Friday, July 30, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयइन्वेस्टमेंट कॉन्फ्रेंस में belly dance: सच में 'अद्भुत' है इमरान खान का नया पाकिस्तान

इन्वेस्टमेंट कॉन्फ्रेंस में belly dance: सच में ‘अद्भुत’ है इमरान खान का नया पाकिस्तान

पाकिस्तान द्वारा आयोजित इन्वेस्टमेंट कॉन्फ्रेंस के वीडियो वायरल हो रहे हैं, लोग बहुत चाव से देख रहे हैं। इसलिए नहीं कि पाकिस्तान को खरबों डॉलर की भीख मिल गई। बल्कि इसलिए कि...

पाकिस्तान द्वारा अज़रबैजान के बाकू में आयोजित इन्वेस्टमेंट कॉन्फ्रेंस के वीडियो वायरल हो रहे हैं और लोग बहुत चाव से देख रहे हैं। इसलिए नहीं कि इमरान खान ने कोई बहुत हैरतअंगेज़ बात कह दी, या पाकिस्तान को खरबों डॉलर की भीख मिल गई हो। बल्कि इसलिए कि लोगों को पाकिस्तान में पैसा लगाने के लिए हर तरीके से मनाने में नाकाम पाकिस्तान अब उन्हें belly dance से लुभाने की कोशिश कर रहा है!

Sarhad Chamber of Commerce ने किया था आयोजन

सरहद चैंबर ऑफ़ कॉमर्स नामक संगठन द्वारा आयोजित इस कॉन्फ्रेंस को लेकर वहाँ की स्तम्भकार और मानवाधिकार कार्यकर्ता गुल बुखारी ने ट्वीट कर कहा, “जब पाकिस्तान के General Doctrine मुख्य अर्थशास्त्री ने निवेशकों को लुभाने के लिए पाकिस्तान इन्वेस्टमेंट प्रमोशन कॉन्फ्रेंस, अज़रबैजान में बेली डांसरों का इस्तेमाल किया…”

सबसे मज़े की बात यह है कि इस इन्वेस्टमेंट कॉन्फ्रेंस का आयोजन खैबर पख्तूनख्वा के लिए किया गया था, जोकि पाकिस्तान का सबसे ज्यादा दहशतगर्दी और जिहाद से पीड़ित प्रान्त है। यह न केवल तालिबान के गढ़ों में से एक माना जाता है, बल्कि यहाँ कट्टरपंथी इस्लामी कायदों का हवाला देकर महिलाओं को तरह-तरह की बंदिशों में रखते हैं। यानी जैसे कपड़ों में नृत्यांगनाओं (बेली डांसरों) को नचा कर खैबर पख्तूनख्वा के लिए निवेश जुटाने की कोशिश कर रहा है पाकिस्तान, वैसे कपड़ों में वे लड़कियाँ अगर उसी प्रान्त में निकल जाएँ तो कठमुल्ले पहले उनका गैंगरेप कर उन्हें इस ‘हिमाकत’ की आधी सज़ा देंगे, फिर बाकी की सज़ा अल्लाह से लेने के लिए गला रेत कर ऊपर भेज देंगे।

कर्ज में डूबा बदहाल पाकिस्तान

पाकिस्तान पिछले कुछ समय से (अमेरिकी मदद बंद होने के बाद) कटोरा लेकर अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था के चौराहे पर है, लेकिन कोई खास मदद मिल नहीं रही है। IMF ने $6 अरब का कर्ज देने की घोषणा तो की है, लेकिन इसके बदले IMF की पाकिस्तानी अर्थव्यवस्था में दखलंदाज़ी बेहद बढ़ जाएगी। इसके अलावा संयुक्त अरब अमीरात ने उसे महज़ $30 लाख देकर टरका दिया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘2 से अधिक बच्चे तो छीन लें आरक्षण और वोटिंग का अधिकार’: UP के जनसंख्या नियंत्रण कानून के पक्ष में 97% लोग

जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर उत्तर प्रदेश विधि आयोग को मिले सुझाव में से ज्यादातर में सख्त कानून का समर्थन किया गया है।

रोज के ₹300, शराब के साथ शबाब भी: देह व्यापार का अड्डा बना टिकरी बॉर्डर, टेंट में नंगे पड़े रहते हैं ‘किसान’

किसान आंदोलन के नाम पर फर्जी किसान टीकरी बॉर्डर शराब और लड़कियों के साथ झाड़ियों के पीछे अय्याशी करते देखे जा सकते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,980FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe