Sunday, July 14, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयनाखून उखाड़े, उंगली मरोड़ी, पसलियाँ तोड़ीं: PAK के हिंदूफोबिक पत्रकार की हत्या में नया...

नाखून उखाड़े, उंगली मरोड़ी, पसलियाँ तोड़ीं: PAK के हिंदूफोबिक पत्रकार की हत्या में नया खुलासा, मारने से पहले 3 घंटे किया गया प्रताड़ित

यह खुलासा पाकिस्तान के एक निजी टीवी एंकर ने अपने कार्यक्रम में किया। रिपोर्ट में बताया गया कि अरशद को मारने से पहले उनके नाखून उखाड़ दिए गए थे और उनकी पसलियाँ और उंगलियाँ तोड़ दी गई थीं। इसके बाद उन्हें वाहन से बाहर निकाल कर बहुत करीब से गोली मारी गई थी।

हिंदूघृणा फैलाने के लिए कुख्यात पाकिस्तान के पत्रकार अरशद शरीफ की केन्या की राजधानी नैरोबी में 23 अक्टूबर 2022 को हुई हत्या के बाद इस मामले में कुछ नए खुलासे हुए हैं। पहले उनकी पत्नी ने जहाँ दावा किया था कि अरशद को गोली मारी गई। वहीं अब पता चला है कि उन्हें गोली मारने से भी पहले 3 घंटे प्रताड़ित किया गया था।

बोल न्यूज के मुताबिक यह दावा पाकिस्तान के एक निजी टीवी एंकर ने अपने कार्यक्रम में किया। रिपोर्ट में बताया गया कि अरशद को मारने से पहले उनके नाखून उखाड़ दिए गए थे और उनकी पसलियाँ और उंगलियाँ तोड़ दी गई थीं। इसके बाद उन्हें वाहन से बाहर निकाल कर बहुत करीब से गोली मारी गई थी। कथिततौर पर हत्या की योजना पहले से ही बनाई गई थी।

डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक अपराध स्थल पर शरीफ का मोबाइल फोन और आई-पैड मौजूद नहीं था। हत्या की जाँच करने केन्या गई पाकिस्तान की टीम ने भी घटनास्थल पर मोबाइल फोन नहीं मिलने पर सवाल उठाए थे। टीम का मानना था कि शरीफ की हत्या के बाद संभवतः इसकी चोरी की गई होगी।

दूसरी ओर, पाकिस्तानी जाँचकर्ताओं ने केन्याई अधिकारियों से एक शूटिंग रेंज में मौजूद प्रशिक्षकों के नाम और संपर्क विवरण प्रदान करने के लिए कहा है, जहाँ पत्रकार अरशद शरीफ को हत्या से पहले आखिरी बार देखा गया था।

बताया जा रहा है कि शरीफ 23 अक्टूबर को रात करीब 8 बजे अपने मेजबान वकार अहमद के भाई खुर्रम के साथ नैरोबी के लिए रवाना हुए थे। एक घंटे बाद उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई। जाँच के दौरान अम्मोडम्प शूटिंग रेंज में लगभग 10 अमेरिकी प्रशिक्षकों की उपस्थिति का पता चलने के बाद हत्या पर विवाद और गहरा गया है।

CNN की रिपोर्ट के मुताबिक, गृहमंत्री राणा सनाउल्लाह ने संवाददाताओं से कहा कि पाकिस्तानी सरकार की ओर से केन्या की यात्रा करने वाले दो सदस्यीय का प्रारंभिक आँकलन यह था कि अरशद शरीफ टार्गेट किलिंग का शिकार हुआ है।

अरशद शरीफ पूर्व में एआरवाई न्यूज से जुड़े हुए थे और बाद में वह दुबई चले गए थे। पाकिस्तान में उनके ऊपर देशद्रोह का मुकदमा भी था। इसके अलावा भारत में वह अपने हिंदूविरोधी और मोदी विरोधी रुख के लिए भी जाने जाते थे। नीचे देख सकते हैं कि कैसे अरशद दिल्ली हिंदू विरोधी दंगों के समय हिंदूघृणा फैलाने में लगे हुए थे।

वह एक अन्य ट्वीट में वह किसी टीवी कार्यक्रम का वीडियो शेयर करते हैं,जहाँ एक प्रोफेसर पीएम मोदी के खिलाफ जहर उगल रहा है । वह कहता है कि मोदी अपनी हिंदुत्व की नीतियों के साथ दक्षिण एशिया के एक नए हिटलर के तौर पर उभर रहा है। ईसाइयों, पारसियों, यहूदियों, सिखों और मुस्लिमों के लिए भाजपा में कोई जगह नहीं है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

US में पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लगी गोली, हमलावर सहित 2 की मौत: PM मोदी ने जताया दुख, कहा- ‘राजनीति में हिंसा की...

गोलीबारी के दौरान सुरक्षाबलों ने हमलावर को मार गिराया। इस हमले में डोनाल्ड ट्रंप घायल हो गए और उनके कान से निकला खून उनके चेहरे पर दिखा।

छात्र झारखंड के, राष्ट्रगान बांग्लादेश-पाकिस्तान का, जनजातीय लड़कियों से ‘लव जिहाद’, फिर ‘लैंड जिहाद’: HC चिंतित, मरांडी ने की NIA जाँच की माँग

झारखंड में जनजातीय समाज की समस्या पर भाजपा विरोधी राजनीतिक दल भी चुप रहते हैं, जबकि वो खुद को पिछड़ों का रहनुमा कहते नहीं थकते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -