Tuesday, July 27, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयUSISPF को मोदी ने आत्मनिर्भर भारत के फायदे गिनाए, कहा- भारत दुनिया के लिए...

USISPF को मोदी ने आत्मनिर्भर भारत के फायदे गिनाए, कहा- भारत दुनिया के लिए निवेश का सबसे अच्छा केंद्र

31 अगस्त से शुरू हुए इस पाँच दिवसीय शिखर सम्मेलन की इस बार की थीम 'यूएस-इंडिया: नेविगेटिंग न्यू चैलेंजेज़' (US-India Navigating New Challenges) है। USISPF एक गैर-लाभकारी संगठन है, जो भारत और अमेरिका के बीच साझेदारी के लिए काम करता है। पीएम मोदी इस कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संबोधित कर रहे हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी आज भारत और अमेरिका के बीच साझेदारी के लिए कार्य करने वाले गैर लाभकारी संगठन ‘अमेरिका-भारत सामरिक साझेदारी फोरम’ (USISPF) के तीसरे वार्षिक नेतृत्व शिखर सम्मेलन को संबोधित कर रहे हैं।

31 अगस्त से शुरू हुए इस पाँच दिवसीय शिखर सम्मेलन की इस बार की थीम ‘यूएस-इंडिया: नेविगेटिंग न्यू चैलेंजेज़’ (US-India Navigating New Challenges) है। USISPF एक गैर-लाभकारी संगठन है, जो भारत और अमेरिका के बीच साझेदारी के लिए काम करता है। पीएम मोदी इस कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संबोधित कर रहे हैं।

बृहस्पतिवार (सितम्बर 03, 2020) शाम वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और CDS बिपिन रावत ने भी समिट को सम्बोधित किया। CDS रावत ने USSIPF के कार्यक्रम में भारत और चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद को लेकर कहा कि हमें ताजा हालात से निपटने की और आने वाले समय की चुनौतियों से निपटने की तैयारी करने की जरूरत है। इसके साथ ही CDS रावत ने पाकिस्तान को भी चेताते हुए कहा कि किसी भी तरह का दुस्साहस उसके लिए ठीक नहीं होगा।

प्रमुख बातें –

  1. USISPF विविधता से भरे लोगों को एक साथ लेकर आया था। इसका काम प्रशंसनीय है।
  2. जब 2020 शुरू हो रहा था तो किसी ने सोचा नहीं था कि ऐसी महामारी आएगी। जनवरी में हमारे पास कोरोना का 1 टेस्टिंग लैब था, अभी देशभर में 1600 टेस्टिंग लैब हैं। हमारे यहाँ डेथ रेट दुनियाभर के मुकाबले काफी कम है। हम अभी दुनिया के दूसरे सबसे बड़े पीपीई किट के निर्माता हैं।
  3. पूरे कोरोना पीरियड के दौरान लॉकडाउन के समय भारत सरकार का एक ही मकसद था – गरीबों की रक्षा करना। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना पूरे विश्व की सबसे बड़ी समर्थन प्रणाली है। इसके तहत लगभग 800 मिलियन लोगों को खाद्यान्न उपलब्ध करवाया गया।
  4. भारत में 80 करोड़ लोगों को फ्री में अनाज दिया जा रहा है। फ्री कुकिंग गैस 80 मिलियन लोगों को दिया जा रहा है।
  5. महामारी ने कई चीजों के प्रभावित किया है, लेकिन भारत के लोगों की आकांक्षाओं को यह प्रभावित नहीं कर सका है।
  6. वर्तमान स्थिति एक नई मानसिकता की माँग करती है। एक मानसिकता जिसका दृष्टिकोण विकास के लिए मानव केंद्रित हो।
  7. हालिया महीनों में काफी सारे सुधार हुए हैं। इनसे बिजनस को आसान बनाया है। विश्व के सबसे बड़ें हाउसिंग प्रोग्राम पर काम जारी है। रेल, रोड और एयर कनेक्टिविटी को बढ़ाया जा रहा है। इन्फ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में काफी काम हो रहा है।
  8. हम बेहतरीन फाइनेंसियल टेक्नॉलजी का इस्तेमाल लोगों तक बैंकिंग, क्रेडिट, डिजिटल पेमेंट और इंश्योरेंस की सुविधा पहुँचाने के लिए कर रहे हैं।
  9. इस महामारी ने दुनिया को दिखाया है कि ग्लोबल सप्लाई चैन को विकसित करने में केवल कॉस्ट ही नहीं बल्कि ट्रस्ट भी महत्वपूर्ण है।
  10. हमारा टैक्स सिस्टम पारदर्शी है। हमारा सिस्टम ईमानदार टैक्सपेयर्स को आगे बढ़ाया है। हमारा जीएसटी एकीकृत है।
  11. भारत अमेरिकी संबंध को और मजबूत करने पर जोर दे रहा है। हमने अपने बैंकिंग सिस्टम को मजबूत किया। आज दुनिया हम पर भरोसा कर रही है। भारत दुनिया के लिए निवेश का सबसे अच्छा केंद्र है।
  12. 1.3 अरब भारतीय ‘आत्मनिर्भर भारत’ के मिशन में जुटे हैं। ‘आत्मनिर्भर भारत’ लोकल और ग्लोबल के साथ मर्ज करता है।
  13. आगे का रास्ता पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर में अवसरों से भरा पड़ा है। इसमें कोर इकनॉनमिक सेक्टर और सोशल सेक्टर भी शामिल है। हाल ही में रेलवे, डिफेंस, स्पेस और अटॉमिक एनर्जी के क्षेत्र को खोला गया।
  14. भारत में चुनौतियों के लिए आपके पास एक सरकार है जो परिणाम देने में विश्वास रखती है जिसके लिए जीवन जीने में आसानी उतनी ही महत्वपूर्ण है जितना व्यवसाय करने में आसानी। आप एक युवा देश को देख रहे हैं जिसकी 65% आबादी 35 वर्ष से कम है।
  15. 2019 में भारत में FDI 20% बढ़ा, ऐसा ऐसे वक्त में हुआ जब दुनिया में इसमें फीसदी की गिरावट देखी गई है। यह हमारी FDI स्कीम की सफलता को दिखाता है

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

विधानसभा से मंत्री का ही वॉकआउट: छत्तीसगढ़ कॉन्ग्रेस की लड़ाई में नया मोड़, MLA ने कहा था- मेरी हत्या करा बनना चाहते हैं CM

अपनी ही सरकार के रवैये से आहत होकर छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री TS सिंह देव सदन से वॉकआउट कर गए। उन पर आदिवासी विधायक ने हत्या के प्रयास का आरोप लगाया था।

2020 में नक्सली हमलों की 665 घटनाएँ, 183 को उतार दिया मौत के घाट: वामपंथी आतंकवाद पर केंद्र ने जारी किए आँकड़े

केंद्र सरकार ने 2020 में हुई नक्सली घटनाओं को लेकर आँकड़े जारी किए हैं। 2020 में वामपंथी आतंकवाद की 665 घटनाएँ सामने आईं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,426FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe