Sunday, November 27, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमोस्‍ट वॉन्‍टेड आतंकी हाफिज सईद को पाकिस्तान की एंटी टेरर कोर्ट ने सुनाई 10...

मोस्‍ट वॉन्‍टेड आतंकी हाफिज सईद को पाकिस्तान की एंटी टेरर कोर्ट ने सुनाई 10 साल की सजा: मुंबई हमलों का था मास्‍टरमाइंड

पाकिस्तान में इस साल हाफिज सईद को चौथी बार सजा सुनाई गई है। हाफिज सईद इस समय लाहौर में एक और टेरर फंडिंग मामले में 5 साल की सजा काट रहा है। पाकिस्तान की आतंकवाद रोधी अदालत ने आतंकी कृत्यों के लिए वित्तीय मदद उपलब्ध कराने के दो मामलों में उसे इस साल फरवरी में 11 साल कैद की सजा सुनाई थी।

अवैध फंडिंग के सिलसिले में जमात उत दावा के मुखिया और मोस्‍ट वॉन्‍टेड आतंकी हाफिज सईद को 10 साल की सजा सुनाई गई है। पाकिस्तान की एंटी टेरर कोर्ट ने सईद को टेरर फंडिंग से जुड़े दो मामलों में सजा सुनााई है। हाफिज के साथ साथ याहया मुजाहिद, अब्दुल रहमान मक्की और याजिद इकबाल को भी 10 साल की जेल की सजा सुनाई गई है।

संयुक्त राष्ट्र ने सईद को आतंकवादी घोषित किया था और अमेरिका ने उसपर एक करोड़ डॉलर के इनाम की घोषणा की थी। उसे आतंकी कृत्यों के लिए वित्तीय मदद उपलबध कराने के मामले में पिछले साल 17 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था।

पाकिस्तान में इस साल हाफिज सईद को चौथी बार सजा सुनाई गई है। हाफिज सईद इस समय लाहौर में एक और टेरर फंडिंग मामले में 5 साल की सजा काट रहा है। पाकिस्तान की आतंकवाद रोधी अदालत ने आतंकी कृत्यों के लिए वित्तीय मदद उपलब्ध कराने के दो मामलों में उसे इस साल फरवरी में 11 साल कैद की सजा सुनाई थी। वह लाहौर की उच्च सुरक्षा वाली कोट लखपत जेल में बंद है।

अदालत के एक अधिकारी ने पीटीआई से कहा, ‘‘लाहौर स्थित आतंकवाद रोधी अदालत ने बृहस्पतिवार को जमात उद दावा के सरगना सईद सहित इसके चार नेताओं को दो और मामलों में सजा सुनाई।’’

सईद और उसके दो साथियों-जफर इकबाल तथा याहया मुजाहिद को 10-10 साल कैद की सजा सुनाई गई है, जबकि उसके साले अब्दुल रहमान मक्की को छह महीने कैद की सजा सुनाई गई है।

अधिकारी ने कहा, ”एटीसी कोर्ट नंबर-1 के जज अरशद हुसैन भुट्टा ने काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट द्वारा दायर मामले संख्या 16/19 और 25/19 की सुनवाई की, जिसमें नसीरुद्दीन नैय्यर और मोहम्मद इमरान की गवाही के बयानों की जाँच के बाद फैसला सुनाया गया है।”

रिपोर्ट्स के मुताबिक, सईद पर आतंक वित्तपोषण, मनी लॉन्ड्रिंग, अवैध रूप से जमीन हड़पने समेत 29 मामले चल रहे हैं।

गौरतलब है कि मुंबई में 26 नवंबर 2008 को 10 आतंकियों ने दिलदहलाने वाले एक हमले को अंजाम दिया था, जिसमें 160 से ज्यादा लोगों की मौत हुई और 300 से ज्यादा घायल हुए। आतंकियों ने रेलवे स्टेशन, ताज और ट्राइडेंड होटल समेत कई इलाकों को निशाना बनाया था। इस हमले ने भारत के साथ-साथ विदेशी देशों के खून भी खौला दिए थे। क्योंकि हमले में दर्जनों विदेशी नागरिक भी मारे गए थे।

बता दें इस खौफनाक हमले के पीछे का मास्टरमाइंड भी खूंखार आतंकी हाफिज सईद ही था। जाँच पड़ताल के दौरान सुरक्षा एजेंसियों को इस बात का पता चला था। जिस पर सख्त रवैया दिखाते हुए भारत ने पाकिस्तान को हाफिज और मुंबई हमले के बीच के कनेक्शन को लेकर कई सबूत भी सौंपे थे। लेकिन पाकिस्तान हर बार कार्रवाई करने से भागता रहा था। वहीं इस हमले के बाद अमेरिका ने हाफिज को ब्लैक लिस्ट कर दिया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जो बच्चे कागज के जहाज बनाते थे, वो आज रॉकेट बना रहे हैं’ : PM मोदी ने की 95 वीं बार ‘मन की बात’,...

प्रधानमंत्री ने 'मन की बात' के दौरान G-20 शिखर सम्मेलन की चर्चा की। उन्होंने कहा G-20 की अध्यक्षता करना देश के लिए गौरव की बात है।

‘भारत के सभी मुस्लिम पहले हिन्दू थे’: बोले नीतीश की पार्टी के MLC गुलाम गौस – दलितों-मुस्लिमों-गरीबों की बात करने वाले इकलौते PM हैं...

नीतीश कुमार की JDU के नेता और बिहार के विधान पार्षद गुलाम गौस ने पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ की। उन्होंने कहा कि सभी मुस्लिम पहले हिन्दू थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
235,696FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe