Friday, July 19, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयसियालकोट से स्वात घूमने गया युवक, इस्लामी भीड़ ने पहले पीटा फिर आग में...

सियालकोट से स्वात घूमने गया युवक, इस्लामी भीड़ ने पहले पीटा फिर आग में झोंका: पाकिस्तान में ईशनिंदा के आरोप में एक और हत्या, थाने को भी फूँका

वीडियो में साफ दिख रहा है कि युवक का शव आग में जल रहा है और कट्टरपंथियों की भीड़ चारों ओर खड़े होकर खुशी से हल्ला कर रही है। आग में जूते फेंके जा रहे हैं। पीछे से सीटी मारने की आवाज आ रही है।

पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा में ईशनिंदा का आरोप लगाकर इस्लामी कट्टरपंथियों की हिंसक भीड़ ने एक शख्स की हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि उस पर कुरान के पन्ने जलाने का आरोप था। पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर थाने में बैठाया हुआ था, लेकिन कट्टरपंथियों को लगा कि कानूनी सजा उसके लिए कम है इसलिए भीड़ पहले थाने पहुँची, वहाँ उन्होंने हंगामा किया। इसके बाद आगजनी हुई फिर युवक को थाने से निकालकर भीड़ ने मारा, और आखिर में उसे उसी आग में झुलसने को झोंक दिया।

पुलिस ने इस मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि गुरुवार (20 जून) रात को खैबर पख्तूनख्वा के स्वात जिले के मद्यन इलाके में कुरान का अपमान करने वाले व्यक्ति की भीड़ ने हंगामे के बाद हत्या कर दी। घटना में 8 लोग घायल हो गए हैं।

स्वात के जिला पुलिस अधिकारी (DPO) जहीदुल्लाह ने बताया कि मरने वाला शख्स सियालकोट का रहने वाला है और शख्स पर आरोप था कि उसने पवित्र कुरान के कुछ पन्ने कथित तौर जलाए। शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने उसको हिरासत में लिया, लेकिन कुछ देर बाद भीड़ ने थाने को घेर लिया पुलिस ने भीड़ को काबू करने के लिए हवाई फायर भी किए।

पुलिस के मुताबिक भीड़ इतनी बड़ी तादाद में थी कि उन्हें काबू करना नामुमकिन था। इस दौरान भीड़ ने पुलिस स्टेशन पर पत्थरबाजी करते हुए उसमे आग लगाई और शख्स को लाठी-डंडों से पीटते हुए बाहर ले गई। शख्स के मौत के बाद भीड़ उसकी बॉडी को भी आग लगा दी।

बता दें कि पाकिस्तान की इस पूरी घटना की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इस वीडियो में साफ दिख रहा है कि युवक का शव आग में जल रहा है और कट्टरपंथियों की भीड़ चारों ओर खड़े होकर खुशी से हल्ला कर रही है। आग में जूते फेंके जा रहे हैं। पीछे से सीटी मारने की आवाज आ रही है।

लोग इस प्रकार से इस्लामी कट्टरपंथियों की क्रूरता देख ज्यादा हैरान नहीं हैं, ऐसा इसलिए क्योंकि ये पहला मामला नहीं है जब उन्होंने किसी को इतनी बर्बरता से मौत के घाट उतारा हो। मई के आखिर में ही पाकिस्तान के पूर्वी पंजाब इलाके में भीड़ ने एक ईसाई युवक को पीट पीटकर मार डाला था। फरवरी में भी भीड़ ने कुरान के अपमान के आरोप में एक मुस्लिम शख्स की हत्या कर दी थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -