Tuesday, August 9, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयUP के जंग बहादुर को पाकिस्तानी दोस्त ने मार डाला, सऊदी अरब से जन्माष्टमी...

UP के जंग बहादुर को पाकिस्तानी दोस्त ने मार डाला, सऊदी अरब से जन्माष्टमी पर आने के लिए परिजनों को किया था प्रॉमिस

मृतक जंग बहादुर के परिवार में बुजुर्ग माता-पिता के अलावा पत्नी, दो बेटे और एक बेटी है। पिता का कहना है कि वे साल 2020 में ही घर आना चाहते थे, लेकिन कोविड की वजह से नहीं आ सके।

नौकरी के सिलसिले में सऊदी अरब गए उत्तर प्रदेश के जगदीशपुर निवासी जंग बहादुर यादव की हत्या कर दी गई है। हत्या का आरोप सऊदी में ही रहने वाले एक पाकिस्तानी नागरिक पर है। यह पाकिस्तानी भी यादव का सहकर्मी था। घटना के बाद परिजनों ने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर शव को भारत मँगाने की विनती की है।

जगदीशपुर थाना क्षेत्र के वारिसगंज टांडा गाँव के निवासी राज नारायण यादव के 43 वर्षीय पुत्र जंग बहादुर यादव साल 2017 में नौकरी के सिलसिले में सऊदी अरब गए थे। वहाँ वे रियाद निवासी मलिक अल-दकतूर अब्दुल अजीज अल-बशर के यहाँ ड्राइवर की नौकरी करने लगे।

इसी बीच 6 जुलाई 2022 की रात को जंग बहादुर के साथ रहने वाले भारतीय अरविंद ने कुवैत में नौकरी करने वाले जंग बहादुर के भाई विनोद को फोन किया। फोन पर अरविंद ने बताया कि जंग बहादुर की हत्या कर दी गई है और हत्या करने वाला उनका ही एक पाकिस्तानी सहकर्मी है। इस खबर को सुनकर घर में कोहराम मच गया।

शुक्रवार (8 जुलाई 2022) को जंग बहादुर के पिता राज नारायण ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को पत्र लिखकर मामले की जानकारी दी। उन्होंने आरोपित पाकिस्तानी को सजा दिलाने और अपने बेटे के शव को जल्द से जल्द उन्हें दिलाने का आग्रह किया।

घटना की जानकारी मिलने के बाद स्थानीय अधिकारी पीड़ित परिवार से जाकर मिले और हर तरह का सहयोग दिलाने का भरोसा दिया। अमेठी के डीएम राकेश कुमार मिश्रा के अनुसार, इस संबंध में शासन से जुड़े सभी बड़े अफसरों को जानकारी देने के बाद विदेश मंत्रालय और सऊदी अरब स्थित भारतीय दूतावास को पत्र भेजा गया है।

मृतक जंग बहादुर के परिवार में बुजुर्ग माता-पिता के अलावा पत्नी, दो बेटे और एक बेटी है। पिता का कहना है कि वे साल 2020 में ही घर आना चाहते थे, लेकिन कोविड की वजह से नहीं आ सके।

हालाँकि, मौत से कुछ घंटों पहले यानी 6 जुलाई को सुबह जंग बहादुर ने अपने पिता राज नारायण व दोपहर बाद पुत्र सौरभ से बात कर जंग बहादुर ने जन्माष्टमी के दौरान घर आने की बात कही थी। जन्माष्टमी के पहले उनके परिजनों को उनकी मौत की खबर मिल गई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

डोनाल्ड ट्रंप के ‘खूबसूरत घर’ पर FBI की रेड: पूर्व राष्ट्रपति बोले- मेरी तिजोरी में भी सेंध मारी, दावा- व्हाइट हाउस से लेकर चले...

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप को लेकर कहा जा रहा है कि उन्होंने राष्ट्रपति भवन छोड़ते समय कुछ दस्तावेज अपने पास रख लिए थे। एफबीआई रेड में उन्हें ही ढूँढ रही थी।

मंदिर से लौट रहे हिन्दू परिवार पर हमला, महिलाओं से छेड़छाड़: Pak में जहाँ हुई थी हिन्दू कारोबारी की हत्या, वहाँ अब भी नहीं...

पाकिस्तान के सिंध के संघर में एक हिंदू परिवार पर रविवार शाम को मीरपुर मथेलो पुलिस थाने के भीतर लगभग एक दर्जन लोगों ने हमला बोल दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
212,463FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe