को दी बधाई, कहा – दुनिया भर में उनका सम्मान

"मैं पीएम मोदी के साहस, ज्ञान और हिम्मत की सराहना करता हूँ, क्योंकि वो आज भारत के एक अरब से अधिक लोगों को दुनिया की चुनौतियों से निपटने में मदद करते हैं। मुझे उम्मीद है कि उनकी ये ताकत और विश्वास बना रहेगा।"

अयोध्या में 22 जनवरी को होने जा रहे राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा समारोह में देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी उत्साह है। न्यूजीलैंड के मंत्री भी खासे उत्साहित हैं उन्होंने पीएम मोदी को बधाई देने के साथ ही उनकी तारीफ करते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में राम मंदिर हकीकत बन पाया है।

न्यूजीलैंड के रेग्यूलेशन मंत्री डेविड सिमॉर राम मंदिर समारोह को लेकर खासे उत्साहित हैं। उन्होंने पीएम मोदी को बधाई देते हुए कहा, “पूरे भारत को जय श्री राम! इस शानदार स्मारक के उत्सव की खासकर पीएम मोदी सहित भारत के सभी लोगों को बधाई। पीएम के नेतृत्व में 500 वर्षों के बाद इस राम मंदिर निर्माण को संभव हो पाया है और ये हजारों साल तक रहेगा। ये इस बात का सुबूत है कि वास्तव में लोग क्या कर सकते हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “मैं पीएम मोदी के साहस, ज्ञान और हिम्मत की सराहना करता हूँ, क्योंकि वो आज भारत के एक अरब से अधिक लोगों को दुनिया की चुनौतियों से निपटने में मदद करते हैं। मुझे उम्मीद है कि उनकी ये ताकत और विश्वास बना रहेगा। मेरी राम मंदिर आने की इच्छा हैं। मैं बेहद खुश हूँ कि मुझे भारत के इस महान उत्सव पर बात करने का मौका मिला।”

वहीं राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह पर न्यूजीलैंड की एथनिक कम्यूनिटीज मंत्री मेलिसा ली का कहना है, “मैं दुनिया भर के भारतीय प्रवासियों को अयोध्या में राम मंदिर समारोह के लिए शुभकामनाएँ देती हूँ, खासकर न्यूजीलैंड के भारतीयों को। 500 साल बाद बनने वाले राम मंदिर के लिए पीएम मोदी सहित में पूरे भारत को इस अद्भुत मंदिर के लिए बधाई देती हूँ।”

ली ने आगे कहा, “मैं यकीन करती हूँ कि मोदी जी इस मंदिर के निर्माण के हिमायती रहे हैं और मैं सोचती हूँ कि ये समारोह मोदी जी के काम और मंदिर को पुनर्जीवित करने की उनकी वकालत का नतीजा है। यही वजह है कि उन्हें कई बार प्रधानमंत्री के रूप में चुना गया है। यह भारत को आगे ले जाने और अर्थव्यवस्था को बढ़ाने की उनकी इच्छा को दर्शाता है। पीएम मोदी का दुनिया भर में सम्मान किया जाता है और वह भारत के लोगों के लिए बहुत अच्छा काम करते हैं।”

बताते चलें कि जैसे-जैसे जैसे-जैसे अयोध्या में राम मंदिर का भव्य ‘प्राण प्रतिष्ठा’ समारोह नजदीक आ रहा है। भारत से दूर विदेशों में बसे भारतीय में उत्साह हिलोरें मार रहा है। दुनिया भर में भारतवासी इस उत्सव को अपने-अपने तरीके जश्न से मना रहे हैं।

सिडनी में भारतीय प्रवासियों शनिवार (20 जनवरी, 2024) को एक कार रैली आयोजित कर राम मंदिर समारोह का जश्न मनाया। वहीं 22 जनवरी, 2024 को अयोध्या में रामजन्मभूमि मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम अमेरिका के सबसे बड़े शहर न्यूयॉर्क के मशहूर टाइम्स स्क्वायर पर लाइव टेलीकास्ट किया जाएगा।

इससे पहले अमेरिका न्यू जर्सी में राम मंदिर समारोह से पहले भारतीयों ने कार रैली का आयोजन किया। रैली में भारतीय 350 से अधिक कारों सहित भारतीय ‘राम सिया राम जय राम’ गाते हुए सड़कों पर निकले।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -