Thursday, May 23, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयफ्रांस सहित भारत के खिलाफ जहर उगलने वाला मौलाना खादिम हुसैन रिज़वी हमेशा के...

फ्रांस सहित भारत के खिलाफ जहर उगलने वाला मौलाना खादिम हुसैन रिज़वी हमेशा के लिए खामोश: लाहौर में हुआ निधन

54 वर्षीय पाकिस्तान के विवादित मज़हबी नेता कई दिनों से बुखार से पीड़ित था, जिसके बाद पूर्वी शहर लाहौर के अस्पताल में उनकी मृत्यु हो गई। पार्टी के प्रवक्ता हमजा के अनुसार, टीएलपी प्रमुख को सांस लेने में कठिनाई महसूस हो रही थी और सोमवार से बुखार भी था।

इस्लामिक मज़हबी उपदेशक तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) के प्रमुख अल्लामा खादिम हुसैन रिज़वी का गुरुवार रात लाहौर में निधन हो गया। बता दें हाल ही में उसने फ्रांस को परमाणु हमले की धमकी दी थी।

रिपोर्ट के अनुसार, 54 वर्षीय पाकिस्तान के विवादित मज़हबी नेता कई दिनों से बुखार से पीड़ित था, जिसके बाद पूर्वी शहर लाहौर के अस्पताल में उनकी मृत्यु हो गई। पार्टी के प्रवक्ता हमजा के अनुसार, टीएलपी प्रमुख को सांस लेने में कठिनाई महसूस हो रही थी और सोमवार से बुखार भी था।

पाकिस्तान में ईशनिंदा के नाम पर अपराध करने वालों के पक्ष में खड़े होकर कई बार विवादों को जन्म दे चुका है। टीएलपी ने रिजवी के नेतृत्व में विभिन्न विरोध प्रदर्शनों में हिस्सा लिया था। जिसमें 2018 में टीएलपी ने पाकिस्तान में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा एक ईसाई महिला, आशिया बीबी को ईशनिंदा के आरोपों से बरी करने के बाद हुआ हिंसक विरोध प्रदर्शन भी शामिल है। उसने भारत को भी कई मौकों पर धमकी दी थी।

बता दें रिज़वी पाकिस्तान में बेहद ही लोकप्रिय नेता थे, खासकर पाकिस्तान के सबसे अधिक आबादी वाले प्रांत पंजाब में। खादिम रिज़वी 19 वीं शताब्दी के इस्लामिक धर्मशास्त्री इमाम अहमद रज़ा खान बरेलवी, बरेलवी संप्रदाय के संस्थापक थे। फ्रेंच व्यंग्य पत्रिका चार्ली हेब्दो द्वारा पैगंबर मोहम्मद के कार्टून के प्रकाशन को लेकर रिजवी में फ्रांस में काफी हिंसक विरोध प्रदर्शन किया था।

इतना ही नहीं इस्लामिक धर्मगुरु ने फ्रांसीसी उत्पादों के बहिष्कार का आह्वान और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से इस्लामाबाद से फ्रांसीसी राजदूत को वापस भेजने की माँग की थी। साथ ही फ्रांस के खिलाफ परमाणु हमले करने की धमकी भी दी थी।

एक यूजर ने सोशल मीडिया पर लिखा पंजाबी मुल्ला खादिम रिज़वी, पाकिस्तानी पंजाबी सेना के सशस्त्र बलों को फ्रांस पर ‘परमाणु बम’ छोड़ने के लिए कहता है। फ्रांस को फ्रांस और यूरोपीय संघ में रहने वाले पाकिस्तानी लोगों पर कड़ी नज़र रखनी चाहिए।

सिर्फ फ्रांस ही नहीं 2018 में पैगंबर मोहम्मद के अपमान को लेकर नीदरलैंड को भी परमाणु बम से उड़ाने की धमकी दी थी। नीदरलैंड को चेतावनी देते हुए रिज़वी ने कहा था कि अगर उसने पैगंबर मोहम्मद को चित्रित करने वाले कार्टून की एक प्रतियोगिता की अनुमति दी तो वह ‘परमाणु बम’ “इस धरती के चेहरे से हॉलैंड को मिटा देगा। तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान के संस्थापक ने कहा था, “अगर वे मुझे परमाणु बम देते हैं तो मैं हॉलैंड को धरती से हटा दूँगा।”

रिज़वी, जिनका जन्म 22 जून, 1966 को पंजाब के अटॉक जिले में हुआ था, ने अपनी इस्लामिक शिक्षा हिफ़्ज़ और झेलम मदरसे से प्राप्त की। इसके बाद उसने आगे की धार्मिक शिक्षा लाहौर में जामिया निज़ामिया रिज़विया संस्थान दरस-ए-निज़ामी से प्राप्त किया।

उसने पाकिस्तान के सख्त ईश निंदा कानूनों का विरोध करने वालों के खिलाफ विरोध के लिए 1 अगस्त 2015 को कट्टर इस्लामिक संगठन तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान की स्थापना की।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

SRH और KKR के मैच को दहलाने की थी साजिश… आतंकियों ने 38 बार की थी भारत की यात्रा, श्रीलंका में खाई फिदायीन हमले...

चेन्नई से ये चारों आतंकी इंडिगो एयरलाइंस की फ्लाइट से आए थे। इन चारों के टिकट एक ही PNR पर थे। यात्रियों की लिस्ट चेक की गई तो...

पश्चिम बंगाल में 2010 के बाद जारी हुए हैं जितने भी OBC सर्टिफिकेट, सभी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने कर दिया रद्द : ममता...

कलकत्ता हाई कोर्ट ने बुधवार 22 मई 2024 को पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार को बड़ा झटका दिया। हाईकोर्ट ने 2010 के बाद से अब तक जारी किए गए करीब 5 लाख ओबीसी सर्टिफिकेट रद्द कर दिए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -