Saturday, July 13, 2024
Homeविविध विषयधर्म और संस्कृति350 कारें, भगवा झंडे, रामधुन... प्राण प्रतिष्ठा से पहले अमेरिका के न्यू जर्सी में...

350 कारें, भगवा झंडे, रामधुन… प्राण प्रतिष्ठा से पहले अमेरिका के न्यू जर्सी में निकली विशाल कार रैली, अयोध्या वाले होर्डिंग्स से पटा USA

हिंदू परिषद अमेरिका के महासचिव अमिताभ वीडब्ल्यू मित्तल के मुताबिक, अमेरिकी हिंदू राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा में हिस्सा लेने के लिए उत्साहित हैं। वो अपनी भावनाओं को जताने के लिए अमेरिका में हो रहे आयोजनों में बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं।

अयोध्या में 22 जनवरी, 2024 को होने जा रहे राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह का उत्साह केवल भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया में सिर चढ़ कर बोल रहा है। अमेरिका के न्यू जर्सी में राम मंदिर उद्घाटन से पहले भारतीयों ने वहाँ कार रैली का आयोजन किया।

रैली में भारतीय 350 से अधिक कारों सहित भारतीय ‘राम सिया राम जय राम’ गाते हुए सड़कों पर निकले। सनातन परंपरा के उत्साह को दिखाती इस रैली के विदेशी भी कायल हो गए। इस रैली का वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर खासा शेयर किया जा रहा है।

न्यू जर्सी के एडिसन में की इस कार रैली में अच्छी खासी संख्या में भारतीय शामिल हुए। भगवान राम की फोटो वाले भगवा झंडे और सड़कों पर कतार में खड़ी कारों में राम धुन गाते-गुनगुनाते लोग वहाँ राम की महिमा से ओतप्रोत नजर आए।

सड़कों पर लोग ‘राम सिया राम जय-जय राम सिया राम’ गाते नजर आ रहे थे। रामायण की चौपाइयों से सड़के गुँजायमान हो रही थी। राम की भक्ति में झूम लोग गा रहे थे, “मंगल भवन अमंगल हारी, द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी, होइहि सोइ जो राम रचि राखा। को करि तर्क बढ़ावै साखा॥”

हिंदू परिषद अमेरिका के महासचिव अमिताभ वीडब्ल्यू मित्तल के मुताबिक, अमेरिकी हिंदू राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा में हिस्सा लेने के लिए उत्साहित हैं। वो अपनी भावनाओं को जताने के लिए अमेरिका में हो रहे आयोजनों में बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं। उन्हें प्राण प्रतिष्ठा समारोह के शुभ दिन का इंतजार है।

उनका कहना है कि अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन के उपलक्ष्य में पूरे अमेरिका में हिंदू अमेरिकी समुदाय ने कई कार रैलियाँ आयोजित की हैं और ‘प्राण प्रतिष्ठा’ के लिए कई और कार्यक्रमों की योजना बनाई है। इसके साथ ही जगह-जगह पर राम मंदिर के होर्डिंग्स भी लगाए गए थे। बताते चलें कि विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) यूएस चैप्टर ने अमेरिका 10 राज्यों में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के होर्डिंग्स तो 40 से अधिक बिलबोर्ड भी लगाए गए हैं। ये होर्डिंग्स टेक्सास, इलिनोइस, न्यूयॉर्क, न्यू जर्सी और जॉर्जिया सहित अन्य राज्यों में लगे हैं।

इसके साथ ही वीएचपी ने अमेरिका में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा को लेकर एक म्यूजिकल लाइट शो का भी किया है। वहीं वीएचपी की अमेरिका ब्रांच ने एरिजोना और मिसौरी में सोमवार 15 जनवरी, 2024 से उत्सव में शामिल होने के लिए तैयार है।

वीएचपी के अमेरिकी चैप्टर के ज्वॉइंट सेक्रेटरी तेजा ए शाह का कहना है कि उत्साह साफ दिख रहा है और न्यू जर्सी के मंदिरों के सदस्य इस ऐतिहासिक होने जा रहे उत्सव का उत्सुकता से इंतजार कर रहे हैं।

अमेरिका ही नहीं बल्कि मॉरीशस में अयोध्या के राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा को लेकर खासा उत्साह है। मॉरीशस सनातन धर्म मंदिर महासंघ के अध्यक्ष भोजराज घूरबिन के मुताबिक, मॉरीशस के सभी मंदिरों में 22 जनवरी,2024 को भगवान राम की प्राण प्रतिष्ठा पर रामायण मंत्रोच्चार किया जाएगा।

यहीं नहीं मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ (Pravind Jugnauth) के नेतृत्व में मॉरीशस की कैबिनेट ने वहाँ हिंदू कर्मचारियों को 22 जनवरी, 2024 को 2 घंटे की खास छुट्टी दी है।

इस दौरान वे रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर होने वाले स्थानीय कार्यक्रमों में भाग ले सकेंगे और लाइव टेलिकास्ट देख सकेंगे। इसके लिए मॉरीशस के हिंदू सामाजिक एवं सांस्कृतिक संगठनों ने माँग की थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -