Tuesday, May 21, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमस्जिद आए 13 साल के बच्चे को अपने बिस्तर पर ले गया 28 साल...

मस्जिद आए 13 साल के बच्चे को अपने बिस्तर पर ले गया 28 साल का युवक, मुँह दबाकर किया रेप: पीड़ित और कुकर्मी दोनों रमजान में कर रहे थे ‘एतकाफ’

एतकाफ के बारे में बता दें कि ये रमजान के महीने में मस्जिद में एकांत होकर दुआ नमाज करने की प्रक्रिया को कहते हैं जो पूरी तरह अल्लाह को समर्पित होती है। 13 साल का बच्चा इसी इबादत के लिए मस्जिद में गया था लेकिन वहाँ एतकाफ करने आए एक 28 साल के शख्स ने उसे अपना शिकार बना लिया।

पाकिस्तान में रमजान के महीने में मस्जिद के भीतर एक 13 साल के लड़के के साथ बलात्कार की घटना सामने आई है। घटना मुजफ्फरगढ़ के सनावान भूखी चौक स्थित मस्जिद की है। बच्चा मस्जिद में 10 दिन तक एतकाफ के लिए गया था, लेकिन इसी दौरान मस्जिद में एतकाफ के लिए आए 28 साल के अन्य शख्स ने उसके साथ रेप किया और उसके बाद वहाँ से फरार हो गया।

पुलिस के मुताबिक, मामले का खुलासा होने के बाद उन्होंने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं इस गिरफ्तारी की पुष्टि पाकिस्तानी राष्ट्रीय बाल अधिकार आयोग ने की है। आयोग ने कहा है कि आरोपित को सजा देकर इस मामले में पीड़ित को न्याय दिलाया जाएगा।

बताया जा रहा है कि मस्जिद में 13 साल का बच्चा रमजान के महीने में कुरान पढ़ना सीखने आया था लेकिन यहाँ 28 साल के अन्य शख्स की बुरी नजर उसपर पड़ी और ये घटना सामने आई। मस्जिद के इमाम का इस घटना पर कहना है कि आरोपित द्वारा उन्हें भी धमकी दी गई थी कि अगर उन्होंने कुछ कहा तो अंजाम भुगतना होगा।

वहीं पीड़ित ने बताया कि आरोपित उसे अपने बिस्तर पर लेकर गया था और उसके मुँह पर हाथ रखकर उसने उसका रेप किया ताकि वो कोई आवाज न कर सके। घटना के बाद आरोपित फरार हो गया लेकिन पुलिस ने पीड़ित के अब्बा की शिकायत पर केस दर्ज किया और पंजाब के कोट अड्डू इलाके से उसे गिरफ्तार किया। घटना के बाद बच्चे को अस्पताल भेजा गया था जहाँ उसे जरूरी उपचार दिया गया।

बता दें कि रमजान के महीने में आई इस खबर के बाद पाकिस्तान को इस घटना की वजह से थू-थू हो रही है। कहा जा रहा है पाकिस्तान ऐसा मुल्क है जहाँ मजहब के नाम पर मजहब का मजाक बनाया जाता है, मस्जिद जैसी जगहों पर छोटे बच्चे नहीं छोड़े जाते।

नोट: एतकाफ के बारे में बता दें कि ये रमजान के महीने में मस्जिद में एकांत होकर दुआ नमाज करने की प्रक्रिया को कहते हैं जो पूरी तरह अल्लाह को समर्पित होती है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

निजी प्रतिशोध के लिए हो रहा SC/ST एक्ट का इस्तेमाल: जानिए इलाहाबाद हाई कोर्ट को क्यों करनी पड़ी ये टिप्पणी, रद्द किया केस

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए SC/ST Act के झूठे आरोपों पर चिंता जताई है और इसे कानून प्रक्रिया का दुरुपयोग माना है।

‘हिन्दुओं को बदनाम करने के लिए बनाई फिल्म’: मलयालम सुपरस्टार ममूटी का ‘जिहादी’ कनेक्शन होने का दावा, ‘ममूक्का’ के बचाव में आए प्रतिबंधित SIMI...

मामला 2022 में रिलीज हुई फिल्म 'Puzhu' से जुड़ा है, जिसे ममूटी की होम प्रोडक्शन कंपनी 'Wayfarer Films' द्वारा बनाया गया था। फिल्म का डिस्ट्रीब्यूशन SonyLIV ने किया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -