Thursday, May 26, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय...तो अमेरिका पर फिर होगा 9/11 जैसा आतंकी हमला: जानिए, लादेन की भतीजी नूर...

…तो अमेरिका पर फिर होगा 9/11 जैसा आतंकी हमला: जानिए, लादेन की भतीजी नूर ने अमेरिकियों को क्यों चेताया

नूर ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की प्रशंसा करते हुए कहा कि इससे पहले कि आतंकी कुछ करें, वो उनकी जड़ों को ही काट डालते हैं। उन्होंने दावा किया कि वो 2015 के शुरूआती दिनों से ही डोनाल्ड ट्रम्प की बड़ी समर्थक हैं, जब उन्होंने बतौर राष्ट्रपति उम्मीदवार चुनाव लड़ने की घोषणा की थी।

खूँखार आतंकी ओसामा बिन लादेन की भतीजी नूर बिन लादेन ने दावा किया है कि जो बिडेन अगर संयुक्त राष्ट्र अमेरिका का राष्ट्रपति बनने में कामयाब हो गए तो 9/11 जैसा हमला होने की आशंका होगी। उनके अनुसार ऐसी स्थिति को सिर्फ डोनाल्ड ट्रम्प ही रोक सकते हैं। नूर ने ‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ से बातचीत के दौरान ये बातें कही। ट्रम्प समर्थक नूर वैसे तो स्विट्ज़रलैंड में रहती हैं लेकिन वो खुद को दिल से अमेरिकन ही मानती हैं।

नूर और उनका परिवार ओसामा के उलट अपने नाम को अंग्रेजी में ‘लादेन’ की जगह ”लादिन (Ladin) लिखता है। नूर की माँ कार्मेन डफौर स्विस लेखिका हैं और उनके पिता इस्लाम बिन लादेन 26/11 के मास्टरमाइंड ओसामा के सौतेले बड़े भाई हैं। नूर के माता-पिता का काफी पहले ही तलाक हो गया था। नूर और उनकी बहन का पालन-पोषण स्विट्जरलैंड में ही हुआ था। उनकी बहन भी कई फोटोशूट के कारण सुर्ख़ियों में रहती आई हैं।

नूर ने कहा कि जब बराक ओबामा अमेरिका के राष्ट्रपति थे और जो बिडेन उप-राष्ट्रपति हुआ करते थे, उस दौर में आईएसआईएस को बढ़ाने का अच्छा-खासा मौक़ा मिला। नूर का मानना है कि इसी कारण खूँखार वैश्विक आतंकी संगठन आईएसआईएस का यूरोप तक प्रसार हुआ। उन्होंने कहा कि डोनाल्ड ट्रम्प ने ये दिखा दिया है कि वो विदेशी ताकतों से अमेरिका को और हमें बचा सकते हैं। 33 वर्षीय नूर ने अपने पहले इंटरव्यू में ये बातें कही।

नूर ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की प्रशंसा करते हुए कहा कि इससे पहले कि आतंकी कुछ करें, वो उनकी जड़ों को ही काट डालते हैं। उन्होंने दावा किया कि वो 2015 के शुरूआती दिनों से ही डोनाल्ड ट्रम्प की बड़ी समर्थक हैं, जब उन्होंने बतौर राष्ट्रपति उम्मीदवार चुनाव लड़ने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा कि वो ट्रम्प को देखती हैं और उनके संकल्पों की सराहना करती हैं। उन्होंने कहा कि ट्रम्प को दोबारा लौट कर आना ही चाहिए।

बकौर नूर, ट्रम्प का फिर से चुन कर आना न सिर्फ अमेरिका के भविष्य के लिए महत्वपूर्ण है बल्कि पूरे पश्चिमी सभ्यता के लिए ये अच्छा है। इस दौरान नूर ने इस्लामी कट्टरपंथ और वामपंथ के बीच दिख रहे गठजोड़ की भी निंदा की। उन्होंने कहा कि अगर हम पिछले दो दशकों में यूरोप में हुए सारे आतंकी हमलों पर नजर डालें तो हमें पता चलता है कि इस्लामी कट्टरपंथ ने हमें जड़ से हिला दिया है, हमारे समाज में घुसपैठ कर ली है।

उन्होंने कहा कि अमेरिका में ये काफी भयावह है कि वामपंथियों ने इसी कट्टरवादी इस्लामी विचारधारा के साथ पूरी तरह गठजोड़ कर लिया है। उन्होंने कहा कि वो अपने आसपास के लोगों के विरोध के बावजूद ट्रम्प के स्लोगन ‘मेक अमेरिका ग्रेट अगेन (MAGA)’ वाला हैट पहनती हैं। उन्होंने बताया कि एक बार तो उन्हें ये हैट पहनने के लिए टोक भी दिया गया था। नूर अमेरिका को अपना दूसरा घर मानती हैं और वहाँ की राजनितिक खबरों से खुद को अपडेटेड रखती हैं।

नूर का कहना है कि फॉक्स न्यूज़ पर आने वाला ‘Tucker Carlson Tonight’ उनका पसंदीदा शो है। नूर का कहना है कि वो किसी भी मजहब के बिना ही बड़ी हुई हैं। साथ ही वो अमेरिका की राजनेता इल्हाना उमर की विरोधी हैं। उनका कहना है कि अगर उमर को लगता है कि अमेरिका में इतनी ज्यादा नफरत है तो उन्हें अमेरिका छोड़ कहीं और चले जाना चाहिए। उन्होंने इस्लामी कट्टरवाद की विरोधी नेता लॉरा लूमर की प्रशंसा की।

बता दें कि डोनाल्ड ट्रम्प अक्सर ‘रैडिकल इस्लामिक टेररिज्म’ के खिलाफ मुखर रहे हैं और हर छोटे-बड़े मंच से इसका विरोध करते रहे हैं। उन्होंने पीएम मोदी के अमेरिका में हुए ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में भी अपने इस संकल्प को दोहराया था, जिसके बाद ऑडियंस से उन्हें स्टैंडिंग ओवेशन मिला था। अपने अहमदाबाद दौरे में भी उन्होंने ये बात कही थी। आईएसआईएस के खिलाफ उनके सख्त रवैये के कारण कई लोग उन्हें पसंद करते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केजरीवाल सरकार के स्टेडियम में खिलाड़ियों से VIP कुत्ता: बाहर निकाल दिए जाते हैं एथलीट, क्योंकि कुत्ते के साथ टहलते हैं IAS अफसर

मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि त्यागराज स्टेडियम शाम होते ही खाली करवा दिया जाता है क्योंकि दिल्ली के प्रधान सचिव (राजस्व) अपने कुत्ते के साथ वॉक करते हैं।

इमरान खान के ‘आजादी मार्च’ से पाकिस्तान में भड़की हिंसा, इस्लामाबाद में मेट्रो स्टेशन फूँका: आगजनी-पत्थरबाजी के बाद सेना की तैनाती

पाकिस्तान में गृहयुद्ध जैसे हालत बन गए हैं। पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के 'आजादी मार्च' में हिंसा की खबर है। सेना की तैनाती की गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
188,942FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe