Friday, April 16, 2021
Home रिपोर्ट राष्ट्रीय सुरक्षा 2 को मारा, 80 घायल: POK में उठी आज़ादी की माँग, पाकिस्तानी सेना ने...

2 को मारा, 80 घायल: POK में उठी आज़ादी की माँग, पाकिस्तानी सेना ने बरपाया कहर

POK और गिलगित बाल्टिस्तान के लोग आज के दिन इकट्ठे होकर अपना विरोध प्रदर्शन करते हैं। इस साल पुलिस ने शांतिपूर्ण प्रदर्शनकर्ताओं के ऊपर न केवल आँसू गैस से हमला कर दिया, बल्कि लाठीचार्ज भी किया।

पाकिस्तान ने अब भारत के बाद अपनी खुद की गुलामी में पड़े पाकिस्तान ऑक्युपाइड कश्मीर (POK) में भी हिंसा और दमन का चक्र शुरू कर दिया है। POK के मुज़फ़्फ़राबाद में पाकिस्तान के अवैध कब्जे के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शन पर पाकिस्तान के सशस्त्र सुरक्षा बलों ने भयंकर हिंसा की है। दो लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है, और 80 लोग घायल हो गए हैं। गौरतलब है कि POK में 22 अक्टूबर की तारीख को ‘काला दिवस’ (‘Black Day’) मनाया जाता है। उस ही तारीख को 1947 में पाकिस्तानी सेना ने महाराज हरी सिंह के जम्मू और कश्मीर राज्य पर हमला किया था।

पाकिस्तान से आजादी पाने के लिए POK में सक्रिय सभी राजनीतिक पार्टियों के गठबंधन All Independent Parties Alliance (AIPA) ने इस रैली का आयोजन किया गया था। इसका मकसद पाकिस्तान के अवैध कब्ज़े के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था।

POK और गिलगित बाल्टिस्तान के लोग आज के दिन इकट्ठे होकर अपना विरोध प्रदर्शन करते हैं। इस साल पुलिस ने शांतिपूर्ण प्रदर्शनकर्ताओं के ऊपर न केवल आँसू गैस से हमला कर दिया, बल्कि लाठीचार्ज भी किया।

और यह हमला किया भी उस समय गया जब पाकिस्तान का विदेश कार्यालय पत्रकारों और विदेशी राजनयिकों का एक प्रतिनिधिमंडल ले कर भारत के खिलाफ प्रोपेगंडा करने उन्हें POK के पास दौरे पर ले कर गया था।

इसके अलावा पाकिस्तान ने POK में आम जनता और नेताओं के अलावा पत्रकारों पर भी हमला किया और उनके साथ हिंसा की। मुज़फ़्फ़राबाद के प्रेस क्लब में Jammu Kashmir People’s National Alliance (JKPNA) नामक पार्टी मीडिया ब्रीफिंग कर रही थी। पुलिस ने उस पर भी हमला बोल कर लाठीचार्ज किया और पत्रकारों के साथ मारपीट करने के अलावा उनके रिकॉर्डिंग इक्विपमेंट भी तोड़ दिए।

इसके बाद बिफरे पत्रकारों ने भी पाकिस्तान के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

द प्रिंट की ‘ज्योति’ में केमिकल लोचा ही नहीं, हिसाब-किताब में भी कमजोर: अल्पज्ञान पर पहले भी करा चुकी हैं फजीहत

रेमेडिसविर पर 'ज्ञान' बघार फजीहत कराने वाली ज्योति मल्होत्रा मिलियन के फेर में भी पड़ चुकी हैं। उनके इस 'ज्ञान' के बचाव में द प्रिंट हास्यास्पद सफाई भी दे चुका है।

सुशांत सिंह राजपूत पर फेक न्यूज के लिए AajTak को ऑन एयर माँगनी पड़ेगी माफी, ₹1 लाख जुर्माना भी: NBSA ने खारिज की समीक्षा...

AajTak से 23 अप्रैल को शाम के 8 बजे बड़े-बड़े अक्षरों में लिख कर और बोल कर Live माफी माँगने को कहा गया है।

‘आरोग्य सेतु’ डाउनलोड करने की शर्त पर उमर खालिद को जमानत, पर जेल से बाहर ​नहीं निकल पाएगा दिल्ली के हिंदू विरोधी दंगों का...

दिल्ली दंगों से जुड़े एक मामले में उमर खालिद को जमानत मिल गई है। लेकिन फिलहाल वह जेल से बाहर नहीं निकल पाएगा। जाने क्यों?

कोरोना से जंग में मुकेश अंबानी ने गुजरात की रिफाइनरी का खोला दरवाजा, फ्री में महाराष्ट्र को दे रहे ऑक्सीजन

मुकेश अंबानी ने अपनी रिफाइनरी की ऑक्सीजन की सप्लाई अस्पतालों को मुफ्त में शुरू की है। महाराष्ट्र को 100 टन ऑक्सीजन की सप्लाई की जाएगी।

‘अब या तो गुस्ताख रहेंगे या हम, क्योंकि ये गर्दन नबी की अजमत के लिए है’: तहरीक फरोग-ए-इस्लाम की लिस्ट, नरसिंहानंद को बताया ‘वहशी’

मौलवियों ने कहा कि 'जेल भरो आंदोलन' के दौरान लाठी-गोलियाँ चलेंगी, लेकिन हिंदुस्तान की जेलें भर जाएंगी, क्योंकि सवाल नबी की अजमत का है।

चीन के लिए बैटिंग या 4200 करोड़ रुपए पर ध्यान: CM ठाकरे क्यों चाहते हैं कोरोना घोषित हो प्राकृतिक आपदा?

COVID19 यदि प्राकृतिक आपदा घोषित हो जाए तो स्टेट डिज़ैस्टर रिलीफ़ फंड में इकट्ठा हुए क़रीब 4200 करोड़ रुपए को खर्च करने का रास्ता खुल जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

बेटी के साथ रेप का बदला? पीड़ित पिता ने एक ही परिवार के 6 लोगों की लाश बिछा दी, 6 महीने के बच्चे को...

मृतकों के परिवार के जिस व्यक्ति पर रेप का आरोप है वह फरार है। पुलिस ने हत्या के आरोपित को हिरासत में ले लिया है।

छबड़ा में मुस्लिम भीड़ के सामने पुलिस भी थी बेबस: अब चारों ओर तबाही का मंजर, बिजली-पानी भी ठप

हिन्दुओं की दुकानों को निशाना बनाया गया। आँसू गैस के गोले दागे जाने पर हिंसक भीड़ ने पुलिस को ही दौड़ा-दौड़ा कर पीटा।

‘कल के कायर आज के मुस्लिम’: यति नरसिंहानंद को गाली देती भीड़ को हिन्दुओं ने ऐसे दिया जवाब

यमुनानगर में माइक लेकर भड़काऊ बयानबाजी करती भीड़ को पीछे हटना पड़ा। जानिए हिन्दू कार्यकर्ताओं ने कैसे किया प्रतिकार?

‘अब या तो गुस्ताख रहेंगे या हम, क्योंकि ये गर्दन नबी की अजमत के लिए है’: तहरीक फरोग-ए-इस्लाम की लिस्ट, नरसिंहानंद को बताया ‘वहशी’

मौलवियों ने कहा कि 'जेल भरो आंदोलन' के दौरान लाठी-गोलियाँ चलेंगी, लेकिन हिंदुस्तान की जेलें भर जाएंगी, क्योंकि सवाल नबी की अजमत का है।

जानी-मानी सिंगर की नाबालिग बेटी का 8 सालों तक यौन उत्पीड़न, 4 आरोपितों में से एक पादरी

हैदराबाद की एक नामी प्लेबैक सिंगर ने अपनी बेटी के यौन उत्पीड़न को लेकर चेन्नई में शिकायत दर्ज कराई है। चार आरोपितों में एक पादरी है।

थूको और उसी को चाटो… बिहार में दलित के साथ सवर्ण का अत्याचार: NDTV पत्रकार और साक्षी जोशी ने ऐसे फैलाई फेक न्यूज

सोशल मीडिया पर इस वीडियो के बारे में कहा जा रहा है कि बिहार में नीतीश कुमार के राज में एक दलित के साथ सवर्ण अत्याचार कर रहे।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,985FansLike
82,224FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe